महिलाएं पादरी नहीं बन सकती-पोप फ्रांसिस


 

मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग में बोले पीएम मोदी, पहले चरण में 3 करोड़ हेल्थ वर्कर्स को लगेगा टीका। राज्यों को नहीं देनी होगी फूटी कौड़ी। पीएम ने कहा, नेता अपनी बारी आने पर ही लगवाएं वैक्सीन। वहीं, सीरम इंस्टिट्यूट को मिला सरकार से वैक्सीन का ऑर्डर. सीरम इंस्टीट्यूट ने कोवीशील्ड वैक्सीन के दाम का किया खुलासा। एक डोज के लिए चुकाने होंगे जीएसटी समेत 210 रुपए। पहले चरण में हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स को मुफ्त टीका लगवाएगी सरकार। इस बीच WHO ने कहा, वैक्सीन के बावजूद इस साल नहीं डिवेलप होगी हर्ड इम्युनिटी।

 देश में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ आज बड़ी बैठक की। इसमें पीएम मोदी ने देश में टीकाकरण का पूरा ब्लूप्रिंट मुख्यमंत्रियों के सामने रखा। बैठक की खास 10 बातें-

1. प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी राज्यों से सलाह करके वैक्सीनेशन की प्राथमिकता तय हुई है। 16 जनवरी से भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण शुरू होगा।

2. ये हम सभी के लिए गौरव की बात है कि जिन दो वैक्सीन को इमरजेंसी यूज का ऑथराइजेशन दिया गया है वो दोनों ही मेड इन इंडिया हैं। दोनों वैक्सीन दुनिया के दुसरे वैक्सीन के मुकाबले सस्ती है। भारत की जरूरत के हिसाब से दोनों वैक्सीन बनाई गई है।

 

3. उन्होंने कहा कि पहले चरण में 3 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी। हमारी कोशिश सबसे पहले उन लोगों तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की है जो दिनरात देशवासियों की स्वास्थ्य रक्षा में जुड़े हुए हैं यानी हमारे हेल्थ वर्कर्स चाहे वो सरकारी हो या प्राइवेट।

4. दूसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को और 50 वर्ष से नीचे के उन बीमार लोगों को जिनकों संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा है, उनको टीका लगाया जाएगा।

5. दुनिया के 50 देशों में तीन-चार सप्ताह से वैक्सीनेशन का काम चल रहा है, लेकिन अब भी करीब-करीब 2.5 करोड़ वैक्सीन हो पाई है।

6. राज्य और केंद्र शासित प्रदेश को यह सुनिश्चित करना होगा कि अफवाहों, वैक्सीन से जुड़े अप्रचार को कोई हवा मिले। देश और दुनिया के अनेक शरारती तत्व हमारे अभियान में रुकावटें डालने की कोशिश कर सकते हैं। ऐसी हर कोशिश को, देश के हर नागरिक तक सही जानकारी पहुंचाकर हमें नाकाम करना है।

7. अब भारत में हमे अगले कुछ महीनों में लगभग 30 करोड़ आबादी के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करना है।

8. इस टीकाकरण अभियान में सबसे अहम उनकी पहचान और मॉनीटरिंग का है जिनको टीका लगाना है।

9. इसके लिए आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए को-विन नाम का एक डिजिटल प्लेटफॉर्म भी बनाया गया है।

10. भारत को टीकाकरण का जो अनुभव है, जो दूर-सुदूर क्षेत्रों तक पहुंचने की व्यवस्थाएं हैं वे कोरोना टीकाकरण में बहुत काम आने वाली हैं।

 सुप्रीम कोर्ट ने तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन से निबटने के तरीके पर सोमवार को केन्द्र को आड़े हाथ लिया और कहा कि किसानों के साथ उसकी बातचीत के तरीके से वहबहुत निराशहै। शीर्ष अदालत इस मामले में आज अपना फैसला सुना सकती है।प्रधान न्यायाधीश एस बोबडे, न्यायमूर्ति एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रामासुब्रमणियन की पीठ ने इस मामले की सुनवाई के दौरान अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए यहां तक संकेत दिया कि अगर सरकार इन कानूनों का अमल स्थगित नहीं करती है तो वह उन पर रोक लगा सकती है। पीठ ने कहा कि हम पहले ही सरकार को काफी वक्त दे चुके हैं।पीठ ने कहा कि मिस्टर अटॉर्नी जनरल, हम पहले ही आपको काफी समय दे चुके हैं, कृपया संयम के बारे में हमें भाषण मत दीजिए।सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ से कहा कि शीर्ष अदालत ने सरकार द्वारा इस स्थिति से निबटने के संबंध मेंकाफी सख्त टिप्पणियांकी हैं। इस पर पीठ ने कहा, 'हमारे यह कहना ही सबसे निरापद बात थी।'शीर्ष अदालत ने कहा कि इस मामले में कृषि कानूनों और किसानों के आंदोलन के संबंध में वह हिस्सों में आदेश पारित करेगी। पीठ ने पक्षकारों से कहा कि वे शीर्ष अदालत द्वारा गठित की जाने वाली पीठ के अध्यक्ष के लिये पूर्व प्रधान न्यायाधीश आर एम लोढा सहित 2-3 पूर्व प्रधान न्यायाधीशों के नामों का सुझाव दें।इस बीच, केंद्र की ओर से उच्चतम न्यायालय को बताया गया कि 'सीमित संख्या' में प्रदर्शनकारी किसानों के साथ बातचीत के गंभीर प्रयास किए गए। अदालत द्वारा इस मामले को सुलझाने के प्रयासों को लेकर निराशा जताए जाने के चलते कृषि मंत्रालय ने एक शपथपत्र दायर कर केंद्र की ओर से गतिरोध समाप्त करने के संबंध में की गई कोशिशों से अदालत को अवगत कराया गया।कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के सचिव संजय अग्रवाल की ओर से दायर शपथपत्र में कहा गया कि इसे केवल उन गलत धाराणाओं के चलते दायर किया गया, जिसमें प्रदर्शन स्थल पर मौजूद गैर-किसान तत्वों ने जानबूझकर पैदा किया है और इसके लिए मीडिया/सोशल मीडिया का सहारा लिया गया।इस बीच, केंद्र ने सोमवार को शीर्ष अदालत से 26 जनवरी को प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली अथवा किसी भी तरह के मार्च पर रोक लगाने के आदेश देने का अनुरोध किया।दिल्ली पुलिस के माध्यम से दायर एक आवेदन में केंद्र ने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों को प्रदर्शनकारियों के एक छोटे समूह अथवा संगठन द्वारा गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर रैली निकालने की योजना बनाई है।आवेदन में कहा गया, ' इस तरह के मार्च अथवा रैली के कारण गणतंत्र दिवस उत्सव में व्यवधान पैदा हो सकता है और कानून-व्यवस्था की स्थिति प्रभावित हो सकती है। ऐसे में शीर्ष अदालत से किसी भी तरह के मार्च, रैली अथवा वाहन रैली को रोकने के संबंध में अनुरोध किया जाता है।'तीन कृषि कानूनों को लेकर केन्द्र और किसान यूनियनों के बीच आठ दौर की बातचीत के बावजूद कोई रास्ता नहीं निकला है क्योंकि केन्द्र ने इन कानूनों को समाप्त करने की संभावना से इंकार कर दिया है जबकि किसान नेताओं का कहना है कि वे अंतिम सांस तक इसके लिए संघर्ष करने को तैयार हैं औरकानून वापसीके साथ ही उनकीघर वापसीहोगी।शीर्ष अदालत ने इससे पहले 12 अक्टूबर को इन कृषि कानूनों की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर केन्द्र को नोटिस जारी किया था।ये तीन कृषि कानून हैं- कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार, कानून, 2020, कृषक उत्पाद व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण) कानून, 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) कानून। राष्ट्रपति रामनाथ कोविद की संस्तुति मिलने के बाद से ही इन कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर किसान आन्दोलनरत हैं।

 अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ सोमवार को डेमोक्रैटिक पार्टी के 3 सांसदों ने महाभियोग प्रस्ताव पेश करते हुए उन पर पिछले सप्ताह कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद) में अपने समर्थकों को हिंसा भड़काने के लिए उकसाने का आरोप लगाया।यह प्रस्ताव सांसद जैमी रस्किन, डेविड सिसिलीन और टेड ल्यू लेकर आए हैं और इसका समर्थन अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के 211 सदस्यों ने किया है। इस प्रस्ताव में निवर्तमान राष्ट्रपति पर अपने कदमों के जरिए छह जनवरी कोराजद्रोह के लिए उकसानेका आरोप लगाया गया है।इसमें कहा गया है कि ट्रंप ने अपने समर्थकों को कैपिटल बिल्डिंग (संसद परिसर) की घेराबंदी के लिए तब उकसाया, जब वहां इलेक्टोरल कॉलेज के मतों की गिनती चल रही थी और लोगों के धावा बोलने की वजह से यह प्रक्रिया बाधित हुई। इस घटना में एक पुलिस अधिकारी समेत पांच लोगों की मौत हो गई।इससे पहले रिपब्लिकन सांसदों ने सोमवार को सदन में डेमोक्रैटिक सदस्यों के उस अनुरोध को खारिज कर दिया था, जिसमें ट्रंप को राष्ट्रपति पद से जल्द हटाने के वास्ते उपराष्ट्रपति पेंस से 25वें संशोधन को लागू करने के आह्वान पर सर्वसम्मति की मांग की गई थी।

अपनी ओजपूर्ण वाणी से युवाओं के मार्गदर्शक बने स्वामी विवेकानंद की आज जयंती है। उनके जन्मदिन को पूरा राष्ट्र 'राष्ट्रीय युवा दिवस' के रूप में मनाता है।

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक सड़क दुर्घटना में घायल। पत्नी और निजी सहायक की मौत। नाइक का गोवा के अस्पताल में चल रहा इलाज।

10 राज्यों में हुई बर्ड फ्लू की पुष्टि। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- सतर्क रहें राज्य। वहीं, पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने मुर्गा मंडियां बंद करने की अपील। बोले- अच्छी तरह से पका चिकन खाने में कोई खतरा नहीं।

कोरोना टीकाकरण के लिए आधार से मोबाइल नंबर लिंक करना अनिवार्य। केंद्र ने सभी राज्यों को दिया निर्देश। लिंक करने के लिए लगाया जा सकता है सरकारी कैंप।

यूपी सरकार ने बनाया किराएदारों से जुड़ा नया कानून। अब मनमाने ढंग से किराया नहीं बढ़ा सकेंगे मकान मालिक। सालाना 5 से 7 फीसदी तक ही बढ़ोतरी की इजाजत।

बढ़त के साथ खुले एशियाई बाजार। यूरोपीय बाजारों में गिरावट का रुख। सोमवार को रेकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुए थे सेंसेक्स और निफ्टी।

केरल, राजस्थान, MP, हिमाचल, हरियाणा, गुजरात और UP के बाद अब दिल्ली, उत्तराखंड और महाराष्ट्र समेत दस राज्यों में बर्ड फ्लू की पुष्टि। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से लाइव बर्ड मार्केट, चिड़ियाघरों और पोल्ट्री फॉर्मो की निगरानी बढ़ाने की अपील।

आम आदमी पार्टी (BJP) के विधायक सोमनाथ भारती के उत्तर प्रदेश में पुलिस के साथ नोंक-झोंक करते हुए वीडियो सामने रहे हैं। इसमें वो उन्हें धमका रहे हैं।'आपकी वर्दी उतरवाएंगे हम, पहचान रहे हैं आपको'; सोमनाथ भारती ने पुलिस को धमकाया, CM योगी के लिए भी कहे अपशब्द. आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक सोमनाथ भारती को अमेठी में गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके एक बयान को लेकर उन पर कार्रवाई की गई है। इससे पहले रायबरेली में उन पर एक शख्स ने स्याही फेंकी।

केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक का एक्सीडेंट हो गया है। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं इस दुर्घटना में उनकी पत्नी और सहयोगी का निधन हो गया है।

भारत से तनाव के बीच चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा से अपने 10 हजार जवानों को हटा लिए हैं, इसके पीछे अत्याधिक ठंड का मौसम बताया जा रहा है।

देश में जारी कोरोना संकट के बीच मुंबई से एक अलग ही खबर सामने आई है बताया जा रहा है कि मुंबई शहर से बाहर तीन कोरोना मरीज मिले, जिनमें दक्षिण अफ्रीका के कोरोना म्यूटेशन की तरह ही म्यूटेशन पाया गया है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) में आज शाम तेज तीव्रता वाला भूकंप आया। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.1 रिकॉर्ड की गई है।

पोप फ्रांसिस ने गिरजाघर के नियमों में बदलाव किए हैं, ताकि महिलाओं को विशेष तौर पर प्रार्थना के दौरान और कार्य करने की अनुमति होगी लेकिन कहा कि वे पादरी नहीं बन सकती हैं।फ्रांसिस ने कानून में संशोधन कर दुनिया के अधिकतर हिस्सों में चल रही प्रथा को औपचारिक रूप दिया कि महिलाएं इंजील (गोस्पेल) पढ़ सकती हैं और वेदी पर युकरिस्ट मंत्री के तौर पर सेवा दे सकती हैं। पहले इस तरह की भूमिकाएं आधिकारिक रूप से पुरुषों के लिए आरक्षित होती थीं, हालांकि इसके कुछ अपवाद भी थे।फ्रांसिस ने कहा कि गिरजाघरों में महिलाओं के अमूल्य योगदान को मान्यता देने के तौर पर ये बदलाव किए गए हैं। साथ ही कहा कि सभी बैपटिस्ट कैथोलिकों को गिरजाघर के मिशन में भूमिका निभानी होगी।

पिछले 24 घंटों के दौरान पंजाब, हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, उत्तरी राजस्थान और उत्तर-पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कोल्ड डे की स्थिति देखने को मिली।दक्षिणी प्रायद्वीप पर तमिलनाडु और केरल में व्यापक बारिश जारी है। बीते 24 घंटों के दौरान तमिलनाडु और केरल के कई इलाकों में हल्की से मध्यम और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई।बंगाल की खाड़ी में स्थित केंद्र शासित प्रदेश अंडमान निकोबार द्वीपसमूह तथा अरब सागर में स्थित केंद्र शासित राज्य लक्षद्वीप के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बौछारें दर्ज की गईं।दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक के भी कुछ इलाकों में हल्की वर्षा की गतिविधियां देखने को मिलीं। देश के बाकी हिस्सों में मौसम मुख्यतः साफ़ और शुष्क बना रहा।

अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर-पश्चिम भारत के साथ-साथ गंगा के समूचे मैदानी इलाकों में उत्तर-पश्चिमी दिशा से बर्फीली हवाओं का प्रवाह निरंतर जारी रहेगा। ठंडी हवाओं के चलते साफ मौसम के बावजूद पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई शहरों में तापमान में भारी गिरावट बनी रहेगी और दिन में शीतलहर जैसी स्थितियाँ जारी रहेंगी।उत्तर-पश्चिम भारत के साथ-साथ अब ठंडी हवाओं का प्रभाव मध्य तथा पूर्वी भारत में भी दिखेगा जिससे मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड में भी तापमान में कमी होगी।



SC pulls up Centre, says extremely disappointed with negotiation process between govt & farmers

Fight To Remember: Vihari, Ashwin pull off memorable draw after Pant pyrotechnics

Four passengers on Air India's London-Delhi flight test positive for COVID-19

Sedition case: HC extends relief to Kangana till Jan 25

No. Of people testing positive for UK variant of coronavirus climbs to 96 in India: Govt

HC extends relief to Sonu Sood in 'illegal' construction case

Union Minister Sripad Naik injured in road mishap, wife killed

AAP MLA Somnath Bharti arrested in UP, youth hurls ink at him

India's COVID-19 caseload rises to 1,04,66,595 with 16,311 fresh infections

Bird flu confirmed in Delhi, all 8 samples sent to Bhopal lab tested positive: Officials

Modi urges youngsters to join Startup India international summit

AI flight with all-woman crew from San Francisco lands in Bengaluru

Rajinikanth says 'no' to politics again

India returns captured PLA soldier to China

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप