16 जुलाई से 31 जुलाई तक लॉकडाउन- bihar


भारत में 24 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी थी जबकि संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख 37 हजार के पार चला गया। दुनियाभर में कोरोना से 5 लाख 78 हजार से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। विश्वभर में संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 33 लाख से ज्यादा हो गई। -महाराष्ट्र में मंगलवार कोरोना के 6,741 नए मरीजों के सामने आने से कुल संक्रमितों की संख्या 2,67,665 हो गई। राज्य में 213 लोगों की मौत के बाद जान गंवाने वालों का आंकड़ा 10,695 हो गया। -दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,606 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 1,15,346 हुई जबकि महामारी से मरने वालों की तादाद 3,446 पर पहुंच गई। -तमिलनाडु में कोराना का कहर जारी है। संक्रमण के 4,526 नए मामले आने के बाद कुल संक्रमित 1,47,324 हो गए जबकि 67 और लोगों की मौत के बाद कुल मृतक संख्या 2,099 पहुंच गई। -उत्तर प्रदेश में 28 और लोगों की मौत के साथ इस वायरस से मरने वालों की संख्या 983 हो गई। कोरोना के 1656 नए मामले आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 25034 पर पहुंच गई।


-पूरी दुनिया में 133,68,319 लोग संक्रमित


-दुनियाभर में 5,78,331 लोगों की मौत


-विश्वभर में 78,01,621 मरीज स्वस्थ


-भारत में 9,37,487 मरीज संक्रमित


-देश में अब तक 24,315 लोगों की मौत


-भारत में 5,93,080 मरीज स्वस्थ हुए


राजस्थान में डिप्टी सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से सचिन पायलट के हटाए जाने के बाद राजनीतिक संकट और गहरा गया है। सचिन पायलट अपने  ऊपर लगे आरोपों पर जवाब दे सकते हैं। कांग्रेस के मुखर प्रवक्ताओं में से एक नाम संजय झा का भी रहा है। लेकिन अब कांग्रेस पार्टी से निलंबित किए जा चुके हैं। जितिन प्रसाद उत्तर प्रदेश कांग्रेस के सक्रिय नेताओं में से एक हैं। उन्होंने जिस तरह से कार्रवाई होने के बाद सचिन पायलट के समर्थन में ट्वीट किया है उसके कई माएने हैं। पहली प्रतिक्रिया में पायलट ने पहले दोपहर बाद ट्वीट किया कि सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं। इसके बाद शाम को उन्होंने एक और ट्वीट कर उनके समर्थन में आए लोगों का आभार जताया। अपने ट्वीट के अंत में उन्होंने अपने चिर परिचित अंदाज में लिखा- राम राम सा!'


वहीं पायलट के समर्थन में मुखर रहे विश्वेंद्र सिंह ने ट्वीटर पर एक वीडियो जारी किया। इसमें उन्होंने कहा कि मैं तो एक सवाल पूछना चाहता हूं कि हम लोगों ने कहां पार्टी विरोधी या पार्टी के खिलाफ या पार्टी के अहित में कोई बयान दिया। सिंह ने वीडियो में आगे कहा कि हम तो केवल आलाकमान का ध्यान आकर्षित करना चाहते थे कि चुनावी घोषणा-पत्र में जो बाते हैं... बिजली हो, पानी हो या कर्जमाफी हो जिसके लिए जनता ने हमें चुनकर भेजा, उसको हम पौने दो साल में डिलीवर नहीं कर पाए।  पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी शिकस्त और राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद वह ‘युवा ब्रिगेड’ बिखरती चली गई, जो कभी पार्टी का भविष्य मानी जाती थी। इसी कड़ी में नया नाम सचिन पायलट का जुड़ा है जो अब कांग्रेस से जुदा होने के मुहाने पर खड़े हैं। पायलट से जुड़े इस घटनाक्रम से महज कुछ महीने पहले ही कांग्रेस के एक और बड़े युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस को अलविदा कह भाजपा का दामन थाम लिया। नतीजा यह हुआ कि मध्यप्रदेश में 15 साल के बाद बनी कांग्रेस की सरकार 15 महीनों में ही चली गई। बहुत सारे जानकार, युवा नेताओं के एक-एक करके कांग्रेस से अलग होने को वरिष्ठ नेताओं के साथ उनके टकराव और राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से हटने के बाद खुद को असहज पाने को मानते हैं। हालांकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का मानना है कि पार्टी से अलग होने वाले युवा नेता अपने राजनीतिक फायदे को ध्यान में रखकर ऐसे कदम उठा रहे हैं। वैचारिक प्रतिबद्धता की परीक्षा मुश्किल घड़ी में होती है। आज जो नेता कांग्रेस से अलग हो रहे हैं उन्हें पार्टी ने बहुत कुछ दिया। अब वे अपने फायदे के लिए पार्टी के हित को नुकसान पहुंचाकर ऐसे कदम उठा रहे हैं। वैसे, युवा नेताओं के कांग्रेस से अलग होने के बाद पार्टी के कई अन्य युवा नेता दबी हुई जुबान में ही सही, लेकिन अपनी भावनाएं प्रकट कर देते हैं। पायलट को प्रमुख पदों से हटाए जाने के बाद भी ऐसा ही हुआ। जितिन प्रसाद और प्रिया दत्त जैसे युवा नेताओं ने इस पर न सिर्फ दु:ख जताया, बल्कि कांग्रेस के लिए किए उनके कार्यों की सराहना भी की। प्रसाद ने कहा कि सचिन पायलट मेरे मित्र हैं। इस तथ्य को कोई नकार नहीं सकता कि इतने वर्षों में उन्होंने पार्टी के लिए समर्पण भाव से काम किया है। उम्मीद करता हूं कि हालात संभाले जा सकते हैं। दुखद है कि बात यहां तक पहुंची। पायलट और सिंधिया कभी राहुल गांधी के सबसे करीबियों में गिने जाते थे। सिंधिया के कांग्रेस से अलग होने के बाद राहुल गांधी ने कहा था कि सिंधिया उन चंद लोगों में से एक थे जो कभी भी उनके घर आ सकते थे। इन दोनों युवा नेताओं से पहले झारखंड में अजय कुमार, हरियाणा में अशोक तंवर और त्रिपुरा में प्रद्युत देव बर्मन जैसे युवा नेताओं ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया था। पायलट से जुड़े घटनाक्रम को लेकर कांग्रेस के कई युवा नेताओं ने निराशा जताई और कहा कि वे इसे पार्टी के लिए नुकसानदेह मानते हैं। कांग्रेस के एक युवा नेता ने कहा कि ये चीजें पार्टी को नुकसान देने वाली हैं। पार्टी को इस पर गंभीरता से सोचना चाहिए और जरूरी कदम उठाने चाहिए।


असम में बाढ़ की स्थिति भयावह बन गई है। नदियां उफान पर हैं। राज्य में बाढ़ से 59 लोगों की मौत हो गई है जबकि करीब 33 लाख इससे प्रभावित हुए हैं।


एशिया में चीन के बढ़ते दबदबे के बीच जापान ने कहा है कि बीजिंग क्षेत्रीय समुद्रों में अपना प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है और इसके लिए कोरोना वायरस महामारी तक का इस्‍तेमाल कर रहा है, जिससे जापान और क्षेत्र की सुरक्षा को लेकर बड़ा खतरा पैदा होता जा रहा है।


टीवी शोज की शूटिंग फिर से शुरू हो गई है। कोरोना वायरस के कारण और लॉकडाउन की वजह से सरकार द्वारा फिल्म और टेलीविजन उद्योग पर लगभग तीन महीने तक लगाए गई रोक के बाद अब काम वापस से शुरू हो गया है।


वेस्टइंडीज की टीम ने चार महीने बाद बहाल हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत अपने लिए अच्छी तरह से की है। उन्होंने टेस्ट सीरीज के पहले मैच में चुनौतीपूर्ण स्थिति होने के बावजूद 4 विकेट से जीत दर्ज की और सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली।


फेसबुक बंद किए जाने के खिलाफ सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल ने दिल्ली हाईकोर्ट में अपील की थी। लेकिन अदालत ने जो कुछ टिप्पणी की वो बेहद दिलचस्प है। लेफ्टिनेंट कर्नल को दिल्ली हाईकोर्ट की झिड़की, फेसबुक नहीं बंद कर सकते तो छोड़ दीजिए नौकरी​


Gold Rate रिकॉर्ड ऊंचाई के बाद सोना और चांदी की कीमत में गिरावट हुई है। जानिए सोने के 24 और 22 कैरेट का भाव तथा साथ में चांदी की कीमत भी।


डायरेक्टर शेखर कपूर ने दावा किया है कि एक साल तक थिएटर नहीं खुलेंगे। उन्होंने साथ ही कहा कि अब स्टार सिस्टम की मौत हो चुकी है।


वैसे तो बाजार में कई मास्क उप्लब्द हैं लेकिन एन95 मास्क इसमें काफी प्रभावी माना जा रहा है। यह मास्क हमें कोरोना के साथ-साथ प्रदूषण से भी बचाता है। एक हालिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि कोरोना का वायरस हवा में भी जिंदा रह सकता है तो इस वजह से भी हमें अच्छी क्‍वालिटी का मास्क पहनना चाहिए। पहला कदम सही N95 मास्क का चयन करना है। दो मास्क हैं एक 'R' और दूसरा 'P' इसमें आपको P मास्क का चुनाव करना है क्योंकि यह ज्यादा कारगर और अच्छा है।मास्क खरीदने से पहले, आकार का ध्यान रखें। मास्क को नाक से नहीं फिसलना चाहिए। हमेशा मेडिकल या ऑनलाइन स्टोर से मास्क खरीदें। यदि आपको कीई पुरानी बीमारी या हृदय संबंधी रोग है तो कृपया अपने डॉक्टर का सुझाव लें और फिर खरीदारी करें। N95 मास्क पहनने से बीमार व्यक्ति को सांस लेने में मुश्किल हो सकती है। पुरुषों को हमेशा अपनी दाढ़ी ट्रिम या पूरी तरह से शेव करनी चाहिए ताकि मास्क आपको ठीक से फिट हो सके। मास्क पहनने से पहले अपने हाथों को अच्छी तरह से धो लें। सबसे पहले मास्क को नाक पर लगाएं और फिर स्ट्रिंग को कानों की तरफ खींचें। याद रखें N95 मास्क बच्चों के लिए डिजाइन नहीं किए गए हैं। उनके लिए किसी अन्य विकल्प की तलाश करें। मास्क को हटाते समय, पट्टा खींचें और मास्क को हटा दें। सामने से मास्क न छुएं। इसमें कीटाणु या वायरस हो सकते हैं। अगर आप मास्क पहन कर किसी डॉक्टर को दिखाने गए हैं तो आने के बाद उस मास्क को फेंक दें। अगर नहीं गए हैं तो इस मास्क को तबतक इस्तेमाल कर सकते हैं जब तक क‍ि यह ढीला न हो जाए।


बेटे संग तैरने गई एक्ट्रेस नाया रिवेरा 33 साल का शव 5 दिन बाद झील में तैरता हुआ मिला। नाया 8 जुलाई की दोपहर से लापता था। जानकारी के मुताबिक उन्होंने डूबने से पहले अपने बेटे को बचाया।


बिहार सरकार ने हाल ही में एक हफ्ते के लिए सिर्फ राजधानी पटना में लॉकडाउन का ऐलान किया था। बिहार सरकार का बड़ा फैसला,16 जुलाई से 31 जुलाई तक प्रदेश में लागू होगा लॉकडाउन


केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए गैर-सरकारी प्रोविडेंट (Non-Government Provident), पेंशन (pension) और ग्रेच्युटी फंड्स (Gratuity Funds) के लिए स्पेशल डिपॉजिट स्कीम (Special Deposit Scheme) के लिए ब्याज दर को अधिसूचित किया है।


बिहार में बीजेपी के करीब 75 नेता कोरोना संक्रमित मिले हैं, पार्टी ऑफिस में काम कर रहे लोगों के सैंपल लिए गए थे।


जून महीने की थोक महंगाई दर में गिरावट हुई है। मासिक आंकड़ों पर आधारित सालाना महंगाई दर जून 2020 में 1.81% घटी है।


भारत और एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति, रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी अब दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। उन्होंने लेरी पेज के पीछे छोड़ दिया है।


ईरान ने भारत को चाबहार रेल परियोजना से हटा दिया है। यह कदम ऐसे समय में उठाय गया है, जबकि ईरान, चीन के साथ 400 अरब डॉलर का बड़ा समझौता करने जा रहा है।


सरकारी एजेंसियां प्रमुख उत्पादक राज्यों में धान और गेहूं की बड़े पैमाने पर खरीद करती हैं, जबकि दलहनों और तिलहनों व अन्य फसलों की कीमतें जब किसी राज्य में एमएसपी से नीचे रहती हैं।


अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिणी गुजरात, कोंकण गोवा, तटीय कर्नाटक, विदर्भ के कुछ हिस्सों, मराठवाड़ा, तेलंगाना, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह पर हल्की से मध्यम वर्षा के साथ कुछ स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है। असम में भी एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा का अनुमान है। पूर्वोत्तर भारत, गंगीय पश्चिम बंगाल, उत्तर-पूर्वी बिहार, झारखंड, ओडिशा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी राजस्थान, शेष बिहार, उत्तर प्रदेश के मध्य और पूर्वी हिस्सों, उत्तराखंड, केरल और लक्षद्वीप में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। पंजाब, जम्मू कश्मीर और हरियाणा के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है।



Gehlot to hold Cabinet meet at 7.30 pm


India will cross 10 lakh-mark of COVID-19 cases this week: Rahul Gandhi


Pilot must have been facing humiliation in Congress: Bharti


Vikas Dubey''s aide arrested, 2 looted rifles recovered: UP police


Tablighi Jamaat: Court allows foreigners from 5 countries to walk free on fine


Gold scam kingpin Swapna was in touch with senior Minister: Phone CDRs


Delhi edu model made history, 98 pc students of govt schools passed CBSE class 12 exam: Kejriwal


Indian and Chinese commanders hold talks on further disengagement in eastern Ladakh


Pilot sacked as deputy CM, party's Rajasthan unit chief


CBSE to announce class 10 results on July 15


WPI inflation falls 1.81 pc in June, but food prices rise


Lockdown from July 16 to 31 in Bihar


Tamil Nadu CM tests negative for Coronavirus


Indian healthcare sector to hit $275 bn mark by 2030: Harsh Vardhan


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप