तीन तलाक बिल पर खुशी मनाना पड़ा महंगा

 


फतेहपुर मे पति ने दिया 'तलाक'



        महिला के मुताबिक उसने पहले मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया, फिर बाद में उसके मायके पहुंच कर मां-बाप के सामने तीन बार तलाक बोल कर उसे तलाक दे दिया.
          उत्तर प्रदेश के फतेहपुर से रविवार को एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जहां एक मुस्लिम महिला को उसके शौहर ने इसलिए 'तलाक' दे दिया, क्योंकि वह राज्यसभा में तलाक बिल पास होने की खुशी मना रही थी. महिला के मुताबिक उसने पहले मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया, फिर बाद में उसके मायके पहुंच कर मां-बाप के सामने तीन बार तलाक बोल कर उसे तलाक दे दिया. पीड़ित महिला की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है.
मामला बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के जिगनी गांव का है. जानकारी के मुताबिक, जिगनी गांव की महिला मुफीदा खातून ने शनिवार को अपने शौहर शमशुद्दीन के खिलाफ एक मुकदमा दर्ज कराया है, जिसमें महिला ने आरोप लगाया है कि वह एक अगस्त को तीन तलाक से संबंधित बिल राज्यसभा में पास होने पर खुशी मना रही थी, जो उसके शौहर को नागवार गुजरा और उसने पहले मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया, फिर बाद में उसके मायके पहुंच कर मां-बाप के सामने तीन बार तलाक बोल कर उसे तलाक दे दिया है.
वहीं महिला की शिकायत पर शमशुद्दीन के खिलाफ मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) अधिनियम 2019 के साथ ही अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही है.


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप