कानपुर स्थित राजकीय बालिका गृह मामले में कार्रवाई


दुनियाभर में कोरोनावायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। दुनियाभर में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ के पार हो गई। कोरोना वर्ल्डो मीटर के अनुसार दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 10,000,578 हो चुकी है। चीन के वुहान से निकला यह वायरस दुनियाभर में कोहराम मचा रहा है। कोरोना वर्ल्डो मीटर के मुताबिक इस वायरस से दुनियाभर में 498,954 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 5,414,677 लोग इस वायरस से ठीक हो चुके हैं। दुनियाभर के वैज्ञानिक, अनुसंधान संस्थान कोरोनावायरस को खत्म करने वाली वैक्सीन की खोज में जुटे हुए हैं। इस वायरस के बारे में चीन ने पहली बार 31 दिसंबर 2019 को डब्ल्यूएचओ को जानकारी दी थी, तब चीन में सिर्फ 54 मामले थे।


भारत में 29 दिन में 4 लाख मामले : भारत में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 19,906 नए मामले आने के साथ ही देश में शनिवार तक कोरोनावायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या 528859 को पार कर चुकी है। गौरतलब है कि तेजी से और अधिक संख्या में हो रही जांच की पृष्ठभूमि में सिर्फ 39 दिन में देश में कोविड-19 के 4 लाख नए मामले सामने आए हैं। सिर्फ 6 दिन में कोविड-19 के एक लाख नए मामले आने पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि मरीजों के संक्रमण मुक्त होने की दर में भी कुछ वृद्धि हुई है और अब यह 58.13 प्रतिशत हो गई है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में 18,552 नए मामले आने के साथ ही देश में अभी तक कोरोनावायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 5,28859हो गई है वहीं इस अवधि में 410 लोग की संक्रमण से मौत हुई है। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 8 राज्यों- महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, तेलंगाना, गुजरात, उत्तर प्रदेश, आंध्रप्रदेश और पश्चिम बंगाल में देश के उपचाराधीन कोविड-19 मरीजों का 85.5 प्रतिशत है, वहीं संक्रमण से हुई मौतों का 87 प्रतिशत भी इन्हीं राज्यों से है। मंत्रालय ने बताया कि देश में अभी तक 16095 लोग इस जानलेवा वायरस के संक्रमण से मरे हैं। दुनिया में कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में अमेरिका, ब्राजील और रूस के बाद भारत चौथे स्थान पर आता है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक बार फिर अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित करेंगे। एलएसी पर चीन और भारत के बीच तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने  'Frankly Speaking' शो में महत्वपूर्ण बॉर्डर इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट को मंजूरी नहीं देने के लिए कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि एनडीए द्धारा इन लंबित परियोजनाओं को क्लियर करने का निर्णय चीन को परेशान करता है, उन्होंने आगे कहा कि इन परियोजनाओं से चीन को परेशान नहीं होना चाहिए क्योंकि सभी कार्य LAC के भारतीय पक्ष में हो रहे हैं।


राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए दक्षिण दिल्‍ली के छतरपुर इलाके में राधा स्वामी ब्यास परिसर में 10,000 से अधिक बिस्तरों की क्षमता वाला कोविड-19 केंद्र बनाया गया है, जहां तैयारियों का जायजा के लिए शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहुंचे



उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित राजकीय बालिका गृह मामले में राज्य सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी और संस्था की अधीक्षिका को निलंबित कर दिया है। निदेशक (महिला कल्याण) मनोज कुमार राय ने शनिवार को बताया कि कानपुर के स्वरूप नगर स्थित राजकीय बाल गृह (बालिका) में लापरवाही बरतने की वजह से उक्त कार्रवाई की गई है। वहीं प्रदेश सरकार की मंत्री स्वाति सिंह ने आरोप लगाया कि जो भी खबर चल रही है, जानबूझकर चलवाई गई है। विपक्ष सरकार की छवि खराब करना चाह रहा है। राय ने कहा कि बालगृह में रह रही बालिकाओं में से 57 बालिकाएं कोरोनावायरस से संक्रमित पाई गई थीं, जिन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शेष 114 बालिकाओं को कानपुर में ही अन्यत्र भेजकर पृथक-वास केन्द्र में रखा गया। उन्होंने कहा कि इसी क्रम में शासन एवं निदेशालय स्तर से दिए गए दिशानिर्देशों का पालन सुनिश्चित न कराए जाने, प्रिंट मीडिया, टीवी चैनलों और सोशल मीडिया में बालिकाओं के बारे में भ्रामक खबरें फैलाने पर समय से दुष्प्रचार का खंडन न करने, अपने पद के दायित्वों का यथोचित निर्वहन नाकरने तथा विभाग की छवि धूमिल करने के आरोप में जिला प्रोबेशन अधिकारी, कानपुर नगर को तथा संस्था प्रभारी मिथलेश पाल को संस्था में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु पर्याप्त सतर्कता नहीं बरतने के कारण निलंबित कर दिया गया है। राय ने बताया कि निलंबन की अवधि में दोनों को महिला कल्याण निदेशालय, लखनऊ से संबद्ध किया गया है। इस बीच महिला कल्याण मंत्री स्वाति सिंह ने शुक्रवार को कानपुर पहुंचकर महिला कल्याण विभाग के सभी गृह (संरक्षण गृहों) का निरीक्षण किया। स्वाति सिंह ने कहा कि जो भी खबर चल रही है, जानबूझकर चलवाई गई है। लोगों को गुमराह करने और सरकार की छवि खराब करने की जिन लोगों की मानसिकता है, कहीं न कहीं वो सारी चीजें सामने आ गई हैं। विपक्ष सरकार की छवि को खराब करना चाह रहा है। उन्होंने कहा कि रैंडम टेस्टिंग में एक बच्ची कोविड-19 से संक्रमित पाई गई। फिर दोबारा सबकी जांच की गई। जितने भी लोग पॉजिटिव आए, सबको इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया। बाकी को पृथक-वास केन्द्र भेजा।


 देश में कोरोना वायरस के गहराते संकट के बीच राजस्‍थान के भीलवाड़ा मॉडल की चर्चा पूरे देश में थी। राजस्‍थान के इस जिले में प्रशासन ने कुछ इस मुस्‍तैदी के साथ मोर्चा संभाला कि यह जिला कोरोना मुक्‍त हो गया। यहां दो डॉक्‍टर्स के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद 19 मार्च को ही बॉर्डर सील कर दिया गया और 3,000 टीमों का गठन कर 32 लाख लोगों तक पहुंच सुनिश्चित की गई। शादी में कोविड नियमों का उल्‍लंघन पड़ा भारी, 15 लोग निकले कोरोना पॉजिटिव, लगा 6.26 लाख का जुर्माना


वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के साथ सैन्‍य टकराव के बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख सेकटर में एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम की तैनाती की है। यह मिसाइल सिस्‍टम सतह से हवा में मार करने में सक्षम है। वास्‍तविक नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में चीनी लड़ाकू विमानों व हेलीकॉप्‍टर्स की गतिविधियों को देखते हुए भारत ने पूर्वी लद्दाख सेक्‍टर में इस मिसाइल सिस्‍टम की तैनाती की है।


असम में शनिवार को बाढ़ की स्थिति और गंभीर हो गई। राज्य में इसमें 2 और लोगों की मौत हुई है। बाढ़ का पानी राज्य के 21 जिलों में प्रवेश कर चुका है, जिससे 4.6 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। अधिकारियों ने कहा कि तिनसुकिया जिले में बागजान स्थित कुआं संख्या पांच से पिछले 32 दिनों से लगातार गैस का अनियंत्रित रिसाव हो रहा है। कुएं में 27 मई को एक विस्फोट होने के बाद आग लग गई थी और इसमें ऑयल इंडिया लिमिटेड के दो कर्मी मारे गए थे। कंपनी ने बताया कि बागजान में और इसके आसपास की सभी नदियों में जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। डांगोरी नदी उफान पर है और आग बुझाने के लिए कुएं के ऊपर लगाया गया पंप उसके पानी में डूब गया है।


असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की दैनिक बाढ़ रिपोर्ट के मुताबिक, गोवालपारा जिले के बालिजाना और मटिया में बाढ़ के पानी के कारण 2 लोगों की मौत हो गई। राज्य में अब तक कम से कम 16 लोगों की मौत हुई है। राज्य में धेमाजी सार्वधिक प्रभावित जिला है और इसके बाद तिनसुकिया, नलबाड़ी जिला भी बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। एएसडीएमए ने कहा कि धेमाजी, लखीमपुर, बिश्वनाथ, उदलगुड़ी, दरंग, बक्सा, नलबाड़ी, चिरांग, गोवालपारा, कामरूप, कोकराझार, बारपेटा, नगांव, गोलाघाट, जोरहाट, माजुली, शिवसागर, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया समेत अन्य जिलों में बाढ़ के कारण 4.6 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।, प्रशासन ने पिछले 24 घंटे के दौरान 3 जिले में 261 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। जिला विभागों ने 10 जिलों में 132 राहत शिविर और वितरण केंद्र स्थापित किए हैं, जहां 19,496 लोग रहे रहे हैं। एएसडीएमए ने कहा कि बारिश जारी रहने के कारण डिब्रूगढ़ शहर पिछले चार दिन से पानी में डूबा हुआ है। बाढ़ के कारण 37,313.46 हेक्टेयर क्षेत्र में लगी फसल को नुकसान पहुंचा है।


पाकिस्तान में कोरोना जांच का नाटक लगातार जारी है। इंग्लैंड दौरे पर रवाना होने से पहले खिलाड़ियों की कोरोना जांच के नतीजे बार बार बदल रहे हैं। शनिवार को पीसीबी द्वारा कराई गई जांच में पहले पॉजिटिव पाए गए 10 खिलाड़ियों में से 6 की जांच एक बार फिर निगेटिव आई है।


देशभर में मानसून इस बार निर्धारित सामान्य तिथि से 12 दिन पहले ही पहुंच गया, जिससे बेहतर कृषि उत्‍पादन की उम्‍मीद की जा रही है। केरल में मानसून जहां सबसे पहले पहुंचता है।


चीन के साथ तनातनी को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप के बीच राकांपा प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। '1962 में जो कुछ हुआ हम भूल नहीं सकते', राहुल गांधी के सवालों पर बोले शरद पवार.


राजीव गांधी फाउंडेशन इन दिनों चर्चा में है, चर्चा में होने के पीछे की वजह भी दिलचस्प है, जिस चीन को लेकर राहुल गांधी रोज सरकार से सवाल कर रहे हैं उसी चीन से डोनेशन लेने का आरोप लगा है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा कहते हैं कि 2005 से लेकर 2009 तक फाउंडेशन को चीनी दूतावास से दान मिला।


सरकार ने नई कर व्यवस्था के तहत कर्मचारियों को नियोक्ताओं से प्राप्त यात्रा भत्ते पर आयकर से छूट का दावा करने की सुविधा दे दी है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने इसके लिए आयकर नियमों में बदलाव किया है।


सीबीडीटी द्वारा किए गए संशोधन के बाद अब कर्मचारी कुछ चुनिंदा मामलों में आयकर से छूट का दावा कर सकते हैं। इन चुनिंदा मामलों में यात्रा या स्थानांतरण के मामले में आने-जाने के खर्च के लिए दिया गया भत्ता, यात्रा की अवधि के दौरान दिया गया कोई अन्य भत्ता, सामान्य कार्यस्थल से अनुपस्थिति की स्थिति में एक कर्मचारी को दैनिक खर्च पूरा करने के लिए दिया जाने वाला भत्ता आदि शामिल है। इनके अलावा यदि नियोक्ता नि:शुल्क आने-जाने की सुविधा नहीं प्रदान कर रहे हों, तो रोजाना काम पर आने-जाने के खर्च के लिए दिए जाने वाले भत्ते पर भी आयकर से छूट का दावा किया जा सकता है। सीबीडीटी ने यह भी स्पष्ट किया कि अनुलाभ के मूल्य का निर्धारण करते समय नियोक्ता द्वारा प्रदत्त वाउचर (पेड) के माध्यम से मुफ्त भोजन और गैर-मादक पेय के संबंध में कोई छूट नहीं मिलेगी। इसके अलावा नेत्रहीन, मूक, बधिर अलावा हड्डियों से दिव्यांग कर्मचारी 3,200 रुपए प्रति माह के परिवहन भत्ते में छूट का दावा कर सकते हैं। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 2020-21 के बजट में लोगों को आयकर की एक वैकल्पिक दर की पेशकश करते हुए नई कर आयकर व्यवस्था का प्रस्ताव किया था। इसके तहत 2.5 लाख रुपए तक की वार्षिक आय पर कर से छूट मिलती है। जो व्यक्ति 2.5 लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक कमाते हैं, उन्हें पांच प्रतिशत की दर से आयकर का भुगतान करना होगा। इसी तरह पांच से 7.5 लाख रुपए के बीच की आय पर 10 प्रतिशत, 7.5 से 10 लाख रुपए के बीच की आय पर 15 प्रतिशत, 10 से 12.5 लाख रुपए सालाना कमाने वालों पर 20 प्रतिशत, 12.5 रुपए से 15 लाख रुपए की सालाना कमाई पर 25 प्रतिशत तथा 15 लाख रुपए से अधिक की आय पर 30 प्रतिशत कर का प्रावधान है। नई कर व्यवस्था उन व्यक्तियों के लिए है, जो कुछ निर्दिष्ट कटौती या छूट का लाभ नहीं उठा रहे हैं।



Locust attack: Delhi environment minister calls emergency meeting


Patnaik calls upon all to make return journey of Lord Jagannath's Rath Yatra successful


ED visits Ahmed Patel at home for questioning in Sandesara brothers PMLA case


Rahul targets govt, PM for having no plan to defeat virus, as COVID cases surge past 5-lakh mark


The norms of employee management


Economic fugitive Mehul Choksi funded Sonia Gandhi led RGF


HM Amit Shah visits 10,000-bed COVID care facility in Delhi, reviews arrangements


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप