वाराणसी मे जश्न

     


    प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र में जश्न


अनुच्छेद 370 के बेअसर किए जाने तथा जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख के पुनर्गठन का बिल राज्यसभा में आते ही, काशीवासी जगह-जगह ढोल नगाड़ों की थाप पर, दूसरे को गुलाल अबीर लगाकर अपनी खुशी का इजहार किया । लोगों का यह कहना था कि "कमल का फूल एक भूल" और अंधभक्त कहने वाले लोगों को यह सोचना चाहिए हमारे सांसद महोदय ने एक ऐतिहासिक भूल सुधार किया है। पिछले 70 वर्षों में ऐसा साहसिक कदम किसी अन्य के द्वारा नहीं उठाया गया। कुछ लोग ठेठ बनारसी अंदाज में यह भी करते पाए गए कि "गुरु ई हमरे सांसद के भाैकाल हौ"। वाराणसी के भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष श्री हंसराज विश्वकर्मा का कहना है कि " फैसले से कार्यकर्ताओं को गौरवान्वित होने का अवसर प्राप्त हुआ है। कार्यकर्ताओं की जोश एवं उत्साह में वृद्धि हुई है, वहीं इस फैसले ने विरोधियों की जुबान बंद कर दी है।" जहां काशीवासी एक दूसरे को इस ऐतिहासिक सफलता की बधाई दे रहे हैं दूसरी ओर प्रधानमंत्री जी और गृह मंत्री जी की भूरि- भूरी प्रशंसा करना



Bureau chief varanasi amit mishra


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप