'आपत्तिजनक टिप्पणी', पत्रकार गिरफ़्तार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सोशल मीडिया पर 'आपत्तिजनक टिप्पणी' करने के मामले में पत्रकार को गिरफ़्तार 


 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सोशल मीडिया पर 'आपत्तिजनक टिप्पणी' करने के मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक पत्रकार को गिरफ़्तार किया है. गिरफ़्तार किए गए पत्रकार का नाम प्रशांत कनौजिया है और उन्हें शनिवार को उनके दिल्ली स्थित घर से गिरफ़्तार करके लखनऊ ले जाया गया. प्रशांत की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने बीबीसी को बताया, "उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो अपलोड किया था जिसमें एक महिला ख़ुद को योगी आदित्यनाथ की प्रेमिका बता रही थी." इस वीडियो के साथ उन्होंने योगी का ज़िक्र करते हुए एक टिप्पणी की थी.इस सम्बन्ध में लखनऊ के हज़रतगंज थाने में एफ़आईआर दर्ज की गई है और प्रशांत कनौजिया पर आईटी एक्ट की धारा 66 और मानहानि की धारा (आईपीसी 500) लगाई गई है.


       एफ़आईआर की प्रति में लिखा है कि शिकायतकर्ता का आरोप है कि प्रशांत कनौजिया ने योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ 'आपत्तिजनक टिप्पणी' करके उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की है.एफ़आईआर के मुताबिक, पुलिस को शुक्रवार दोपहर 12.07 बजे घटना की सूचना मिली. एफ़आईआर में शिकायतकर्ता का नाम विकास कुमार दर्ज है. हमने विकास से बात की तो पता चला कि वह हज़रतगंज थाने में ही पुलिस इंस्पेक्टर हैं.हमने उनसे शिकायत दर्ज कराने का कारण पूछा तो उन्होंने कहा, "उन्होंने हमारे मुख्यमंत्री जी पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, इसलिए मैंने शिकायत की. बाकी जानकारी आप एसएचओ साहब से ले लीजिए."प्रशांत समाचार वेबसाइट 'द वायर' में काम कर चुके हैं और अब स्वतंत्र पत्रकारिता करते हैं.


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित

घर बैठे कोरोना की जांच की जा सकेगी- ICMR