100 सालों में चीन की दशा और दिशा दोनों बदली



विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ने कहा है कि सितंबर तक दुनिया के प्रत्येक देश की 10 प्रतिशत आबादी को कोरोना टीका लगाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि महामारी पर नियंत्रण करने के लिए ऐसा करना जरूरी है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत आज मुस्लिम राष्ट्रीय मंच को संबोधित करेंगे।

डॉ. रेड्डी प्रयोगशाला ने कहा है कि सरकार स्पूतनिक लाइट पर रूस के सेफ्टी डाटा को स्वीकार करेगी। इसके तीसरे चरण के परीक्षण की जरूरत नहीं है।

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में गवाह बनने के बाद नीरव मोदी की बहन पूर्वी मोदी ने ईडी को सौंपे साढ़े 17 करोड़ रुपये। जांच अधिकारियों के मुताबिक, पूर्वी और उनके पति मैनक मेहता को मामले में 'माफी' दी गई है। शर्तों के तहत, मामले से संबंधित जानकारी का पूरा और सही खुलासा करना होगा।

टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च का दावा, मुंबई के 80 प्रतिशत लोग कोरोना से संक्रमित होकर ठीक हुए। संभावित तीसरी लहर के शहर में चरम पर पहुंचने का खतरा कम। दिल्ली और बेंगलुरु की तुलना में कोरोना की दूसरी लहर का असर मुंबई पर कम देखने को मिला है।

सिटीज़नशिप कानून के विरोध को लेकर जेल भेजे गए असम के नेता अखिल गोगाई करीब दो साल बाद रिहा। नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध करने के बाद लगा था राजद्रोह और हिंसा भड़काने का आरोप। हिंसक प्रदर्शनों में कथित भूमिका के लिए दिसंबर 2019 में किया गया था गिरफ्तार।

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और उत्तरी राजस्थान में अगले दो दिन तक भीषण लू चलने की चेतावनी। मौसम विभाग ने कहा, पाकिस्तान और उत्तर पश्चिमी भारत की ओर से गर्म हवाएं चलने के कारण बढ़ सकती है परेशानी। वहीं, बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में तेज गरज और चमक की संभावना।

1 जुलाई से पूरे भारत में अमूल दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी। अमूल दूध के सभी ब्रैंड्स पर लागू होंगी नई कीमतें।

दिल्ली सरकार ने कोरोना महामारी के दौर में गुरुवार को आदेश दिया कि राजधानी के निजी स्कूलों  को अपनी फीस में 15% की कटौती करनी होगी।

नीतीश सरकार के मंत्री मदन सहनी के इस्तीफे के ऐलान के बाद बिहार में सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सीएम में निशाना साधा है।

बहुजन समाज पार्टी (BSP) अध्यक्ष मायावती ने देश में बेरोजगारी के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ ही लंबे अरसे तक शासन करने वाली कांग्रेस को भी बराबर का जिम्मेदार करार दिया है।मायावती ने भाजपा-कांग्रेस पर कसा तंज, बेरोजगारी के लिए बताया जिम्मेदार.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि भारत में अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुन्दजई का एक भारतीय चिकित्सक के साथ सुखद अनुभव भारत-अफगानिस्तान के रिश्तों की महक है। मोदी ने यह बात मामुन्दजई के हिन्दी में किए गए एक ट्वीट के जवाब में कही, जिसमें उन्होंने अपने अनुभव को साझा करते हुए भारत और भारतीयों की प्रशंसा की। दरअसल, मामुन्दजई कुछ दिन पहले एक चिकित्सक के पास इलाज कराने गए थे। चिकित्सक को जब यह पता चला कि मरीज भारत में अफगानिस्तान के राजदूत हैं तो उन्होंने फीस नहीं ली। ट्विटर पर अपना अनुभव साझा करते हुए राजदूत ने बताया कि जब उन्होंने इसका कारण पूछा तो उक्त चिकित्सक ने बताया कि वह अफगानिस्तान के लिए बहुत कुछ नहीं कर सकते इसलिए कम से कम एक भाई से फीस नहीं लूंगा। उन्होंने लिखा, आभार व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं थे। यह भारत है- प्यार, सम्मान, मूल्य और करुणा। आपके कारण मेरे दोस्त, अफगान थोड़ा कम रोते हैं, थोड़ा और मुस्कुराते हैं और बहुत अच्छा महसूस करते हैं।मामुन्दजई द्वारा बुधवार को किया गया ट्वीट जब वायरल हो गया तो बलकौर सिंह ढिल्लों नामक एक शख्स ने उन्हें अपने गांव हरिपुरा आने का न्योता दिया। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए अफगान राजदूत ने पूछा कि क्या यह हरिपुरा गुजरात के सूरत में है। ढिल्लों के मुताबिक उनका गांव हरिपुरा पंजाब की सीमा से लगे राजस्थान के हनुमानगढ़ में है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया और मामुन्दजई से कहा कि वह ढिल्लों के गांव हरिपुरा भी जाएं और गुजरात के सूरत स्थित हरिपुरा भी जाएं।उन्होंने कहा, गुजरात का हरिपुरा भी अपने आप में इतिहास समेटे हुए है। मेरे भारत के एक डॉक्टर के साथ का अपना जो अनुभव आपने साझा किया है, वह भारत-अफगानिस्तान के रिश्तों की महक है।गुजरात के हरिपुरा का महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथ गहरा नाता है। सुभाष चंद्र बोस की अध्यक्षता में 19 से 22 फरवरी, 1938 के दौरान हरिपुरा में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की बैठक हुई थी, जो हरिपुरा अधिवेशन के नाम से मशहूर है। इसी हरिपुरा अधिवेशन में नेताजी को कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया था। प्रधानमंत्री के ट्वीट के जवाब में मामुन्दजई ने लिखा, अच्छे दोस्त सितारों की तरह होते हैं, आप उन्हें हमेशा नहीं देखते, लेकिन आप जानते हैं कि वे हमेशा मौजूद रहते हैं। भारतीयों और अफगानों के संबंधों की कहानी। समय देने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद। यह इस पुरानी और गहरी दोस्ती का एक और उदाहरण है।

दिल्ली की एथिकल हैकर अदिति सिंह ने 20 साल की उम्र में जो कमाल किया जो शायद ही कोई सोच सकता है। उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट में बग ढ़ूंढ़ा, जिसके लिए उन्हें 22 लाख रुपए इनाम मिला।

मेरठ-गाजियाबाद-दिल्ली रैपिड रेल परियोजना वेस्ट यूपी के लिए बड़ी सौगात बनेगी। परियोजना को समय से पहले पूरा करने के लिए तेजी से काम किया जा रहा है।

यूपी के आजमगढ़ के सरकारी रिकॉर्ड में 'मृत' घोषित होने के बाद लाल बिहारी 'मृतक' अब अपनी 56 वर्षीय पत्नी कर्मी देवी से दोबारा शादी करने की योजना बना रहे हैं। सिर चकरा देने वाला मामला.

 राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉक्टरों की जमकर तारीफ की और कहा कि कोरोना में उनके द्वारा की गई सेवा के लिए मैं 130 करोड़ भारतीय की ओर से उन्हें धन्यवाद देता हूं।

टी सीरीज कंपनी के मालिक गुलशन कुमार हत्याकांड में बांबे हाईकोर्ट का अहम फैसला सामने आया है, इस फैसले में दाऊद इब्राहिम के सहयोगी रहे अब्दुल रऊफ की सजा बरकरार रखी है।.ताकि 'गुलशन कुमार' की चीखें 'अबू सलेम' सुन सके, शूटर ने हत्या के वक्त रखा था 'फोन 10 से 15 मिनट तक ऑन'

 जम्मू में ड्रोन अटैक को लेकर भारतीय सेना प्रमुख एमएन नरवणे ने कहा कि ड्रोन के आसानी से उपलब्ध होने से निश्चित तौर पर जटिलता और चुनौतियां बढ़ी हैं और हमने कुछ कदम उठाए हैं।

कोविड-19 वैक्सीन पर बिहार में सियासत तेज हो गई है। तेजस्वी, तेज प्रताप के टीका लगवाने के बाद, बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा कि मम्मी पापा को भी टीका लगवाएं।

यूरोपीय संघ के 'ग्रीन पास' मामले में भारत और ईयू के बीच बना गतिरोध खत्म होता दिख रहा है। भारत सरकार के दबाव के बाद यूरोपीय संघ के आठ देशों ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) की वैक्सीन कोविशील्ड को अपने यहां मंजूरी दे दी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की महात्वकांक्षी मुहिम डिजिटल इंडिया के लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत जारी है। डिजिटल इंडिया के लाभार्थियों से बातचीत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस योजना से देश आत्मनिर्भरता की राह पर तेजी से आगे बढ़ा है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गुरुवार को कहा कि केंद्र के 3 नए कृषि कानून किसानों की जिंदगी में क्रांतिकारी बदलाव लाएंगे और इनको वापस लेने का सवाल ही नहीं है। उन्होंने कहा कि किसान यूनियन इन कानूनों के अलावा किसी और प्रस्ताव को सामने लेकर आते हैं तो केंद्र सरकार बात करने के लिए तैयार है।तोमर ने ग्वालियर में मीडिया से बात करते हुए कहा, केंद्र के नए कृषि कानून किसानों की जिंदगी में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले हैं और इनको 30 वर्षों की मेहनत के बाद कृषि वैज्ञानिकों विशेषज्ञों ने तैयार किया है। इनको बनाने में केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकारों ने भी प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि इसके बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नए कृषि सुधार बिल लाए गए। तोमर ने कहा कि इन नए कृषि कानूनों के समर्थन में देश के अधिकांश किसान, संगठन और यूनियनें हैं। किसान यूनियन ने कुछ आपत्ति भी जताई तो भारत सरकार ने उनसे कई बार बात भी की। उन्होंने कहा, अब भी यदि कृषि कानूनों के प्रावधानों के अलावा कुछ और प्रस्ताव लेकर किसान यूनियन के नेता आते हैं तो सरकार हमेशा बात करने के लिए तैयार है।

बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोलने वाली पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बदली-बदली नजर रही हैं।  ममता ने PM मोदी को भेजे आम.

सुपर पावर बनने की कोई आधिकारिक परिभाषा नहीं है. हां जानकार जरूर कहते हैं कि जिस देश की सबसे शक्तिशाली सेना होगी, पूरी दुनिया में आर्थिक, कूटनीतिक और सांस्कृतिक रूप से जिस देश का प्रभाव होगा वही सुपर पावर कहलाएगा. चीन इस पर तेजी से आगे बढ़ रहा है.

  1 जुलाई 1921 कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (Communist Party of China) की स्थापना हुई थी, आज उसके सौ साल पूरे हो गए. चीन (China) की पार्टी दुनिया की सबसे बड़ी दूसरे नंबर की पार्टी है. पहले नंबर पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) आज भी काबिज है. चीन की कम्युनिस्ट पार्टी दावा करती है कि चीन में उसके 9 करोड़ 19 लाख मेंबर हैं. इन 100 सालों में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना की सरकारों ने चीन की दशा और दिशा दोनों बदल दी. आज चीन की यह स्थिति है कि वह दुनिया में सुपर पावर (Super Power) अमेरिका (America) को कड़ी चुनौती देता है. एक वक्त था जब चीन भुखमरी का शिकार था और आज एक वक्त है जब चीन पूरी दुनिया में कर्ज बांट रहा है. इस बदलाव के पीछे बड़ी कहानी है, जो माओ के औद्योगिक क्रांति से शुरू होती है. इस क्रांति ने चीन को एक नया रूप दिया उसे ऐसा देश बनाया जो व्यापारिक रूप से मजबूत और आत्मनिर्भर है. इन 100 सालों में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना ने चीन को एक मजबूत देश बना कर दुनिया के सामने पेश किया है. जिसका लोहा अमेरिका जैसा सुपर पावर देश भी मानता है. आज दुनिया की सबसे बड़ी 500 कंपनियों में से 124 चाइनीज कंपनियां हैं. पिछले साल ही टॉप 500 बड़ी कंपनियों की लिस्ट निकाली गई थी, जिसमें चीन अमेरिका से कहीं ऊपर था. चीन की ताकत का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उसी के शहर वुहान से निकले कोरोना वायरस ने अमेरिका समेत पूरी दुनिया में तबाही मचाई. लेकिन किसी भी देश और संस्था की इतनी हिम्मत नहीं हुई कि वह चीन पर खुले तौर पर कार्रवाई कर सके.

चीन को लगता है कि यह सदी एशिया की है और उसकी अगुवाई चीन करेगा. यही वजह है कि वह अब सुपर पावर बनना चाहता है. यानि अमेरिका से उसका तमगा छीनना चाहता है. लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर यह सुपर पावर का तमगा होता क्या है? और चीन कैसे अमेरिका से इसे छीन लेगा? दरअसल सुपर पावर बनने की कोई आधिकारिक परिभाषा नहीं है. हां जानकार जरूर कहते हैं कि जिस देश की सबसे शक्तिशाली सेना होगी, पूरी दुनिया में आर्थिक, कूटनीतिक और सांस्कृतिक रूप से प्रभाव होगा वही सुपर पावर कहलाएगा. लेकिन आज अगर इस मामले में देखें तो अमेरिका चीन से कहीं आगे है. चीन ने जरूर पिछले 100 सालों में बहुत तरक्की की है. लेकिन आज भी वह अमेरिका से पीछे हैं. सैन्य ताकत पर अमेरिका सालाना 649 बिलियन डॉलर खर्च करता है. वहीं चीन 250 बिलियन डॉलर खर्च करता है. हालांकि चीन पिछले 24 सालों से यह खर्च बढ़ाता रहा है. अमेरिका की रणनीतिक साझेदारी भी पूरी दुनिया में चीन से बेहतर है. टेक्नोलॉजी के मामले में भी अमेरिका फिलहाल चीन से कहीं ऊपर है. इसलिए चीन को सुपर पावर बनने के लिए अभी और मेहनत और इंतजार करना होगा. चीन ने पूरी दुनिया में अपना वर्चस्व बनाया तो इसके पीछे जो एक सबसे बड़ी ताकत थी वह थी उसकी व्यापारिक रणनीति और खुद को मैन्युफैक्चरिंग हब बना लेना. आज पूरी दुनिया का सबसे ज्यादा सामान चीन में ही मैन्युफैक्चर होता है. टेक्नोलॉजी के मामले में भी चीन तेजी से ऊपर रहा है. 2019 में मोबाइल एप्स के जरिए चीन में कुल खर्च 54 लाख करोड़ डालर का था, यह खर्च अमेरिका के मुकाबले 551 गुना ज्यादा बढ़ा था. वहीं चीन की ओपन सोर्स ऑटोनॉमस व्हीकल प्लेटफॉर्म के 130 पार्टनर हैं. चीन की डीजेआई कंपनी दुनिया की ड्रोन बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है. चीन टेक्नोलॉजी में इतनी तेजी से आगे बढ़ना चाहता है कि वह 5G के साथ-साथ अब 6G की भी टेस्टिंग करना चाहता है. इसके लिए उसने 2020 में एक टेस्ट सेटेलाइट भी अंतरिक्ष में भेजा है. चीन अपनी कंपनियों को तेजी से प्रमोट कर रहा है जिसकी वजह से वह दुनिया में नए नए मुकाम हासिल कर रही हैं. चीन की 145 ऐसी कंपनियां हैं जिनकी वैल्यू 1 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक है. इनमें से 89 कंपनियां तो मात्र 4 सालों में खड़ी की गई हैं. चीन जितनी तेजी से अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत कर रहा है, उतनी ही तेजी से वह अपने लोगों को गरीबी के दलदल से भी निकाल रहा है. बीते 30 सालों में चीन ने लगभग 74 करोड़ लोगों को गरीबी के दलदल से बाहर निकाल दिया है. प्यू रिसर्च की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रहा मिडिल क्लास चीन में है. साल 1918 में चीन की आबादी में मिडिल क्लास का हिस्सा 3.1 फ़ीसदी था जो साल 2020 में बढ़कर 50.8 फ़ीसदी हो गया. वहीं अमेरिका की बात करें तो वहां लोग आज भी गरीबी से जूझ रहे हैं. अमेरिकी जनगणना ब्यूरो की रिपोर्ट के मुताबिक आज भी 8 में से एक अमेरिकी आधिकारिक रूप से गरीब है. जबकि इसी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अमेरिका में आज भी 397 लाख लोग गरीब हैं. इस गति से देखें तो अमेरिका को फिलहाल अपनी गरीबी दूर करने में लगभग 40 साल और लगेंगे. चीन उद्योग और तकनीक के क्षेत्र में अमेरिका से भी ज्यादा ताकतवर बनना चाहता है. इसलिए उसने एक लक्ष्य रखा है मेड इन चाइना 2025. उसने साल 2015 में यह लक्ष्य रखा था. चीन की सरकार ने 10 साल का एक विजन रखा था जिसके चलते वह साइबरपावर बनना चाहता है. चीन इस योजना के लिए काफी पैसा लगा रहा है. इसके साथ ही चीन ने अपने देश में नए व्यापारिक नियम बनाए हैं, जिससे किसी विदेशी कंपनी को अगर चीन के बाजार में आना है तो उसे किसी लोकल कंपनी से गठजोड़ करना ही होगा. इसके साथ ही चीन अब विदेशों की बड़ी कंपनियों को भी खरीदता जा रहा है. अभी कुछ वक्त पहले ही चीन की कंपनी गिली ने जर्मनी की मर्सिडीज बेंज कार बनाने वाली जर्मन कंपनी डेमलर में सबसे ज्यादा शेयर खरीद लिया. और उस कंपनी की सबसे बड़ी शेयरहोल्डर बन गई. दुनिया में अपने आईफोन के लिए लोकप्रिय कंपनी एप्पल भी चीन के स्थानीय कंपनी के साथ गठजोड़ करके अपना काम चला रही है. इसके साथ ही अब वह चीन में पहला डाटा स्टोरेज सेंटर खोलने जा रही है, जिससे चीनी सरकार को इस कंपनी से जुड़ी सारी अहम जानकारियां मिल जाएंगी.

 किसी भी देश को ताकतवर उसकी सेना बनाती है. अमेरिका आज सुपर पावर इसलिए है क्योंकि उसकी सैन्य ताकत दुनिया में सबसे बड़ी और शक्तिशाली है. लेकिन अब चीन अमेरिका को पीछे छोड़ने के लिए अपनी सेना में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को बढ़ा रहा है. इसके जरिए वह हथियारों के इस्तेमाल से दूर बैठे ही युद्ध को कंट्रोल कर सकता है. चीन अपने यहां कई आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मिसाइलों को विकसित कर रहा है जो बिना किसी मानवीय मदद के टारगेट का पता लगाकर उसे ध्वस्त कर देंगे. चीन का एक शहर है शेन्ज़ेन, जहां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करने वाली कंपनियों का एक मेला लगा है. यह कंपनियां हर सेक्टर के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करती हैं. बीबीसी हिंदी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन 2007 से ही एक ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित करने की कोशिश कर रहा है जो युद्ध के मैदान में तेज गति से और बेहद सटीक तरीके से फैसले लेने में निपुण होगा. जब ड्रोन दुनिया में आए तो अमेरिका ने अपनी तकनीक किसी भी देश को देने से साफ इनकार कर दिया. क्योंकि उसे मालूम था कि ड्रोन उसकी सेना की सबसे बड़ी शक्ति हैं. लेकिन चीन ने जैसे ही इस ड्रोन तकनीक का पता लगाया उसने पूरी दुनिया में ऐलान कर दिया कि वह अपनी ड्रोन तकनीक दूसरे देशों को भी निर्यात करेगा. चीनी उन देशों को यह ड्रोन तकनीक निर्यात कर रहा है जो या तो अमेरिका के करीब नहीं है या फिर अमेरिका से खफा रहते हैं. इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्ट्रैटेजिक स्टडीज के मुताबिक चीन ने अब तक मिश्र, नाइजीरिया, पाकिस्तान, सऊदी अरब और बर्मा को ड्रोन बेचे हैं. चीन ने पिछले 20 सालों में किसी भी देश से ज्यादा तेजी से न्यूक्लियर प्लांट बनाएं हैं. अभी तक अमेरिका न्यूक्लियर पावर में सबसे ऊपर है, लेकिन चीन उसे पीछे छोड़ने की होड़ में इतना आगे निकल चुका है कि उसने अपने देश में न्यूक्लियर प्लांट तेजी से बनाने शुरू कर दिए हैं. चीन में अब तक 400 वाट कैपेसिटी के न्यूक्लियर प्लांट हैं. जिससे वह सिर्फ अमेरिका और फ्रांस से पीछे है. लेकिन अगर इतनी ही तेजी से चीन न्यूक्लियर प्लांट बनाता गया तो वह दिन दूर नहीं जब वह अमेरिका और फ्रांस को भी पीछे छोड़ देगा.NIA ने ली लश्कर के गिरफ्तार आतंकियों के घर की तलाशी, कई आपराधिक दस्तावेज जब्त

WHO से मंजूर कोई भी Corona टीका लगवाने वालों को यात्रा की अनुमति दी जाए : संयुक्त राष्ट्र

राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने पंजाब के मोगा जिले में खालिस्तानी आतंकवादियों द्वारा पैसे की जबरन उगाही करने और धमकी देने के मामले में पंजाब और उत्तर प्रदेश के 9 ठिकानों पर गुरुवार को तलाशी ली। अधिकारी ने यह जानकारी दी।

प्रदेश में पिछले चौबीस घंटे में कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 से 4 और रोगियों की मौत होने के बाद मृतकों की कुल संख्या 22,601 हो गई है। वहीं 147 नए मामले आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 17,06,252 हो चुकी है।

नौकरी दिलाने का झांसा देकर हरियाणा के रोहतक के एक होटल में आधा दर्जन युवकों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म करने के आरोप में महिला थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया है। यह जानकारी पुलिस ने दी।

मुंबई के पास ठाणे से एक बार फिर एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक शिक्षक को उन्हीं के नंबर पर फोन आया और बताया गया कि उनका मृत्यु प्रमाण पत्र तैयार है।

विशेष पीएमएलए अदालत ने महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख से जुड़े 100 करोड़ रुपए के रिश्वत के आरोपों से संबंधित धन शोधन के मामले में उनके 2 सहायकों की प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत गुरुवार को 6 जुलाई तक बढ़ा दी।

उत्तरप्रदेश के नोएडा के थाना सेक्टर 24 पुलिस ने एक अंतर्राज्यीय वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए 5 बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके पास से एनसीआर से चोरी की गई 10 आलीशान कारें बरामद की हैं। पुलिस ने इसकी जानकारी दी।

 पिछले 24 घंटों के दौरान, बिहार के पूर्वी हिस्से, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, तटीय आंध्र प्रदेश और विदर्भ में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक स्थानों पर भारी बारिश हुई। दक्षिण गुजरात, कोंकण और गोवा, उत्तरी तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय ओडिशा, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, पूर्वी और उत्तरी मध्य प्रदेश, झारखंड के कुछ हिस्सों, गंगीय पश्चिम बंगाल और दक्षिणपूर्व राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश हुई। केरल, लक्षद्वीप, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों, आंतरिक तमिलनाडु और जम्मू-कश्मीर में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश के साथ एक दो स्थानों पर मध्यम बारिश हुई। दिल्ली के कुछ हिस्सों, उत्तरी राजस्थान और हरियाणा के 1-2 भागों में हीटवेव हुई। अगले 24 घंटों के दौरान, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम के कुछ हिस्सों, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, झारखंड के अलग-अलग हिस्सों, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। उत्तर पश्चिमी भारत से हीटवेव की स्थिति समाप्त होने की उम्मीद है। पूर्वोत्तर भारत, शेष बिहार, ओडिशा के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़, विदर्भ के अलग-अलग हिस्सों, तटीय कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, कोंकण और गोवा, मराठवाड़ा के अलग-अलग हिस्सों और दक्षिण और पूर्वी मध्य प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। . दक्षिण गुजरात, मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों, आंतरिक कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और लद्दाख में हल्की बारिश के साथ एक दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में धूल भरी आंधी और गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं।



Afghan ambassador's experience with Indian doctor carries fragrance of two nations' ties: PM Modi

Money laundering case: Court extends ED custody of Anil Deshmukh's aides till July 6

High GST collection shows resilience of Indian economy: Anurag Thakur

Edu sector incurred maximum loss due to COVID-19, need to reduce learning gap: Sisodia

States need to better plan their vax drives: Harsh Vardhan

Nirav Modi's sister sends Rs 17.25 crore from UK account to Indian govt: ED

IMD forecasts normal monsoon rainfall in July

Number of domestic passengers at Delhi airport increased by 3 times since mid-May

Covid vaccination gives priority to health and frontline workers, most vulnerable groups: Govt

Situation along LAC normal since February disengagement in Pangong areas: Army chief on Ladakh row

Covid: 4 more deaths, 91 new cases in Delhi; positivity rate 0.12 pc

WB Post-poll violence: SC seeks Centre's response for imposing President Rule in state

Centre ready to talk to protesting farmers, but not on repeal of three agri laws: Tomar

Economic activity recovering since late-May; rising cyber attacks a risk: Das

Situation in J&K saw marked improvement after Indo-Pak ceasefire in Feb: Army Chief


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप