यूपी में स्कूल खोलने पर निर्णय 15 के बाद: डॉ. दिनेश शर्मा


देश में कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच सियासी हलचल, खेल, मनोरंजन जगत की तमाम सुर्खियों से लेकर भारत-चीन तनाव और अन्‍य वैश्विक खबरों पर भी होगी हमारी नजर। चीनी सेना के साथ पूर्वी लद्दाख में जारी तनाव के बीच भारतीय सेना ने फील्ड कमांडर्स को निर्देश दिए हैं कि चीनी सेना को किसी भी कीमत पर घुसपैठ या अतिक्रमण करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। साथ ही यह भी निर्देश दिया गया है कि भारतीय क्षेत्र की रक्षा करते हुए सैनिकों को पूरी तरह से अनुशासन बनाए रखना चाहिए। चीनी सेना के साथ पूर्वी लद्दाख में जारी तनाव के बीच भारतीय सेना ने फील्ड कमांडर्स को निर्देश दिए हैं कि चीनी सेना को किसी भी कीमत पर घुसपैठ या अतिक्रमण करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।


अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 2021 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। उन्हें इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात  के बीच शांति में मदद करने के कुछ हफ्ते बाद इस पुरस्कार के लिए नामित किया गया है।


गाजियाबाद के नंदग्राम में उत्तर प्रदेश का पहला डिटेंशन सेंटर बनकर तैयार हो चुका है। इसमें अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों को रखा जाएगा।


केन्द्रीय औषधि नियामक ने फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका द्वारा ऑक्सफोर्ड कोविड-19 टीके का अन्य देशों में नैदानिक परीक्षण बंद किए जाने और टीके के ‘गंभीर प्रतिकूल प्रभावों की खबरों के संबंध में सूचना नहीं देने को लेकर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया  को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। ऐसी खबरें हैं कि ब्रिटेन में टीका परीक्षण में शामिल एक व्यक्ति पर इसके प्रतिकूल प्रभाव पड़ने के बाद कोविड-19 टीके का परीक्षण रोक दिया गया है, इसके बाद एसआईआई को यह कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इस टीके को ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किया जा रहा है।भारत के औषधि महानियंत्रक डॉक्टर वी.जी. सोमानी ने कारण बताओ नोटिस में सीरम इंस्टीट्यूट से पूछा है कि मरीजों की सुरक्षा की गारंटी होने तक, देश में टीके के दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण के लिए दी गयी अनुमति को निलंबित क्यों ना किया जाए। ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने केन्द्रीय लाइसेंसी प्राधिकार को अभी तक एस्ट्राजेनेका द्वारा अन्य देशों में टीके का परीक्षण निलंबित किए जाने की सूचना नहीं दी है और मरीजों पर इसके प्रतिकूल प्रभाव के संबंध में कोई रिपोर्ट भी नहीं सौंपी है। नोटिस में नई औषधि और नैदानिक परीक्षण नियम, 2019 के प्रावधान 30 के तहत सीरम इंस्टीट्यूट से पूछा गया है कि दो अगस्त को दी गयी परीक्षण की मंजूरी को मरीजों की सुरक्षा तय होने तक स्थगित क्यों ना कर दिया जाए। डीजीसीआई ने तत्काल जवाब तलब करते हुए कहा, ‘जवाब नहीं मिलने पर यह माना जाएगा कि आपके पास कहने को कुछ भी नहीं है और फिर आपके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। कारण बताओ नोटिस में नियामक ने यह भी कहा है कि जिन भी देशों में नैदानिक परीक्षण चल रहा था, उन्हें रोक दिया गया है। टीके का परीक्षण अमेरिका, ब्रिटेन, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका में भी चल रहा था। डीसीजीआई द्वारा जारी कारण बताओ नोटिस के संबंध में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने एक बयान में कहा है, ‘हम डीसीजीआई के निर्देशानुसार काम कर रहे हैं और अभी तक हमसे परीक्षण रोकने को नहीं कहा गया है। अगर डीसीजीआई को कोई सुरक्षा संबंधी चिंता है तो हम उनके निर्देशों का अनुसरण करेंगे और मानक प्रक्रिया का पालन करेंगे।नियामक ने पिछले महीने पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट को कोरोना वायरस संक्रमण के टीके के दूसरे और तीसरे चरण के मानव क्लिनिकल परीक्षण की अनुमति दी थी। ब्रिटिश-स्वीडिश बायोफार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने टीके का उत्पादन करने के लिए ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के साथ करार किया है और उसने परीक्षण को रोकने की वजह बतायी है कि यह ‘अनजान बीमारी’होने के बाद की सामान्य प्रक्रिया है।ऑक्सफोर्ड टीके के उत्पादन के लिए एस्ट्राजेनेका के साथ करार करने वाले सीरम इंस्टीट्यूट ने आज दिन में कहा था कि वह भारत में परीक्षण जारी रखेगी। एस्ट्राजेनेका द्वारा ब्रिटेन में परीक्षण रोके जाने के संबंध में सीरम इंस्टीट्यूट ने अपने बयान में कहा, ‘हमें ब्रिटेन में हो रहे परीक्षणों पर ज्यादा टिप्पणी नहीं कर सकते हैं, लेकिन उन्हें समीक्षा के लिए फिलहाल रोक दिया गया है और आशा है कि वह जल्दी शुरू होंगे।’बयान में कहा गया है, ‘जहां तक बात भारत में परीक्षण की है, यह जारी है और हमें अभी तक कोई दिक्कत नहीं आई है।’


अगले 24 घंटों के दौरान केरल, दक्षिणी-आंतरिक कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र, ओडिशा, असम, मेघालय और नागालैंड में मध्यम से भारी बारिश जारी रहने के आसार हैं। बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, झारखंड, मध्य प्रदेश के पूर्वी और दक्षिणी भागों, छत्तीसगढ़, दक्षिण-पूर्वी गुजरात, विदर्भ, तेलंगाना, रायलसीमा, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु और पूर्वोत्तर भारत के बाकी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान है।  पश्चिमी मध्य प्रदेश, उत्तराखंड समेत उत्तर-पश्चिम भारत में छिटपुट वर्षा का अनुमान है।


एलडीए के स्मृति अपार्टमेंट में फ्लैट खरीदने वाले लोग ठगा महसूस कर रहे हैं। सुविधाएं देना तो दूर नौ वर्ष बीतने के बाद भी एलडीए लोगों के फ्लैट का कब्जा नहीं दे पा रहा है।


अनलॉक में रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेनें चलाने जा रहा है। 12 सितंबर से चलने वाली ट्रेनों में टिकटों की बुकिंग गुरुवार यानी 10 सितंबर की सुबह आठ बजे से शुरू होगी।


सपा शासनकाल में 2012 से 2017 के बीच सहकारिता विभाग की संस्थाओं में हुई भर्तियों का पूरा कच्चा चिट्ठा जल्द खुलेगा। एसआईटी ने अब सभी भर्तियों की विस्तृत जांच शुरू कर दी है


उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने तैयारी शुरू कर दी है।


यूपी में स्कूल खोलने पर निर्णय 15 के बाद: डॉ. दिनेश शर्मा यूपी में स्कूलों को परामर्श के लिए खोलने पर निर्णय 15 सितम्बर के बाद लिया जाएगा। यह जानकारी उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने दी है।


यूपी में लॉकडाउन को पूरी तरह से खत्म करने के बाद अब क्लास 9 से 12 तक के स्कूल खोलने की तैयारी है। केंद्र सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन्स और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) को ध्यान में रखकर स्कूल खोले जाएंगे। हालांकि इस पर आखिरी फैसला 15 सितंबर के बाद लिया जाएगा।यूपी के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थितियों में काफी फर्क हैं। हम 15 सितंबर तक स्थिति पर नजर रखेंगे और इसके बाद ही निर्णय लेंगे कि स्कूल खोले जाएंगे या नहीं। बता दें कि गृह मंत्रालय ने 21 सितंबर से शर्तों के साथ कुछ उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने की अनुमति दी है। अभी प्रदेश में ऑनलाइन व वर्चुअल कक्षाएं चल रही हैं। माध्यमिक शिक्षा विभाग कक्षा 10 व 12 के लिए दूरदर्शन यूपी और कक्षा 9 व 11 के लिए स्वयंप्रभा चैनल के माध्यम से कक्षाएं चला रहा है और हफ्ते कक्षाओं का टाइमटेबल तय किया जाता है। वहीं कक्षा 8 तक के लिए व्हाट्सएप ग्रुप व अन्य माध्यमों से कक्षाएं चलाई जा रही हैं। चूंकि अब यूपी में भी एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम चल रहा है तो इससे संबंधित शैक्षणिक सामग्री कई रूपों में है और उसे शिक्षकों से लेकर विद्यार्थियों तक को बढ़ाया जा रहा है। स्कूल, कालेजों, कौशल संस्थानों को सेनेटाइज करना जरूरी होगा, इसके बिना स्कूल नहीं खोले जा सकते हैं।जिस भी स्कूल या कॉलेज या संस्थान को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था उन्हें विशेष सावधानी बरतनी होगी। उन्हें पूरी तरह से सेनेटाइज करके यह सुनिश्चित करना होगा कि संस्थान संक्रमण रहित हो गया है। स्कूलों में 21 सितंबर के बाद सिर्फ 9-12 के छात्रों को शिक्षक से सलाह लेने के लिए स्वेच्छा से जाने की अनुमति है। लेकिन इसके लिए अभिभावकों की लिखित अनुमति होनी चाहिए। जबकि 50 फीसदी शिक्षकों एवं अन्य स्टाफ को स्कूलों में जाने की अनुमति दी गई है। बीमारी कार्मिकों एवं गर्भवती महिला कार्मिकों को जाने की मनाही है।स्कूलों में शिक्षक वहीं से आनलाइन कक्षाएं शुरू कर सकेंगे। इस दौरान यदि कुछ छात्र चाहें तो वहां बैठकर भी पढ़ सकते हैं। स्वेच्छा से पढ़ने के इच्छुक छात्रों को शिक्षक अलग-अलग टाइम स्लाट दे सकते हैं। छात्रों, शिक्षकों के बीच नोटबुक, पेन, पेंसिल आदि की शेयरिंग नहीं की जाएगी। स्कूलों में प्रार्थनाएं, खेलकूद आदि कार्यक्रम नहीं होंगे। स्कूलों कालेजों में स्वीमिंग पूल आदि भीबंद रहेंगे। सभी शिक्षण संस्थानों को हेल्पलाइन नंबर वह स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों के नंबर भी प्रदर्शित करने होगें। आरोग्य सेतु एप की बाबत कहा गया है कि जहां तक संभव हो सके, यह फोन में होना चाहिए। थूकने पर सख्त पाबंदी होगी। कंटेनमेंट जोन के बाहर स्थित स्कूल और शिक्षण संस्थानों को ही खुलने की अनुमति होगी। इस प्रकार जो कार्मिक या छात्र कंटेनमेंट जोन के भीतर रह रहे होंगे, उन्हें स्कूल या कालेज आने की अनुमति नहीं है।सभी संस्थानों में एक आइसोलेशन रूम भी बनाना होगा जहां जरूरत पड़ने पर संभावित मरीज को रखा जा सके।स्कूल कोलेजों को मास्क, सेनेटाइजर आदि का भी पर्याप्त इंतजाम करना होगा।



China starts fresh build up north of Pangong Lake


HC asks BMC to stop demolition work at Kangana's bungalow


Since Day 1 of Corona crisis, govt tried to help the poor: PM


Rhea Chakraborty shifted from NCB office to Byculla jail


Subramanian Swamy's ultimatum to Nadda: Sack Malviya by Thursday


Delhi govt rules out another lockdown; Says economy can't be 'shut for eternity'


HM Amit Shah praises 'PM SVANidhi' scheme


Serum Institute gets DCGI notice over Oxford COVID-19 vaccine trial suspension by AstraZeneca abroad


Rhea Chakraborty claims being coerced into confession


Rhea Chakraborty moves court again to seek bail


Rafale jets to be formally inducted into IAF on Thursday


Kangana to Uddhav Thackeray: Today my home is broken, tomorrow your ego will be broken


Kangana Ranaut back home amid high drama at Mumbai airport


Railway's freight revenue may recover from COVID effect in 5 months, passenger revenue in 9: study


Lockdown not an attack on coronavirus, but on poor: Rahul


 


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप