कोविड-19 महामारी का अस्तित्व नहीं पर 2 लाख रुपए का जुर्माना

 

 

कोरोना वायरस के एक और नए वैरिएंट का पता चला। दक्षिण अफ्रीका से ब्रिटेन आने वाले यात्रियों में मिला यह नया स्ट्रेन। बताया जा रहा बेहद संक्रामक। इससे पहले ब्रिटेन में मिला था कोविड का नया रूप। वहीं, महामारी के चलते भारत और रूस के बीच होने वाला वार्षिक शिखर सम्मेलन टला।

विश्व भारती विश्वविद्यालय के 100 साल पूरे के जलसे को पीएम मोदी संबोधित करेंगे. सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पीएम मोदी शांति निकेतन के शताब्दी समारोह को संबोधित करेंगे

नए कृषि क़ानूनों पर सरकार और किसानों के बीच गतिरोध बरकरार। किसान बोले- तेज़ करेंगे आंदोलन, बातचीत के लिए ठोस प्रस्ताव भेजे सरकार। दूसरी ओर, आज राहुल गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रपति भवन तक मार्च करेगी कांग्रेस।'पीएम-किसान' योजना को लेकर केंद्र और बंगाल सरकार में बढ़ी तकरार। ममता बनर्जी ने कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर को पत्र लिखकर योजना का पैसा राज्य सरकार को देने को कहा। तोमर बोले- सीधे किसानों के खाते में जाती है रक़म। इसी बीच, कल देश के नौ करोड़ किसानों के लिए पीएम-किसान की अगली किस्त जारी करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी। सरकार से बातचीत के लिए राजी हुए आंदोलनकारी किसान। बोले- वार्ता के लिए अनुकूल माहौल बनाए सरकार। बांटने की न करे कोशिश। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने किसानों को दिया समर्थन। केरल के सीएम पी विजयन ने भी आंदोलनकारियों के पक्ष में उठाई आवाज़। इसी बीच 25 दिसंबर को नौ करोड़ किसानों के लिए पीएम-किसान की अगली किस्त जारी करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

जम्मू-कश्मीर के डीडीसी चुनाव में दो महिला उम्मीदवारों के पाकिस्तानी नागरिक होने की आशंका के बाद दो सीटों पर रोकी गई मतगणना। दोनों का संबंध पाकिस्तान के क़ब्ज़े वाले कश्मीर से। पूर्व आंतकवादियों से हुआ है विवाह। वहीं, पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती की सहयोगी के घर ईडी का छापा। जम्मू-कश्मीर के जिला विकास परिषद चुनाव में नैशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी समेत सात दलों के गुपकार गठबंधन को 110 सीटों पर मिली जीत। बीजेपी के खाते में 75 सीटें। नतीजों पर बोले उमर अब्दुल्ला- जनता ने बीजेपी को दिखाया आईना। वहीं, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती का ऐलान- धारा 370 बहाल होने तक नहीं लड़ेंगी कोई चुनाव।

पाकिस्तान की एक अदालत ने एक व्यक्ति पर 2 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है जिसने यह याचिका दायर की थी कि कोविड-19 महामारी का अस्तित्व नहीं है इसलिए सरकार को इसके लिए टीका नहीं खरीदना चाहिए। लाहौर उच्च न्यायालय ने मंगलवार को याचिकाकर्ता अजहर अब्बास पर जुर्माना लगाया और भविष्य में ऐसी याचिका दायर करने के प्रति उसे चेतावनी दी।एसी की मरम्मत करने का काम करने वाले अब्बास ने याचिका में कहा था कि कोरोनावायरस एक अंतरराष्ट्रीय साजिश है और लोगों के हाथ मिलाने से यह नहीं फैलता। उसने कहा कि कोविड-19 के लक्षण दशकों पहले से ही मौजूद हैं और वह जानलेवा नहीं है।

मुख्य न्यायाधीश मुहम्मद कासिम खान ने याचिकाकर्ता से बार-बार कहा कि वह हवाई बातें करने की बजाय अपनी दलील के समर्थन में चिकित्सकीय साक्ष्य पेश करे। अब्बास कोई तर्कपूर्ण जवाब देने में असफल रहा और कहता रहा कि यह मुस्लिमों के प्रति एक अंतरराष्ट्रीय साजिश है। उसने अदालत से यह भी कहा कि वह सरकार को कोरोनावायरस का टीका खरीदने से रोके।मुख्य न्यायाधीश ने याचिका खारिज कर दी और याचिकाकर्ता पर 2 लाख पाकिस्तानी रुपए का जुर्माना लगाया। मुख्य न्यायाधीश ने यह भी कहा कि याचिकाकर्ता ने समाज में भय पैदा करने की कोशिश की।

सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने का दावा किया है और आतंकवादियों के 6 मददगारों को गिरफ्तार किया है। वे ग्रेनेड फेंकने की घटनाओं में शामिल थे।

59 हज़ार करोड़ रुपये की पोस्ट मैट्रिक योजना को मंजूरी। चार करोड़ एससी छात्रों को मिलेगा लाभ। केंद्र सरकार 35 हज़ार करोड़ रुपये खर्च करेगी, बाकी रक़म रहेगी राज्य सरकारों के जिम्मे।

मध्यप्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग ने स्कूलों का शिक्षण सत्र 2020-21 के लिए घोषित 26 दिसंबर से 31 दिसंबर तक का शीतकालीन अवकाश निरस्त कर दिया है।

बिना रिजर्वेशन वाली ट्रेनें चलाने पर विचार कर रहा रेलवे। इनमें तुरंत टिकट लेकर की जा सकेगी यात्रा।

बढ़त के साथ खुले एशियाई बाज़ार। कोरोना के नए स्ट्रेन पर वैक्सीन के प्रभावी होने के दावों से यूरोपीय मार्केट में उछाल। अमेरिकी बाज़ार में भी मजबूती।

राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने फरार खालिस्तानी आतंकवादी गुरजीत सिंह निज्जर के साइप्रस से निर्वासन पर दिल्ली हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया।

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) भाजपा शासित मध्यप्रदेश में अगले स्थानीय निकाय चुनावों से अपने चुनावी सफर का आगाज कर सकती है। सूबे के कई शहरों और कस्बों में ये चुनाव वर्ष 2021 की शुरुआत में संभावित हैं।

देश में कोरोना वायरस की कुल टेस्टिंग 16.5 करोड़ के करीब पहुंची। महाराष्ट्र, राजस्थान और कर्नाटक में न्यू ईयर पार्टी पर लगी रोक। तीनों राज्यों में रहेगा नाइट कर्फ्यू। तमिलनाडु सरकार ने कोरोना नियमों के पालन के साथजल्लीकट्टूखेल को अगले महीने आयोजित करने की दी इजाजत।

कर्नाटक में 10वीं और 12वीं की नियमित कक्षाएं पूर्वघोषित कार्यक्रम के अनुसार एक जनवरी से शुरू होंगी। कोरोना की नई क़िस्म का ख़तरा बढ़ने और दो जनवरी तक नाइट कर्फ्यू लगाने के बाद राज्य सरकार ने की घोषणा। वहीं, पश्चिम बंगाल में एक जून से होंगी बोर्ड परीक्षाएं।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने DTH सेवा प्रदान करने के लिए गाइडलाइंस में संशोधन को दी मंजूरी। अब 20 साल के लिए जारी किए जा सकेंगे लाइसेंस। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा- संशोधन से डीटीएच क्षेत्र में खुल जाएगा 100 फ़ीसदी एफडीआई का रास्ता।

पश्चिम बंगाल में बुधवार शाम रैपिड एक्शन फोर्स (Rapid Action Force) ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया. मामला नॉर्थ 24 परगना जिले के खारदाह पुलिस स्टेशन का है. पुलिस ने कहा कि कुछ BJP कार्यकर्ताओं ने पार्टी एक्टिविस्ट बुलेट रॉय की गिरफ्तारी को लेकर बीटी रोड को ब्लॉक कर दिया था. वे हंगामा करने लगे, जिसके बाद RAF को हालात काबू में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा.

प्रदर्शनकारी किसान संघों ने गेंद सरकार के पाले में होने की जिक्र करते हुए बुधवार को उससे कहा कि वह बातचीत फिर से शुरू करने के लिए नया ठोस प्रस्ताव लेकर आए, वहीं कृषि मंत्री ने कहा कि समाधान तक पहुंचने का संवाद ही एक मात्र रास्ता है और सरकार कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है। तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की मांग को लेकर सरकार और प्रदर्शनकारियों के बीच गतिरोध खत्म होने की कोई संभावना नजर नहीं आने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को 6 राज्यों के किसानों के साथ बातचीत करेंगे और इस दौरान किसान केंद्र द्वारा की गई विभिन्न पहलों को लेकर अपने अनुभव साझा करेंगे।कृषि कानूनों में संशोधन के प्रस्ताव को खारिज कर चुके किसान नेताओं ने कहा कि उन्हें केंद्र के खुले दिल से वार्ता के लिए आगे आने का इंतजार है और अगर सरकार एक कदम आगे बढ़ाएगी तो किसान दो कदम बढ़ेंगे।बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती और किसान दिवस था तथा कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, शिवसेना जैसे विपक्षी दलों और वाम दलों ने इस मौके पर सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि सरकार की रुचि सिर्फ कॉरपोरेट को फायदा पहुंचाने में है जबकि किसान सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर हैं। इस पर पलटवार करते हुए भाजपा ने आरोप लगाया कि विपक्षी दलों द्वारा किसानों को गुमराह किया जा रहा है और भड़काया जा रहा है जबकि सत्ता में रहते हुए उन दलों ने उनका शोषण किया।सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई और उम्मीद व्यक्त की कि किसान संघ अपना प्रदर्शन वापस ले लेंगे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चरण सिंह से प्रेरणा लेते हुए किसानों के हित में अनेक कदम उठाए हैं। किसानों का वह किसी सूरत में अहित नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि कृषि क़ानूनों को लेकर कुछ किसान आंदोलनरत हैं। सरकार उनसे पूरी संवेदनशीलता के साथ बात कर रही है। मैं आशा करता हूँ कि वे जल्द ही अपने आंदोलन को वापस ले लेंगे। उत्तरप्रदेश के संभल में कृषि कानूनों पर सरकार के हृदय परिवर्तन के लिए यज्ञ का आयोजन किया गया तो वहीं भारतीय किसान संघ (लोक शक्ति) के प्रमुख श्योराज सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को कथित तौर पर अपने खून से पत्र लिखा। कानूनों को निरस्त किए जाने की मांग को लेकर 26 नवंबर से ही दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों के समर्थन में विभिन्न संगठन और कार्यकर्ता भी आगे रहे हैं। सरकार के बातचीत के प्रस्ताव पर जवाब को एक संवाददाता सम्मेलन में पढ़ते हुए किसान नेताओं ने कहा कि वे बातचीत के लिए खुले दिल से तैयार हैं लेकिन सरकार नए कृषि कानूनों में "निरर्थक" संशोधन करने की बात को नहीं दोहराए जिसे वे पहले ही खारिज कर चुके हैं।संघ के नेताओं की तीन घंटे से भी ज्यादा समय तक चली बैठक के बाद किसान नेता शिव कुमार कक्का ने संवाददाताओं से कहा कि कि सरकार को अपना अड़ियल रुख छोड़कर बातचीत के लिए अनुकूल माहौल तैयार करना चाहिए। कृषि मंत्रालय में संयुक्त सचिव विवेक अग्रवाल को भेजे पत्र में संयुक्त किसान मोर्चा ने आरोप लगाया कि सरकार किसानों के साथ अपने राजनीतिक विरोधियों जैसा बर्ताव कर रही है।मोर्चा के सदस्य यादव ने कहा कि किसान संघ सरकार के साथ बातचीत करने को तैयार हैं और सरकार के बातचीत की मेज़ पर खुले दिमाग से आने का इंतज़ार कर रहे हैं। केंद्र के 20 दिसंबर के पत्र के भेजे गए जवाब को बढ़ते हुए यादव ने कहा कि हम आपसे (सरकार से) अनुरोध करते हैं कि उन निर्रथक संशोधनों को दोहराएं जिन्हें हम खारिज कर चुके हैं बल्कि बातचीत के लिए लिखित में ठोस प्रस्ताव लेकर आएं जो वार्ता का नया एजेंडा बन सकें। यादव ने आरोप लगाया कि सरकार यह जताना चाहती है कि किसान बातचीत के लिए तैयार नहीं हैं। केंद्र के साथ नौ दिसंबर को प्रस्तावित किसानों की छठे दौर की वार्ता किसानों के केंद्रीय कानूनों को निरस्त करने की मांग से पीछे नहीं हटने के कारण रद्द हो गई थी। कई किसान चौधरी चरण सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करने बुधवार को यहां किसान घाट भी पहुंचे। किसान दिवस पर प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने लोगों से एकजुटता दिखाने के लिए एक वक्त का खाना छोड़ने का अनुरोध किया था। इससे पहले दिन में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार कृषि क्षेत्रों में सुधार जारी रखेगी क्योंकि वह उसे मजबूत बनाने के लिए दृढ़ संकल्पित है।उन्होंने कहा कि इतिहास इसकी गवाही देता है। प्रदर्शन चाहे कितना भी लंबा चला हो और मजबूत रहा हो, उसका समापन या समाधान सिर्फ वार्ता के जरिए ही निकला है। तोमर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि हमारे किसान संगठन वार्ता करेंगे। यदि वे एक तिथि और समय सुनिश्चित करते हैं तो सरकार अगले दौर की वार्ता के लिए तैयार है। मुझे उम्मीद है कि हम समाधान के रास्ते पर आगे बढ़ेंगे।राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने बुधवार को कहा कि किसानों का सम्मान करना सत्ता में बैठे लोगों की जिम्मेदारी है , लेकिन अफसोस की बात है कि किसानों को अपने हक के लिए भी लड़ाई लड़नी पड़ रही है। पवार ने राष्ट्रीय किसान दिवस पर ट्विटर पर पोस्ट करके किसानों को न्याय मिलने की कामना की। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि कुछ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किसानों को कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बुधवार को मनाया जा रहा राष्ट्रीय किसान दिवस किसानों के लिए एक काला दिन है।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों से बुधवार को बात की और अपनी पार्टी टीएमसी के समर्थन का आश्वासन दिया। नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के प्रति समर्थन जताने के लिए टीएमसी सांसदों डेरेक ब्रायन, शताब्दी रॉय, प्रसून बनर्जी, प्रतिमा मंडल और मोहम्मद नदीमुल हक के 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मुलाकात भी की। ब्रायन ने ट्विटर पर कहा कि एक किसान ने फोन पर ममता बनर्जी से कहा कि कृपया यहां आइए और हमारे धरने से जुड़िए जिससे हमें और ताकत मिलेगी। अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस के सांसदों के 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने दोबारा सिंघू बॉर्डर का दौरा किया और प्रदर्शनकारी किसानों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की। बंगाल की मुख्यमंत्री ने कई समूहों से बात की। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान द्वारा कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने के लिए प्रदेश की वामपंथी सरकार द्वारा बुधवार को प्रस्तावित एक दिवसीय विशेष सत्र की इजाजत देने से इंकार करने के बाद मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने केंद्र की राजग सरकार की निंदा करते हुए इन कानूनों को वापस लेने की मांग की। माकपा नेता ने कहा कि किसान देश के अन्नदाता है इसलिए उनकी मांग को राष्ट्र के हित में देखा जाना चाहिए।उधर केरल के राज्यपाल ने बुधवार को अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने उनके द्वारा उठाए गए उस सवाल का जवाब नहीं दिया कि विशेष सत्र बुलाए जाने के लिए ऐसी कौन सी आपात स्थिति बन गई। तीन कृषि कानूनों पर वामपंथी दलों के रुख को उनका पाखंड बताते हुए भाजपा ने बुधवार को आरोप लगाया कि त्रिपुरा, केरल और पश्चिम बंगाल में अपने शासन के दौरान उसने किसानों पर अत्याचार किए। दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि जहां भी वामपंथी दल शासन में रहे वहां किसानों और अर्थव्यवस्था के लिए कुछ नहीं बचा। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोप लगाया कि किसानों के नाम पर राजनीति करने वाले लोग जब सत्ता में आते हैं तो किसानों के मुद्दों पर ही मौन हो जाते हैं।उन्होंने कहा कि बार-बार कहा जा रहा है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) समाप्त नहीं होगा लेकिन तब भी एमएसएपी के नाम पर गुमराह किया जा रहा है। बार-बार कहा जा रहा है कि मंडियां समाप्त नहीं होंगी लेकिन तब भी इसके नाम पर गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने मंडी को तकनीक के साथ जोड़ा लेकिन तब भी गुमराह किया जा रहा है कि मंडी बंद हो जाएगी। यह कैसी राजनीति है?

उत्तर भारत के अधिकतर हिस्सों में बुधवार को कड़ाके सर्दी जारी रही एवं कोहरा भी छाया रहा, वहीं कश्मीर और हिमाचल के ज्यादातर इलाकों में पारा 0 से नीचे दर्ज किया गया। पंजाब, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और बिहार में कुछ स्थानों पर घना कोहरा छाया रहा। ओडिशा लगातार तीसरे दिन भी शीतलहर की चपेट में रहा जबकि दिल्ली में न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री सेल्सियस कम रिकॉर्ड किया गया।कश्मीर घाटी में मौसम शुष्क और सर्द : कश्मीर के अधिकतर क्षेत्रों में न्यूनतम पारे में गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि समूची घाटी में मौसम शुष्क और सर्द रहा। रात का पारा 0 से कई डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है। मौसम विभाग ने 25 दिसंबर तक सर्द और शुष्क मौसम का अनुमान जताया है। जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 0 से 5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।दिल्ली में छाया मध्यम कोहरा : उधर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कुछ हिस्सों में मध्यम कोहरा छाया रहा। आईएमडी के अनुसार सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री कम रहते हुए 4 डिग्री सेल्सयस दर्ज किया गया, वहीं लोधी रोड मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।हिमाचल, हरियाणा और पंजाब में ठंड का प्रकोप : हिमाचल प्रदेश के आदिवासी जिले लाहौल-स्पीति के प्रशासनिक केंद्र केलांग प्रदेश में सबसे सर्द इलाका रहा, जहां न्यूनतम तापमान 0 से 7.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। किन्नौर जिले के कल्पा में न्यूनतम तापमान 0 से 0.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। प्रदेश की राजधानी में न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। हरियाणा और पंजाब में बुधवार को ठंड का प्रकोप जारी रहा और हिसार, आदमपुर तथा लुधियाना में पारा लुढ़ककर 3 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया है। विभाग के अधिकारियों के अनुसार न्यूनतम तापमान सामान्य से नीचे ही दर्ज किया गया। हरियाणा के हिसार में तापमान 2.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आदमपुर में न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री : पंजाब के आदमपुर में न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस और लुधियाना में 2.8 डिग्री सेल्सियस रहा। इसके साथ ही अमृतसर में न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस, पटियाला में 4.6 डिग्री सेल्सियस, फरीदकोट में 4.1 डिग्री सेल्सियस, हलवारा में 4.3 डिग्री सेल्सियस और बठिंडा में 5.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हरियाणा के अंबाला में न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस, करनाल में 3.4 डिग्री सेल्सियस, नारनौल में 3.2 डिग्री सेल्सियस, रोहतक में 4.6 डिग्री सेल्सियस, भिवानी में 5.5 डिग्री सेल्सियस और सिरसा में 5.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 5.7 डिग्री सेल्सियस रहा।राजस्थान में सर्दी का प्रकोप जारी : राजस्थान में सर्दी का प्रकोप जारी है और राज्य में सीकर सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां बीती मंगलवार रात न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार पिलानी में न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस रहा। इसी तरह चुरू में न्यूनतम तापमान 4.5 डिग्री सेल्सियस, भीलवाड़ा में 5.7 डिग्री सेल्सियस और गंगानगर में 6.3 डिग्री सेल्सियस रहा। राजधानी जयपुर में रात का तापमान 8.8 डिग्री सेल्सियस रहा। ओडिशा में कंधमाल जिले का फुलबानी में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया। यह राज्य का सबसे ठंडा इलाका रहा।



New, 'more infectious' variant of Covid from South Africa found in UK

Gupkar alliance set to form 9 Kashmir councils

KL Rahul hopes to resurrect Test career at MCG

Some see beautiful lines. We see character. The Audi Q2.

China weighing in as Nepal crisis deepens?

Farmers to get Rs 18k cr under PM-Kisan

RBI cautions against loans given on apps

Amartya Sen on list of ‘illegal plot holders’

Govt loses retro tax case against Cairn

Biggest phone launches of 2020 & their key features

How to use same video filters in Zoom, Google meet

Cong eyes nationalism in bid to hit refresh button

China launches anti-monopoly probe into Alibaba

NIA arrests absconding Khalistani terrorist Nijjar

Channels must behave responsibly: High Court

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप