मायावती को बड़ा झटका,योगेश वर्मा उनकी पत्नी सुनीता वर्मा मेरठ की महापौर , समाजवादी पार्टी में शामिल

 

देश में चल रहा दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान। पीएम नरेंद्र मोदी ने की शुरुआत। संबोधन के दौरान हुए भावुक। वहीं, कांग्रेस ने सवाल उठाया कि टीका भरोसेमंद है तो पहले सरकार के लोग क्यों नहीं लगवा रहे। उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर से भाजपा के लोकसभा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा शनिवार को कैलाश अस्पताल में एक चिकित्सक के रूप में कोविड वैक्सीन लेने वाले पहले जनप्रतिनिधि बन गए हैं. जिन लोगों को कोवैक्सीन लगाई गई है उनसे सहमति पत्र पर भरवाए गए हैं जिसमें जिक्र है कि अगर किसी तरह की गंभीर स्वास्थ्य समस्या सामने आती है तो हर्जाना दिया जाएगा। एम्स में टीकाकरण अभियान की शुरुआत पर अस्पताल के एक सफाई कर्मी मनीष कुमार को स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की उपस्थिति में कोविड-19 का पहला टीका लगाया गया। वैक्सीनेशन अभियान के पहले दिन 1,65,714  लोगों को वैक्सीन की खुराक दी गई। समाजवादी पार्टी के सांसद शफ़ीकुर्रहमान बर्क ने वैक्सीन पर उठाए सवाल उनका कहना है कि वैक्सीन पहली बार रही है अभी देखा समझा है, हमारे उलेमाओं ने पहले भी बयान जारी करके कहा था की वैक्सीन मे कुछ गड़बड़ है।

NIA ने किसान आंदोलन से जुड़े करीब 100 लोगों को भेजा समन। किसान नेताओं के अलावा कलाकार, ट्रांसपोर्टर और जत्थेदार भी जांच एजेंसी के निशाने पर। फंडिंग से लेकर खालिस्तानी संगठनों से लिंक जैसे आरोपों के बारे में होगी पूछताछ।

भारत बायोटेक का बड़ा ऐलान। कोवैक्सीन से साइड इफेक्ट हुआ, तो मुआवजा देगी कंपनी। वहीं, महाराष्ट्र में कोविन ऐप में आई खराबी। 18 जनवरी तक रोका गया टीकाकरण अभियान।

समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान को बड़ा झटका। यूपी सरकार के नाम की जाएगी जौहर यूनिवर्सिटी की 70 हेक्टेयर जमीन। करार की शर्तों का उल्लंघन होने के बाद प्रशासन ने लिया एक्शन। समाजवादी सरकार में जौहर ट्रस्ट के नाम पर खरीदी गई थी जमीन।

पीएम केयर्स फंड को लेकर 100 पूर्व नौकरशाहों ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा खत। राहत कोष से जुड़ी जानकारी सार्वजनिक करने की मांग। उधर, यूपी में पंचायत चुनाव से पहले 15 आईएएस अफसरों का तबदला।

ब्रिस्बेन टेस्ट में भारत की स्थिति कमजोर। 118 रन पर गंवाए तीन विकेट। पहली पारी के आधार पर अभी भी मेजबानों से 251 रन पीछे। मैच पर बारिश का भी साया।

वैक्सीन लगवाने के बाद सर्टिफिकेट लेना जरूरी। ट्रैवल के दौरान कानून दस्तावेज के रूप में करेगा काम। दूसरे डोज की तारीख भी दिलाएगा याद।

पंजाब नैशनल बैंक ने दी डोरस्टेप बैंकिंग की सुविधा। घर बैठे पैसे निकाल और जमा कर सकेंगे ग्राहक। सर्विस चार्ज के रूप में देने होंगे 75 रुपए।

बर्ड फ्लू का वायरस 11 राज्यों में फैला। दिल्ली के चिड़ियाघर में सामने आया पहला केस। पंजाब में भी आशंका पर सैंपल लिया गया। छत्तीसगढ़ में दफनाई गईं 11 हज़ार मुर्गियां।

टीआरपी घोटाले में आरोपी रेटिंग एजेंसी बार्क के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता की तबीयत खराब। मुंबई के जेजे हॉस्पिटल में आईसीयू में एडमिट। पार्थो और रिपब्लिक टीवी के अर्नब गोस्वामी की वट्सऐप चैट सोशल मीडिया पर

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गलवान में भारतीय जवानों का शौर्य देश के मस्तक को और ऊंचा करता है। भारतीय फौज और राजशक्ति किसी भी तरह का मुकाबला करने के लिए तैयार है।

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए सबसे बड़ा चंदा अभियान शुरू हो गया है। इसके लिए देशभर में विश्व हिंदू परिषद तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की करीब सवा लाख से अधिक टोलियां चंदा एकत्र करेंगी। ये टोलियां लोगों के घर-घर जाकर चंदा एकत्र कर रही हैं। मंदिर निर्माण के लिए योगी ने दिया 2 लाख का चैक

वोडाफोन आइडिया का 699 रुपए वाला प्रीपेड प्लान यूजर्स को हर रोज 4 जीबी डेटा दे रहा है। वीआई का ये प्लान जियो और एयरटेल के प्लान्स की तुलना में बेहतरीन है।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को गुजरात के केवडिया में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को जोड़ने वाली आठ ट्रेनों को सुबह 11 बजे हरी झंडी दिखाएंगे।इन ट्रेनों के शुरू होने से वाराणसी, दादर, अहमदाबाद, हजरत निजामुद्दीन, रीवा, चेन्नई और प्रतापनगर केवड़िया (स्टैच्यू ऑफ यूनिटी) से सीधे जुड़ जाएंगे।इन शहरों के साथ ही जिन स्टेशनों से होकर यह ट्रेन गुजरेगी वहां के यात्रियों को भी इसका फायदा मिलेगा। रेल मार्ग से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से जुड़ने से पर्यटकों के लिए यहां जाना बेहद आसान हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि केवड़िया रेलवे स्टेशन नई सुविधाओं से लैस है। यह देश का पहला ग्रीन बिल्डिंग सर्टिफिकेट वाला रेलवे स्टेशन है।

क्रुणाल और हार्दिक पांड्या के पिता का शनिवार को दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हो गया। क्रुणाल ने अपने परिवार के साथ रहने के लिए बड़ौदा बायो-बबल छोड़ दिया है।

संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में विभिन्न प्रकार की कमेटिया होती हैं और इनमें विभिन्न देशों के प्रतिनिधि शामिल रहते हैं। इस बीच हाल में यूएन की अलग-अलग कमेटियां गठित हुई हैं और इनमें से तीन कमेटियों की अध्यक्षता करने का अवसर भारत को मिला है।

यूपी में अगले साल साल होने वाले चुनाव से पहले पीएम मोदी ने 'मिशन यूपी' के लिए अपने एक खास सिपाहसलार को भेजा है। यह वह शख्स हैं पूर्व नौकरशाह अरविंद कुमार शर्मा,  जिन्हें मोदी की 'आंख और कान' तक कहा जाता है।

उत्तर प्रदेश में पहले दिन 22,643 को कोविड का टीका लगाया गया. हालांकि 317 केंद्रों पर 31,700 को वैक्सीनशन कराना था.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती को बड़ा झटका लगा है. पश्चिमी यूपी में बसपा के बड़े माने जाने वाले योगेश वर्मा के साथ उनकी पत्नी सुनीता वर्मा मेरठ की महापौर ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. उनके साथ अन्य कई नेता समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए.

उत्तर प्रदेश सरकार युवाओं को नशे की लत से छुटकारा दिलाने के लिए तेजी से कार्य कर रही है. मादक पदार्थों के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों का प्रचार-प्रसार किया जा रहा. नशा मुक्ति केन्द्रों के माध्यम से व्यसनियों को जागरूक नि:शुल्क उपचार की सुविधा दी जा रही है.

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश में कोरोना टीकाकरण कार्य शनिवार से शुरू हो गया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बलरामपुर अस्पताल में टीकाकरण कार्य का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर कुछ निहित स्वार्थी लोग अफवाह फैलाने का काम कर रहे हैं. उनसे सतर्क रहने की जरूरत है.

अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन के शपथ समारोह के बाद पहले दस दिनों का एक्शन प्लान तैयार किया है। इन 10 दिनों में वह कोरोना वायरस संकट, आर्थिक चुनौतियों, नस्लीय भेदभाव तथा जलवायु परिवर्तन सहित कई आदेशों पर हस्ताक्षर कर सकते हैं।बिडेन कार्यालय के नए चीफ ऑफ स्टाफ रॉन क्लैन ने कहा कि निर्वाचित राष्ट्रपति कोरोना वायरस संकट, आर्थिक चुनौतियों, नस्लीय भेदभाव तथा जलवायु परिवर्तन सहित कई प्रारंभिक कार्रवाइयों को दस दिन की अवधि में पूरा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के शपथ समारोह बाद पहले दस दिनों में चार प्रमुख समस्याओं सहित कई कार्रवाई के आदेश पर हस्ताक्षर करेंगे, वह आव्रजन प्रणाली की बहाली और लोगों के सरकारी कार्यो को करेंगे। उन्होंने कहा कि 22 जनवरी को बिडेन द्वारा मंत्रिमंडल को अमेरिकी नागरिको के लिए आर्थिक राहत निर्देश दिए जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि 25 जनवरी से एक फरवरी के बीच बिडेन आपराधिक न्याय प्रणाली में सुधार और जलवायु संकट से संबंधित प्रक्रिया के अतिरिक्त कार्यकारी कार्यों पर हस्ताक्षर करने की उम्मीद है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ शुरू किए गए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को भारत में अग्रिम पंक्ति के लगभग 2 लाख स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई। इसके साथ ही दुनियाभर में 10 महीनों में लाखों जिंदगियों और रोजगार को लील लेने वाली इस महामारी के भारत में खात्मे की उम्मीद जगी है।भारत में करीब एक करोड़ लोगों के संक्रमित होने और 1,52,093 लोगों की मौत के बाद देश नेकोविशील्डऔरकोवैक्सीनटीके के साथ महामारी को मात देने के लिए पहला कदम उठाया है और देशभर के स्वास्थ्य केंद्रों पर आज टीकाकरण किया गया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि भारत में टीकाकरण के पहले दिन 3,352 केंद्रों पर 1,91,181 स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई।स्वास्थ्यकर्मियों के साथ-साथ एम्स दिल्ली के निदेशक रणदीप गुलेरिया, नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल, भाजपा सांसद महेश शर्मा और पश्चिम बंगाल के मंत्री निर्मल माजी उन लोगों में शामिल हैं जिन्हें टीके की पहली खुराक दी गई।पॉल कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए चिकित्सा उपकरण एवं प्रबंधन को लेकर गठित अधिकार समूह के प्रमुख भी हैं। अभियान की शुरुआत से पहले राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि टीके की दो खुराक लेनी बहुत जरूरी हैं और इन दोनों के बीच लगभग एक महीने का अंतर होना चाहिए।उन्होंने टीका लेने के बाद भी लोगों से कोरोना संबंधी सभी दिशा-निर्देशों का पालन करने का आग्रह किया और दवाई भी, कड़ाई भी का मंत्र दिया। प्रधानमंत्री ने लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों केमेड इन इंडियाटीकों की सुरक्षा के प्रति आश्वस्त होने के बाद ही इसके उपयोग की अनुमति दी गई है। मोदी ने कहा कि टीका देश में कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में निर्णायक जीत सुनिश्चित करेगा।अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री उस वक्त भावुक हो गए जब उन्होंने कोरोना संक्रमण काल के दौरान लोगों को हुई तकलीफों, अपने प्रियजनों को खोने और यहां तक कि उनके अंतिम संस्कार तक में शामिल हो पाने के दर्द का जिक्र किया।रुंधे गले से प्रधानमंत्री ने महामारी के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों और संक्रमण के जोखिम की आशंका वाले मोर्चे पर तैनात कर्मचारियों की कुर्बानियों को याद किया जिनमें से सैकड़ों की संक्रमण की वजह से मौत हो गई। प्रधानमंत्री ने कहा, हमारा टीकाकरण कार्यक्रम मानवता की चिंता से प्रेरित है, जिन लोगों को सबसे अधिक खतरा है उन्हें प्राथमिकता मिलेगी। मोदी ने भरोसा व्यक्त करते हुए कहा कि सामान्य तौर पर टीका विकसित करने में वर्षों लग जाते हैं लेकिन भारत ने दोमेड इन इंडियाटीके तैयार किए और तेजी से अन्य टीकों पर भी काम कर रहा है। उल्लेखनीय है कि पूरे भारत में बड़े पैमाने पर टीकाकरण का रास्ता साफ करते हुए भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने इस महीने की शुरुआत में ऑक्सफोर्ड /एस्ट्रेजेनेका द्वारा विकसित और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मितकोविशील्डएवं भारत बायोटेक द्वारा विकसित स्वदेशीकोवैक्सीनटीके के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी थी।कोविड-19 से बचाव के लिए टीके की खुराक सबसे पहले अनुमानित एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को और इसके बाद दो करोड़ अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले कर्मियों को दी जाएगी। इसके बाद 50 साल से अधिक उम्र वालों एवं अन्य बीमारियों से ग्रस्त 27 करोड़ लोगों का टीकाकरण करने की योजना है।अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान की शुरुआत पर अस्पताल के एक सफाईकर्मी मनीष कुमार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की उपस्थिति में कोविड​​-19 का पहला टीका लगाया गया। इसके साथ ही मनीष देश की राजधानी में टीका लगवाने वाले पहले शख्स बन गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि दोनों टीके- भारत बायोटेक के स्वदेशी कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका के कोविशील्ड, इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एक 'संजीवनी' हैं। टीका अभियान की शुरुआत के बाद हर्षवर्धन ने कहा, ये टीके महामारी के खिलाफ लड़ाई में हमारी 'संजीवनी' हैं। हमने पोलियो के खिलाफ लड़ाई जीती है और अब हम कोविड के खिलाफ युद्ध जीतने के निर्णायक चरण में पहुंच गए हैं।हर्षवर्धन ने कहा कि मैं इस अवसर पर सभी फ्रंटलाइन कर्मियों को बधाई देता हूं।पूरे देश में टीकाकरण अभियान की शुरुआत पर उत्सव जैसा माहौल रहा। कई अस्पतालों और चिकित्सा केंद्रों को फूलों और गुब्बारों से सजाया गया था। कई स्थानों पर टीकाकरण से पहले प्रार्थना की गई।पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता स्थित एक निजी अस्पताल की डॉक्टर बिपाशा सेठ ने कहा, यह मानवता के लिए महान दिन है, सबसे पहले टीके की खुराक मिलने से विशेष तौर पर गर्वित महसूस कर रही हूं। बता दें कि उन्हें पश्चिम बंगाल में सबसे पहले खुराक दी गई।पश्चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फरहाद हकीम ने कहा, आज हमारे लिए एक बड़ा दिन है। ऐसा लगता है कि हम धीरे-धीरे महामारी से बाहर रहे हैं, जिसने इतने सारे लोगों की जान ली है। हम पिछले एक साल से संकट की स्थिति में थे। आज से, हम फिर से अपना नया जीवन शुरू करेंगे। गुजरात के 161 केन्द्रों में टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। सबसे पहले राजकोट के एक मेडिकल वाहन चालक तथा कुछ डॉक्टरों को टीके की खुराक दी गई।राजकोट में मेडिकल वैन चलाने वाले और कोविड-19 से बचाव के लिए टीके की पहली खुराक पाने वालों में शामिल अशोक भाई ने कहा, यह मेरे लिए सम्मान की बात है कि राजकोट के इस केंद्र में मुझे टीके की पहली खुराक देने के लिए चुना गया। मुझे कोई आशंका नहीं है।भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (एमसीआई) के पूर्व अध्यक्ष डॉक्टर केतन देसाई अहमदाबाद में सिविल अस्पताल में टीका लगवाने वाले दूसरे व्यक्ति बने। उन्होंने कहा, किसी को भी टीके के दुष्प्रभाव के बारे में भयभीत नहीं होना चाहिए क्योंकि यह खुराक कई परीक्षण से गुजरने और विशेषज्ञों द्वारा सत्यापित करने के बाद दी जा रही है।अहमदाबाद सिविल अस्पताल में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी तथा उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल की मौजूदगी में डॉक्टरों को टीकों की पहली खुराक दी गई। महाराष्ट्र में शनिवार को देश के शेष भाग के साथ ही टीकाकरण अभियान शुरू हो गया।मुंबई में जेजे अस्पताल के डीन डॉक्टर रंजीत मानकेश्वर तथा जालना सिविल अस्पताल की डॉक्टर पद्मजा सराफ सबसे पहले टीका लगवाने वालों में शामिल रहे। गोवा में जीएमसीएच के कर्मचारी रंगनाथ भोज्जे को शनिवार को सबसे पहले कोरोनावायरस का टीका लगाया गया। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर तथा गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत उस समय जीएमसीएच अस्पताल में मौजूद थे, जब भोज्जे को टीका लगाया गया। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सबसे पहले एक स्वच्छताकर्मी को टीका लगाकर प्रदेश में इसकी शुरूआत की गई। प्रदेश में टीकाकरण केन्द्र पर टीका लगवाने वालों का जहां फूलों से स्वागत किया गया, वहीं ग्वालियर में डॉक्टरों ने हनुमान मंदिर में पूजा-अर्चना कर इसकी शुरुआत की।छत्तीसगढ़ में 51 वर्षीय सफाईकर्मी तुलसा टांडी राज्य में कोविड-19 से बचाव का टीका लगवाने वाले पहले व्यक्ति बने। राज्य में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक प्रियंका शुक्ला ने कहा, तुलसा टांडी रायपुर स्थित डॉ. बीआर अंबेडकर स्मारक अस्पताल में वर्ष 2008 से सफाईकर्मी के पद पर कार्यरत हैं और वह पहले व्यक्ति बने जिन्हें राज्य में कोविड-19 टीके की खुराक दी गई है।तमिलनाडु में भी 166 केंद्रों पर टीकाकरण हुआ और यहां के सरकारी अस्पताल में कार्यरत डॉक्टर राज्य में कोविड-19 का टीका प्राप्त करने वाले पहले व्यक्ति बने। तेलंगाना में हैदराबाद स्थित अस्पताल में महिला सफाईकर्मी कोविड-19 से बचाव का टीका लगवाने वाली पहली व्यक्ति बनीं, उन्हें तालियों की गड़गड़ाहट के बीच टीका लगाया गया।केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी और तेलंगाना के स्वास्थ्य मंत्री राजेंदर ने यहां गांधी अस्पताल में औपचारिक रूप से टीकाकरण की शुरुआत की। केरल में भी 133 केंद्रों पर टीकाकरण शुरू हुआ और टीका प्राप्त करने वालों में प्रमुख सरकारी डॉक्टर और अग्रिम मोर्चे पर कार्य करने वाले कर्मी रहे। कर्नाटक में भी 243 स्थानों पर टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई जिनमें से 10 केंद्र बेंगलुरु में हैं।बेंगलुरु स्थित विक्टोरिया अस्पताल में कार्यरत वार्ड अटेंडेंट 28 वर्षीय नागरत्न राज्य में कोविड-19 से बचाव का टीका लगाने वाले पहले व्यक्ति बने। इस मौके पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर बेंगलोर मेडिकल कॉलेज में मौजूद रहे।इसके साथ ही 3,000 से अधिक सैन्य स्वास्थ्यकर्मियों को भी आज टीके की पहली खुराक दी गई। सूत्रों ने बताया कि लद्दाख और कश्मीर सहित पूरे भारत में भारतीय सेना के 3,129 स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया गया।गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर कार्यरत कर्मियों के टीकाकरण पर आने वाले खर्च को केंद्र सरकार वहन करेगी।

दक्षिण भारत के भागों में हो रही बारिश में कमी आई है। हालांकि बीते 24 घंटों के दौरान दक्षिणी तमिलनाडु में कई जगहों पर हल्की से मध्यम और कुछ स्थानों पर मूसलाधार वर्षा हुई है। तूतीकोरिन में 298 मिलीमीटर की भीषण बारिश 24 घंटों की अवधि में दर्ज की गई।आंतरिक तमिलनाडु और लक्षद्वीप क्षेत्र में भी हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं पर तेज़ वर्षा हुई। केरल में हल्की बारिश हुई।उत्तर भारत में पंजाब से लेकर हरियाणा, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उप हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, त्रिपुरा और ओडिशा तक मध्यम से घना कोहरा छाया रहा।पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में कोल्ड डे की स्थिति बनी रही। उत्तरी राजस्थान में भी एक-दो स्थानों पर दिन में शीतलहर जैसे हालत रहे।

आगामी 24 घंटों के दौरान केरल और तमिलनाडु में बारिश की गतिविधियां काफी कम हो जाएंगी। जबकि लक्षद्वीप पर कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश आगामी 24 से 48 घंटों तक जारी रहने की संभावना है।पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार और उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में अगले 24 घंटों के दौरान कई स्थानों पर कोल्ड डे की स्थिति रहने की उम्मीद है। 24 घंटों के बाद दिन के तापमान में हल्की वृद्धि होगी जिससे भीषण सर्दी से कुछ राहत मिलेगी।उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में मामूली गिरावट आने की संभावना है। पंजाब से लेकर हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार और पूर्वोत्तर भारत के राज्यों में कई जगहों पर मध्यम से घना कोहरा 17 जनवरी को भी छाए रहने के आसार हैं।



COVID-19 vaccination begins in Noida, Mahesh Sharma among first MPs to get jab

Sanitation worker in AIIMS first person in Delhi to get COVID-19 vaccination

Sanitation worker in AIIMS first person in Delhi to get COVID-19 vaccination

COVID-19 vaccination begins in Delhi, healthcare workers get first shots

Bird flu: Over 2,000 birds to be culled in 2 districts in Maha

At Mumbai hospital, health workers cheer as vaccines arrive

India records 15,158 fresh COVID-19 cases, 175 more deaths

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित