गौतमपल्ली डबल मर्डर केस, बेटी ने ही की माँ और भाई की हत्या






राजधानी लखनऊ : राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज बेटी ने पदक जीतने वाली पिस्तौल से की अपने ही माँ और भाई की हत्या 

बीते दिन शनिवार को दोपहर करीब 2 बजे रेलवे अधिकारी आर डी बाजपेई के पत्नी(45) और बेटे(17) की उनके सरकारी आवास पर हत्या हो गई। घटना से इलाके में अफरा तफरी मच गई। मौके पर डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी, पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। डीसीपी मध्य सोमेन वर्मा ने बताया कि मृत की बेटी दूसरे कमरे में बैठी थी, काफी समय तक वो चुप्पी साधे रही। उसकी हरकतों पर शक होने पर कमरे कि तलाशी ली गई तो मेज के पास से .22 की पिस्टल और पास ही ढक्कन खुला हुआ कारतूस का डिब्बा मिला। पूछ ताछ में उसने खुलासा किया कि दोपहर 2 बजे करीब जब वो अपने कमरे से बाहर निकली तो मां और भाई दोनों सो रहे थे, उसी दौरान उसने दोनों को गोली मार दी। राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज बेटी को उसके पिता ने पिस्टल ये सोच कर दिलाई थी कि एक दिन उनकी बेटी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश को पदक दिलाएगी। उन्हें क्या पता था कि पदक जीतने वाली पिस्टल से उनकी बेटी अपने पिता को उनके जन्मदिन के दिन ही ऐसा तोहफा देगी। बेटी के बाथरूम के आईने पर लाल रंग से "डिस क्वालिफाइड ह्यूमन" लिखा था और गोली का निशान भी था। उसने खुद के हाथ पर भी ब्लेड से करीब 50 घाव किए। उसकी खुद की निशानदेही पर माचिस की डिब्बी से ब्लेड बरामद किया गया। उसकी मानसिक हालत अस्थिर बताई जा रही है। पुलिस हर पहलू पर बड़ी सतर्कता से जांच कर रही है।







टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप