भारत में कोरोनावायरस का कहर तेजी से बढ़ रहा


सितंबर में भारत में कोरोनावायरस का कहर तेजी से बढ़ रहा है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, इस माह के पहले 15 दिन जिन लोगों को संक्रमण हुआ है उनकी संख्या दूसरे सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका में सामने आए मामलों की संख्या के दोगुने से अधिक थी।भारत में सितंबर के पहले 15 दिन में 13,08,991 मामले सामने आए, अमेरिका में 5,57,657 मामले दर्ज किए गए। पंजाब में कोरोना वायरस संक्रमण के रिकॉर्ड 2,717 नए मामले सामने आए हैं और संक्रमण से 78 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 87,184 हो गई। पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से 61 लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,123 हो गई गुजरात के अहमदाबाद जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के 165 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर यहां 34,237 हो गई। झारखंड में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण से 8 और लोगों की मौत, जिसे मिलाकर राज्य में इस संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 579 हो गई।उत्तर प्रदेश में 6337 नए मामले, 3 लाख 30 हजार हुई संक्रमितों की संख्‍या


इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए स्टैंडर्ड तय करने के मामले में आज (गुरुवार) सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी हैं. केंद्र सरकार ने कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है. केंद्र ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से पहले डिजिटल मीडिया को देखना चाहिए. मुख्यधारा के मीडिया में प्रकाशन और प्रसारण तो एक बार का कार्य होता है, लेकिन डिजिटल मीडिया की व्यापक रूप से दर्शकों की भारी संख्या, पाठक संख्या तक पहुंच है और इसमें व्हाट्सएप, ट्विटर, फेसबुक जैसे कई इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों के कारण वायरल होने की संभावना रहती है.


लद्दाख सहित वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ तनाव नए स्तर पर पहुंच गया है। सेना ने चीन को दो टूक संदेश दिया है कि उसके किसी भी दुस्साहस का जवाब देने के लिए वह इस बार पूरी तरह से तैयार है। चीनी कंपनी झेन्हुआ द्वारा भारतीय नेताओं एवं नागरिकों की कथित जासूसी का मामला तूल पकड़ रहा है। मामले की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने विशेषज्ञों की एक समिति गठित कर दी है जो 30 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी। बॉलीवुड और ड्रग माफियाओं के कथित संपर्क पर नेताओं एवं फिल्मी हस्तियों की बयानबाजी जारी है।


आज है दुनिया के पहले शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा पूजा का त्योहार। भगवान विश्वकर्मा को देवों का शिल्पकार और निर्माण और सृजन का देवता कहा जाता है। स्तुकला के आचार्य भगवान विश्वकर्मा वास्तुदेव तथा माता अंगिरसी के पुत्र हैं। पैराणिक कथाओं के अनुसार भगवान विश्वकर्मा ने ही देवताओं के लिए अस्त्रों, शस्त्रों, भवनों और मंदिरों का निर्माण किया था। उन्होंने सृष्टि की रचना में भगवान ब्रह्मा की सहायता इसके बाद उन्हें दुनिया का पहला शिल्पकार माना जाता है। उन्होंने सतयुग में स्वर्गलोक, त्रेतायुग में सोने की लंका, द्वापर में द्वारिका और कलियुग में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र एवं सुभद्रा की विशाल मूर्तियों का निर्माण करने के साथ ही यमपुरी, वरुणपुरी, पांडवपुरी, कुबेरपुरी, शिवमंडलपुरी तथा सुदामापुरी आदि का निर्माण किया। यही वजह है कि आज के दिन कारोबारी और बिजनेसमैन इनकी पूजा करते हैं। कहते हैं कि इनकी पूजा करने से कारोबार में तरक्की मिलती है।भगवान विश्वकर्मा को निर्माण और सृजन का देवता माना जाता है, उन्हें दुनिया का सबसे पहला इंजीनियर भी कहा जाता है। अगर इस दिन कारोबारी और व्यवसायी लोग भगवान विश्वकर्मा की पूजा करें तो तरक्की मिलती है। वास्तुकला के आचार्य भगवान विश्वकर्मा वास्तुदेव तथा माता अंगिरसी के पुत्र हैं। भारत के कुछ भाग में यह मान्यता है कि अश्विन मास की प्रतिपदा को विश्वकर्मा जी का जन्म हुआ था, लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि लगभग सभी मान्यताओं के अनुसार यही एक ऐसा पूजन है जो सूर्य केपारगमन के आधार पर तय होता है। इस लिए प्रत्येक वर्ष यह 17 सितम्बर को मनाया जाता है।भगवान विश्वकर्मा की पूजा हर व्यक्ति को करनी चाहिए। सहज भाषा में कहा जाए कि सम्पूर्ण सृष्टि में जो भी कर्म सृजनात्मक है, जिन कर्मों से जीव का जीवन संचालित होता है। उन सभी के मूल में विश्वकर्मा हैं। अत: उनका पूजन जहां प्रत्येक व्यक्ति को प्राकृतिक ऊर्जा देता है वहीं कार्य में आने वाली सभी अड़चनों को खत्म करता है।स्वर्गलोक और सोने की लंका का किया निर्माण :



भगवान विश्वकर्मा को देव शिल्पी कहा जाता है। उन्होंने सतयुग में स्वर्गलोक, त्रेतायुग में सोने की लंका, द्वापर में द्वारिका और कलियुग में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र एवं सुभद्रा की विशाल मूर्तियों का निर्माण करने के साथ ही यमपुरी, वरुणपुरी, पांडवपुरी, कुबेरपुरी, शिवमंडलपुरी तथा सुदामापुरी आदि का निर्माण किया। ऋगवेद में इनके महत्व का वर्णन 11 ऋचाएं लिखकर किया गया है।विधि-विधान से करें पूजा, कारोबार में होगा इजाफा : 17 सितंबर को विश्वकर्मा जयंती पर शुभ मुहूर्त में किया गया पूजन कारोबार में इजाफा करने के साथ ही आपको धनवान भी बना सकता है। भगवान विश्वकर्मा की पूजा विधि-विधान से करने पर विशेष फल प्रदान करती है। सबसे पहले पूजा के लिए जरूरी सामग्री जैसे अक्षत, फूल, चंदन, धूप, अगरबत्ती, दही, रोली, सुपारी, रक्षा सूत्र, मिठाई, फल आदि की व्यवस्था कर लें। इसके बाद फैक्टरी, वर्कशॉप, ऑफिस, दुकान आदि के स्वामी को स्नान करके सपत्नीक पूजा के आसन पर बैठना चाहिए। इसके बाद कलश को स्थापित करें और फिर विधि-विधान से क्रमानुसार पूजा करें। स्कंद पुराण के अंतर्गत विश्वकर्मा भगवान का परिचय ‘बृहस्पते भगिनी भुवना ब्रह्मवादिनी। प्रभासस्य तस्य भार्या बसूनामष्टमस्य च। विश्वकर्मा सुतस्तस्यशिल्पकर्ता प्रजापति' श्लोक के जरिए मिलता है। इस श्लोक का अर्थ है महर्षि अंगिरा के ज्येष्ठ पुत्र बृहस्पति की बहन भुवना ब्रह्मविद्या की जानकार थीं। उनका विवाह आठवें वसु महर्षि प्रभास के साथ संपन्न हुआ था। विश्वकर्मा इन दोनों की ही संतान थे। विश्वकर्मा भगवान को सभी शिल्पकारों और रचनाकारों का भी ईष्ट देव माना जाता है।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज जन्मदिन है। 17 सितंबर 1950 को गुजरात के वडनगर में उनका जन्म हुआ था। पीएम मोदी जिनका पूरा नाम नरेन्द्र दामोदर मोदी है उन्होंने 26 मई 2014 को देश के 15वें प्रधानमंत्री के रुप में शपथ ली थी। नरेन्द्र मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने आजाद भारत में जन्म लिया।


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज राज्यसभा में भारत-चीन सीमा मुद्दे पर बयान देंगे। मंगलवार को रक्षा मंत्री ने लोकसभा में इस मुद्दे को लकर अपना बयान दिया था और कहा कि कहा कि भारत शांतिपूर्ण तरीके से सीमा मुद्दे के हल के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन पड़ोसी देश द्वारा यथास्थिति में एकतरफा ढंग से बदलाव का कोई भी प्रयास अस्वीकार्य होगा।


टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड 861.90 करोड़ रुपये की लागत से संसद भवन की नई इमारत का निर्माण करेगी। अधिकारियों ने बताया कि टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने निविदा हासिल की है। सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत नई इमारत संसद की मौजूदा इमारत के नजदीक बनाई जाएगी और इसके 21 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है।



कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने बुधवार कहा कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस बात की जानकारी दी है कि चीन की कंपनी द्वारा राजनीतिज्ञों सहित भारतीय नागरिकों की निगरानी किए जाने की रिपोर्टों को सरकार ने संज्ञान में लेते हुए विशेषज्ञों की एक समिति गठित की है और यह समिति अपनी रिपोर्ट 30 दिनों में सौपेंगी।


पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी मुश्किल में हैं। सीबीआई की विशेष अदालत ने उनके खिलाफ विनिवेश के एक केस में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। मामला 2002 का है जब वो अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में विनिवेश मंत्री हुआ करते थे। उस समय सरकार का मानना था कि ऐसे सरकारी निकायों में विनिवेश किया जा सकता है जो बहुत अधिक लाभप्रद नहीं है और उसी क्रम में उदयपुर का लक्ष्मी विलास पैलेस होटल का नंबर आया।


दिल्ली हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने 15 आरोपियों के खिलाफ 17, 500 पन्ने का आरोपपत्र दाखिल किया। दिल्ली पुलिस ने यह चार्जशीट गैरकानूनी गतिविधियां निरोधक कानून, ऑर्म्स एक्ट और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत दायर किया है।


फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की साजिश के आरोप में दाखिल रीविजन वाद पर मंगलवार को जिला व सत्र न्यायालय में सुनवाई हुई। जिला व सत्र न्यायाधीश अनिल कुमार सिन्हा ने रीविजन वाद को मंजूरी


सेना ने चीन को सीधे तौर पर ललकारा है। सीमा पर गत मई महीने से भारत और चीन के बीच शुरू हुआ विवाद अब अपने चरम पर पहुंच गया है। पूर्वी लद्दाख और एलएसी पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं।


सोना के बारे में दिलचस्प बातें सामने आई हैं। यह आदमी के शरीर में भी पाया जाता है।


महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में वन एक्ट प्ले का आयोजन किया जायेगा। तीन दिवसीय वन एक्ट प्ले का आयोजन 17 से 20 सितम्बर तक किया..


असम में असिस्टेंट टीचर (लोअर एंड अपर प्राइमरी स्कूल) और हिंदी टीचर पदों पर वैकेंसी निकली है। योग्य और इच्छुक उम्मीदवार जल्द से जल्द आवेदन करें।


भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मंगलवार (16 सितंबर) को कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार पूरी रफ्तार में नहीं पहुचा है, यह धीरे-धीरे होगा।


केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी कोरोनावायरस से पीड़ित हो गए हैं। गड़करी ने बुधवार की देर रात खुद सोशल मीडिया में ट्‍वीट करके जानकारी दी कि वह कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं।


अगले 24 घंटों के दौरान असम, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, उत्तरी कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में कई स्थानों पर घने बादल छाए रहेंगे और हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह, शेष पूर्वोत्तर भारत, बिहार के कुछ हिस्सों, पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, दक्षिणी मध्य प्रदेश, दक्षिणी छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और केरल के साथ-साथ गुजरात के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम वर्षा संभव है।तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक, ओडिशा, झारखंड और दक्षिण-पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। एक-दो स्थानों पर मध्यम वर्षा के भी आसार हैं।पश्चिम राजस्थान और उत्तराखंड में हल्की वर्षा होने के आसार हैं।



CBI court to give judgment in Babri mosque demolition case on Sept 30


No infiltration along Sino-Indian border in last 6 months: Govt tells RS


3 arrested for attack on Suresh Raina's relatives; former cricketer reaches Pathankot


Look forward to jointly take our special strategic partnership to new heights: Modi to new Japan PM


Delhi BJP president Adesh Gupta tests positive for COVID-19


Yoshihide Suga named Japan's prime minister, succeeding Abe


Rajnath to make statement in RS on India-China standoff on Thursday


Changes in banking regulation law aimed at improving governance in cooperative banks: FM


Lok Sabha passes legislation to bring cooperative banks under RBI's supervision


DU cut-offs likely to go higher this year with many students scoring above 95% in CBSE exams: Officials


SpiceJet launches 14 dedicated cargo flights connecting northeastern states


Delhi riots: Police files charge sheet under UAPA for larger conspiracy


Kangana Ranaut attacks Jaya Bachchan again, Swara Bhasker calls her comments sickening


Cong raises in Parliament issue of alleged surveillance by Chinese company


Chinese troops fired warning shots in air at north bank of Pangong lake in eastern Ladakh: sources


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप