अनशन

कर्पूरी बस पड़ाव समस्तीपुर के पुटपाथी दुकानदारों द्वारा बस पड़ाव परिसर में विगत 04 दिनों से "अनशन" जारी अनशन कारियों की सुधि लेने पहुंचे स्थानीय विधायक 



 समस्तीपुर के स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन दिनांक  09,1,2020 को अनशन स्थल पर पहुंचे और अनशन कर रहे विवेक कुमार , सुधीर कुमार , जगन्नाथ पांडेय तथा रामजतन राय से मिलकर उनका हाल-चाल लिया l  अनशन स्थल से ही उन्होंने समस्तीपुर के अनुमंडलाधिकारी तथा नगर परिषद् के कार्यपालक पदाधिकारी को फोन कर कहा कि विगत 04 दिनों से जारी अनशन के आलोक में अब तक अपेक्षित व न्यायोचित पहल नहीं किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण व निराशाजनक पहलू है l अब तक मेडिकल टीम अनशन स्थल पर नहीं पहुंची है और प्रशासन के द्वारा भी अब तक वार्ता की कोई पहल नहीं हुई है l जबकि दो अनशनकारियों का स्वास्थ्य बेहद खराब है l  विधायक ने अनुमंडलाधिकारी को बतलाया कि वर्ष 2014 में ही नगर परिषद् तथा बस पड़ाव के दुकानदारों के बीच एक लिखित समझौता हुआ था , जिसमे 03 माह के अंदर नक्शा बनाकर दुकानों का आवंटन करने पर सहमति हुई थी l लेकिन अब तक दुकानदारों को दुकान आवंटित नहीं किया गया l  बस पड़ाव के पास फुटपाथ पर किसी प्रकार छोटी से दुकान लगाकर ये गरीब लोग जीवन यापन कर रहे थे l लेकिन विगत 06 जनवरी को अतिक्रमण हटाने के नाम पर इन गरीबो के दुकानों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है l इसके विरोध में विगत 04 दिनों से बस पड़ाव परिसर में ही पीड़ित दुकानदारों के द्वारा "अनशन " जारी है l किन्तु अब तक अनशन समाप्त कराने हेतु प्रशासनिक पहल नहीं किया गया है l अनुमंडलाधिकारी ने माननीय विधायक को अपेक्षित व न्यायोचित पहल का भरोसा दिलाया l "अनशन स्थल " पर आयोजित सभा की अध्यक्षता युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष मनीष यादव तथा संचालन जिला राजद प्रवक्ता राकेश कुमार ठाकुर ने की l अपने सम्बोधन के क्रम में स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कहा कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर गरीब फुटपाथी दुकानदारो को उजाड़ा जाना न्यायोचित नहीं है l गरीब दुकानदारों को अब उन जगहों पर दुबारा दुकान लगाने से प्रशासन रोक रही है। जिससे उनके सामने रोजगार का संकट उत्पन्न हो गया है। कइयों का चूल्हा जलना मुश्किल हो गया है।      फुटपाथ पर अस्थाई ठेला व झोपड़ी में दुकान से गरीब दुकानदार अपना भरण पोषण करते थे । तमाम दुकानदार तो ऐसे हैं जो कई पीढ़ी से फुटपाथ पर ही दुकान लगा रहे हैं। उन्होंने जिला प्रशासन व नगर परिषद के अधिकारियों पर उन्हें प्रताड़ित करने का आरोप लगाया । उन्होंने कहा कि फुटपाथ दुकानदार का मामला समस्तीपुर सहित पूरे बिहार राज्य का गंभीर मामला है। सरकार फुटपाथ विक्रेता कानून (आजीविका और स्ट्रीट वेडिंग  का विनियमन का संरक्षण-एक्ट 2014) के तहत फुटपाथी दुकानदार को सुविधा देने की बात सिर्फ कागज पर करती है।      अतिक्रमण के नाम पर सैकड़ों परिवार की जीविका को छीन लिया गया है। अधिकारियों के द्वारा पथ विक्रेता जीविका संरक्षण और बिहार राज्य पथ विक्रय विनिमय फुटपाथ विक्रेता अधिनियम का उल्लंघन किया गया है। बिना किसी वैकल्पिक व्यवस्था के उन्हें रोजगार से अतिक्रमण के नाम पर उखाड़ फेका जाता है, जोे कानून का सरासर उल्लघन है। उन्होंने कहा कि पथ विक्रेता जीविका संरक्षण एवं रोजगार विनियमन अधिनियम 2014  के आलोक में सरकार एवं नगर परिषद्  रोजगार स्थल (वेंडिंग जोन) व्यवस्थित एवं सुनिश्चित करें, ताकि समस्तीपुर स्मार्ट टाउन  भी बने एवं फुटपाथी दुकानदार को भी शोषण से राहत मिले l  विधायक श्री शाहीन ने कहा कि  फुटपाथ विक्रेता  (जीविका संरक्षण और पथ विक्रय विनयमन) अधिनियमन 2014 के अध्याय 2 अनुभाग 1 (क) धारा ३ उपधारा 1, धारा 3.3, एवं अध्याय 10 अनुभाग 1(क) धारा 33 का पूर्णत: अनुपालन किया जाना चाहिए l 
धारा 3.3 के तहत फुटपाथ दुकानदारों को अतिक्रमण के नाम पर उजाड़ने पर अविलम्ब  रोक लगाया जाए तथा शीघ्र अतिशीघ्र सर्वेक्षण कर समस्तीपुर शहर के सभी फुटपाथ दुकानदारो का परिचय पत्र एवं विक्रय प्रमाण पत्र (वेंडिंग सर्टिफिकेट) निर्गत किया जाए l मौके पर जिला राजद प्रवक्ता राकेश कुमार ठाकुर , युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष मनीष यादव , नगर पार्षद घुनचुन यादव , पैक्स अध्यक्ष अशोक साह, पैक्स अध्यक्ष रंजीत कुमार , जाप नेता जे.के.यादव , राजद नेता विश्वनाथ राम, जितेन्द्र प्रसाद यादव , मनोज कुमार राय, समाजसेवी रंजीत कुमार रम्भू , बच्चा बाबू गिरी , अब्दुल खालिक आदि मौजूद थे l


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित

घर बैठे कोरोना की जांच की जा सकेगी- ICMR