विश्व कप में टीम इंडिया का सफर यहीं पर खत्म

    न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार


 भारतीय क्रिकेट टीम को वर्ल्ड कप के पहले सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार मिली और इसके साथ ही इस विश्व कप में टीम इंडिया का सफर यहीं पर खत्म हो गया। भारतीय टीम ने लीग स्टेज पर कमाल के प्रदर्शन के जरिए सेमीफाइनल में जगह बनाई थी लेकिन न्यूजीलैंड के हाथों इस तरह मिली हार के बाद टीम समेत तमाम भारतीय क्रिकेट फैंस भी निराश हो गए। 


          टीम इंडिया की इस हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली भी काफी दुखी नजर आए और उन्होंने टीम इंडिया की हार की वजह भी बताई। विराट ने मैच के बाद कहा कि टीम इंडिया ने पूरे टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन शुरुआत की 40 मिनट के खेल ने सब कुछ खत्म कर दिया और हमें ले डूबा। हमने दबाव में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। विराट ने कहा कि धोनी और जडेजा के बीच अच्छी साझेदारी हुई। उन्होंने कहा कि ये हमेशा ही बुरा लगता है कि जब आप पूरे टूर्नामेंट में अच्छा खेल रहे हैं और पांच मिनट में ही आपको टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा। उन्होंने कहा कि इस हार से हम दुखी जरूर हैं लेकिन निराश नहीं हैं। हमने पूरे टूर्नामेंट में अच्छा खेल दिखाया। 


  विराट ने कहा कि कीवी तेज गेंदबाजों ने पहले स्पेल में फर्क पैदा किया और हमारे बल्लेबाजों को जल्दी-जल्दी पवेलियन भेज दिया। रिषभ पंत के बारे में विराट ने कहा कि उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। वो काफी युवा हैं और इस तरह की गलतियां सब करते हैं। रिषभ काफी टैलेंटेड हैं और अपने अनुभव के साथ सीखेंगे। वहीं धोनी के बारे में विराट ने कहा कि उन्हें एक छोर पर खड़े रहना था और पारी को संभालनी थी। उन्हें यही रोल दिया गया था और उन्होंने अपना काम बखूबी किया। 


विराट ने कहा कि मैदान के बाहर बात करना आसान है, लेकिन मैदान पर हालात अलग तरह के होते हैं। इस हार से हम सबके लेंगे और भविष्य में और अच्छा करने की कोशिश करेंगे। हम जिस तरह के विश्व कप में खेले हैं उस पर हमें गर्व है। जसप्रीत ने काफी अच्छी गेंदबाजी की और जडेजा ने भी न्यूजीलैंड के खिलाफ कमाल का खेल दिखाया। जडेजा ने हमें मैच में वापसी दिलाई पर वो आउट हो गए और फिर हम वापसी नहीं कर पाए। 



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित

घर बैठे कोरोना की जांच की जा सकेगी- ICMR