पावन रामलीला का शुभारंभ

समस्तीपुर जिला  रोसड़ा अनुमंडल  के बटहा में रामलीला
        शाम होते ही  स्टेज रंग बिरंगी बल्बों की रोशनी में नहा उठता है एवं लाऊडस्पीकर से भजनों की लहरियाँ वातावरण में गूँज उठती हैं ।धीरे धीरे लोगों की भीड़ जुटने लगती है और फिर भगवान राम प्रकट होते हैं जिनकी पूजा एवं आरती के बाद  पावन रामलीला का शुभारंभ होता है जिसमें श्रद्धालु डूब जाते हैं । यह दृश्य जारी है विगत  दस दिनों से रोसड़ा प्रखंड के चकथात पूर्व पंचायत स्थित बटहा गाँव में ।शनिवार की रात जनकपुर में धनुष भंग का मंचन किया गया जिसमें जगतजननी माता जानकी का शुभ विवाह मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम के संग संपन्न हुआ ।मिथिला की परंपरागत रीति रिवाजों  एवं मधुर गीतों से लोग भावुक हो उठे । सुन्दरी देवी सरस्वती विधा मंदिर बटहा के आचार्य विजयव्रत कंठ ने  जानकारी देते हुए बताया कि बेगूसराय के  चेरियाबरियारपुर निवासी  प्रभु कुमार के द्वारा कुल पन्द्रह सदस्यीय रामलीला मंडली भारत की सांस्कृतिक विरासत के प्रचार प्रसार में सेवारत है किन्तु आधुनिक युग में इन्टरनेट एवं सैटेलाइट टीवी के कारण लोगों का रूझान इस ओर कम होता जा रहा है ।आर्थिक तंगी से जुझते इन कलाकारों की सुधी लेनेवालों की निरंतर कमी होती जा रही है जो चिंता की बात है फिर भी इनका योगदान सराहनीय है ।स्थानीय रामसेवक पासवान सुरेश पासवान ललन पासवान सहित कई लोगों द्वारा  आयोजन में सक्रिय हैं ।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप