कश्मीरी पंडितों की वापसी का माहौल क्यों नहीं

 

सरकार और किसान संगठनों के बीच आज होने वाली वार्ता टली। अब बुधवार को होगी मीटिंग, उसी दिन मामले की सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई। इस बीच नए कृषि कानूनों पर बनी कमिटी की पहली बैठक आज।

देश में सोमवार को वैश्विक महामारी कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए मामलों की संख्या 10 हजार से कम हो गई है। इसके साथ ही राहत की बात यह भी रही कि इस दौरान देश में सक्रिय मामलों की संख्या भी 2 लाख के नीचे पहुंच गई है।

31 सालों से अपने ही देश में निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे लाखों कश्मीरी विस्थापितों का यह दुर्भाग्य है कि उनकी कश्मीर वापसी प्रत्येक सरकार की प्राथमिकता तो रही है, लेकिन कोई भी सरकार फिलहाल उनकी वापसी के लिए माहौल तैयार नहीं कर पाई है। वर्तमान सरकार के साथ भी ऐसा ही है जिसका कहना है कि कश्मीर में सुरक्षा हालात फिलहाल ऐसे नहीं हैं कि कश्मीरी विस्थापितों को वापस लौटाया जा सके।1989 के शुरू में आतंकी हिंसा में तेजी ने कश्मीरी पंडितों को कश्मीर घाटी का त्याग करने पर मजबूर कर दिया। सरकारी आंकड़ों के बकौल, पिछले 31 सालों में हजारों परिवारों के तकरीबन 3.5 लाख सदस्यों ने कश्मीर को छोड़ दिया। हालांकि अभी तक सभी सरकारें यही कहती आई थीं कि कश्मीरी पंडितों ने आतंकियों द्वारा खदेड़े जाने पर कश्मीर को छोड़ा था तो मुफ्ती मुहम्मद सईद की सरकार ऐसा नहीं मानती थी जिसके साझा न्यूनतम कार्यक्रम में कश्मीरी विस्थापितों की वापसी प्राथमिकता पर तो थी। लेकिन इस सरकार ने कई सालों के अरसे के बाद नया शगूफा छोड़ा था कि कश्मीरी पंडित अपनी मर्जी से कश्मीर से गए थे और किसी ने उन्हें नहीं निकाला था।

31 साल पहले कश्मीरी पंडितों ने कश्मीर का त्याग आप किया या फिर आतंकियों ने उन्हें खदेड़ा था, यह बहस का विषय है लेकिन वर्तमान परिप्रेक्ष्य में सबसे अहम प्रश्न यह है कि दावों के बावजूद कश्मीरी पंडितों की वापसी का माहौल क्यों नहीं बन पा रहा है। वर्तमान केंद्र सरकार के दावों पर जाएं तो कश्मीर का माहौल बदला है। फिजां में बारूदी गंध की जगह केसर क्यारियों की खुशबू ने ली है। पर बावजूद इसके कश्मीर की कश्मीरियत का अहम हिस्सा समझे जाने वाले कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए माहौल नहीं है। ऐसा प्रदेश और केंद्र सरकारों के दस्तावेज भी कहते हैं।ऐसा माहौल 31 सालों के बाद भी क्यों नहीं बन पाया है कहीं से कोई जवाब नहीं मिलता। प्रशासन के मुताबिक सबसे बड़ा मुद्दा सुरक्षा का है तो प्रशासन कहता है कि कश्मीरी विस्थापितों की वापसी तभी संभव हो पाएगी जब उनके जल और टूट-फूट चुके घरों की मरम्मत होगी। प्रशासन को इसके लिए कई सौ करोड़ रूपयों की जरूरत है। यह रुपया कहां से आएगा कोई नहीं जानता। यूं तो केंद्र सरकार भी कश्मीरी पंडितों की वापसी के लिए हरसंभव सहायता प्रदान करने को तैयार रहने का दावा करता रहा है पर रुपयों की बात आती थी तो केंद्र की प्रत्येक सरकार ने हमेशा ही चुप्पी साधी है, इन बरसों में। वर्तमान प्रशासन के कई अधिकारी भी इसे स्वीकारते हैं कि कश्मीरी विस्थापितों की वापसी के लिए पहले जमीनी वास्तविकताओं का सामना करना होगा, जिनमें उनके वापस लौटने पर उनके रहने और फिर उनकी सुरक्षा का प्रबंध करना भी कठिन कार्य है। वैसे भी ये मुद्दे कितने उलझे हुए हैं यह इसी से स्पष्ट है कि विस्थापितों की वापसी को आसान समझने वाले अपने सुरक्षा प्रबंध पुख्ता नहीं कर पा रहे हैं तो साढ़े तीन लाख लोगों को क्या सुरक्षा दे पाएंगे वे कोई उत्तर नहीं देते।कश्मीरी विस्थापित अपने खंडहर बन चुके घरों में लौटेंगे या नहीं, अगर लौटेंगे तो कब तक लौट पाएंगे इन प्रश्नों के उत्तर तो समय ही दे सकेगा मगर इस समय इन विस्थापितों के समक्ष सबसे बड़ा प्रश्न वापसी और सम्मानजनक वापसी का है। ऐसा भी नहीं है कि वे कश्मीर में वापस लौटने के इच्छुक न हों मगर उन्हें सम्मानजनक वापसी, अस्तित्व की रक्षा और पुनः अपनी मातृभूमि से पलायन करने की नौबत नहीं आएगी जैसे मामलों पर गारंटी और आश्वासन कौन देगा। अगर वे लौटेंगें तो रहेंगे कहां जैसे प्रश्नों से वे 31 सालों से जूझ रहे हैं।



उत्तरप्रदेश के सहारनपुर में थाना सरसावा के अंतर्गत पिलखनी में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव आईएस लव कुमार अग्रवाल के छोटे भाई अंकुर अग्रवाल का शव मिलने से हड़कंप मच गया। जानकारी मिलते ही पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है।

मेरठ। थाना दौराला के रूहासा गांव में दबिश देने गई पुलिस टीम पर जमकर पथराव और लाठी-डंडे बरसाए गए। गौकशी के आरोपी में फरार एक युवक की तलाश में जब पुलिस गांव में पहुंची तो महिलाओं ने मोर्चा लेते हुए पुलिस पर पथराव कर दिया।

यूपी और कर्नाटक में टीका लगने के बाद हुई मौत पर सरकार ने दी सफाई। कहा- दिल का दौरा पड़ने से हुई दोनों मौतें, वैक्सीन से जोड़कर देखना ग़लत। दूसरी ओर कई राज्यों में भारत बायोटेक का टीका लगवाने में झिझक रहे लोग।

जो बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में हिंसा की आशंका। खुफिया एजेंसियों के अनुसार, सुरक्षा टीम का ही कोई शख्स कर सकता है हमला। वॉशिंगटन डीसी पहुंचे 25 हजार नैशनल गार्ड्स की हो रही विशेष जांच। इस बीच अपने कार्यकाल के अंतिम दिन करीब 100 लोगों माफी दे सकते हैं डॉनल्ड ट्रंप।

वेब सीरीज तांडव पर मचे बवाल के बाद निर्माताओं ने मांगी माफी। बीजेपी नेताओं समेत बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने भी जताई थी आपत्ति। कांग्रेस ने कहा, ओटीटी कंटेंट को नियमों के दायरे में लाना जरूरी।

उत्तरप्रदेश के गन्ना किसानों को अब चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि गन्ना किसानों के लिए अब योगी सरकार राहत देने की दिशा में कार्य कर रही है और सब कुछ ठीक रहा तो फरवरी 2020 महीने के दूसरे सप्ताह में उत्तर प्रदेश में 'गुड़ महोत्सव' का आयोजन

ट्रेनों में जल्द ही खाने की सुविधा दोबारा शुरू करेगा IRCTC रेलवे बोर्ड ने दी मंजूरी। कोरोना की वजह से बंद कर दी गई थी खानपान सेवा।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने शुरू की डोर स्टेप बैंकिंग। घर बैठे कर सकेंगे जमा और निकासी। अभी चुनिंदा ब्रांच पर ही उपलब्ध है सर्विस।

बढ़त के साथ खुले एशियाई बाजार। यूरोपीय बाजारों में नरमी। अमेरिकी बाजारों में गिरावट का रुख।

अयोध्या में भव्य एवं दिव्य राम मंदिर निर्माण में योगदान के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह भी आगे आए हैं। सिंह ने राम मंदिर के लिए 1,11,111 रुपए का दान दिया है। केंद्र सरकार ने किसान संगठनों के साथ 20 जनवरी को होने वाली अपनी बातचीत स्थगित कर दी है। दिल्ली में गणतंत्र दिवस की तैयारी जोरों पर है। इस बार राफेल लड़ाकू विमान रिपब्लिक डे परेड का हिस्सा बनेंगे। ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच निर्णायक टेस्ट अपने अंतिम दौर में है।

भारतीय वायुसेना में हाल ही में शामिल राफेल लड़ाकू विमान 26 जनवरी को भारत की गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगा और फ्लाईपास्ट का समापन इस विमान केवर्टिकल चार्ली फार्मेशनमें उड़ान भरने से होगा।

साल के पहले महीने का 19वां दिन भारत के राजनीतिक इतिहास में एक बड़ी जगह रखता है। 1966 में वह 19 जनवरी का ही दिन था, जब इंदिरा गांधी को देश का प्रधानमंत्री बनाया गया।

पूर्वी लद्दाख में चल रहे सीमा विवाद के बीच चीन ने बसाया अरुणाचल प्रदेश में एक नया गांव। सैटेलाइट तस्वीरें आईं सामने। विदेश मंत्रालय ने कहा, चीन की हर गतिविधि पर सरकार की पैनी नज़र। देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की सुरक्षा के लिए उठाएंगे हर ज़रूरी क़दम।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पार्टी छोड़ बीजेपी से जा मिले शुवेंदु अधिकारी को ललकारा। आगामी विधानसभा चुनाव नंदीग्राम से लड़ने का किया ऐलान। वहीं, शुवेंदु ने कहा, नंदीग्राम में ममता को हराऊंगा, नहीं तो राजनीति ले लूंगा संन्यास। उधर, कोलकाता में केंद्रीय मंत्री देबाश्री चौधरी की रैली में हुआ हंगामा। बीजेपी कार्यकर्ताओं पर फेंके गए पत्थर।

यूपी में केस दर्ज होने के बाद वेब सीरीज़ 'तांडव' के निर्माताओं ने मांगी माफी। बीजेपी ने शो को बताया था हिंदू और दलित विरोधी। सीरीज़ में सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया जैसे बड़े कलाकारों ने किया है काम।

सुशांत सिंह राजपूत केस में बॉम्बे हाई कोर्ट ने मीडिया को लगाई फटकार। कहा, मीडिया ट्रायल से केस पर पड़ता है असर। जारी की गाइडलाइंस। उधर, दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा, वॉट्सऐप की प्राइवेसी पॉलिसी पर हो शक तो करें ऐप का इस्तेमाल।

मध्य प्रदेश में एक महिला ने अपने 8 माह के बच्चे की कुल्हाड़ी से हाईवे पर हत्या कर दी। इसके बाद उसने सबसे कहा कि वह बकरा था और जहां से आया था, मैंने वहीं भेज दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोमनाथ ट्रस्ट का नया अध्यक्ष चुना गया है। केशुभाई पटेल ट्रस्ट के अध्यक्ष थे।वर्चु्अल बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ट्रस्ट का अध्यक्ष चुना गया। सभी ट्रस्टियों ने मोदी को अध्यक्ष चुना। मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत 6 लोग इसके ट्रस्टी हैं।सोमवार को सोमनाथ ट्रस्ट की हुई बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वसम्मति से ट्रस्ट का अध्यक्ष घोषित किया गया। गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल सोमनाथ ट्रस्ट के अध्यक्ष थे। उनके निधन के बाद यह ट्रस्ट की पहली बैठक थी।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आगामी विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है वहीं शुभेंदु अधिकारी ममता की हार को लेकर अपने ही दावे कर रहे हैं।

तसलीमा नसरीन ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए मुसलमानों से आगे आने की अपील की है और कहा है कि मुसलमानों को मंदिर के लिए धन जुटाने के लिए आगे आना चाहिए।

पाकिस्तान ने ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोविड​​-19 टीके के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दे दी है। इसका उत्पादन भारत में सीरम इंस्टीट्यूट में हो रहा है। पाकिस्तान इसे हासिल करने के अन्य विकल्पों को तलाश रहा है।भारत में बन रही वैक्सीन को पाकिस्तान ने दी मंजूरी, मांगने की बजाय दूसरा रास्ता तलाश रहे इमरान खान

 जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूख अब्दुल्ला की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। यह वीडियो रविवार की है जब वो एक किताब का विमोचम कर रहे थे। कोरोना ने कर दी ऐसी हालत कि, पत्नी का चुंबन तक नहीं ले सकता: फारूख अब्दुल्ला.

गुजरात के सूरत में पिपलौद गांव के पास हुए एक दर्दनाक हादसे में एक बेकाबू ट्रक ने फुटपाथ पर सो रहे लोगों को कुचल दिया। इस हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई।

 महाराष्ट्र पंचायत चुनाव (Maharashtra Panchayat Election) के नतीजे सुबह से ही वोटों की गिनती की जा रही है।पंचायत चुनावों में शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP) के बीच कांटे की टक्कर चल रही है। अब तक आए रिजल्टस के मुताबिक शिवसेना ने 714 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है जबकि बीजेपी ने 678 सीटों पर जी हासिल की है। एनसीपी ने 578, कांग्रेस ने 520 सीटों पर विजय प्राप्त की है जबकि एमएनएस को 14 और अन्य के खाते में 858 सीट जा चुकी है। इन चुनावों को उद्धव ठाकरे सरकार की अग्नि परीक्षा माना जा रहा है, क्योंकि एनसीपी और कांग्रेस के सहयोग से उद्धव ठाकरे 15 महीनों से सूबे की कमान संभाल रहे हैं। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के पंचायत चुनाव के अब तक के परिणामों को लेकर खुशी जताई है।

अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ 1-2 जगहों पर भारी वर्षा दर्ज की गई।तमिलनाडु में एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा हुई है। साथ ही लक्षद्वीप में भी कहीं-कहीं पर हल्की बारिश देखने को मिली।गंगा के मैदानी भागों में पंजाब से लेकर हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार तक अधिकांश इलाकों में बेहद घना कोहरा छाया रहा, जिससे रेल, सड़क और हवाई यातायात प्रभावित हुआ।उत्तर भारत में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश और पूर्वी भारत में बिहार में कई जगहों पर दिन में भी अधिकतम तापमान 16 डिग्री से नीचे रहा जिससे शीतलहर जैसे हालात बने रहे।

अगले 24 घंटों के दौरान देश के लगभग सभी क्षेत्रों में मौसम मुख्यतः साफ और शुष्क बना रहेगा हालांकि अरुणाचल प्रदेश में एक-दो स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा की गतिविधियां देखने को मिल सकती है।पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में एक-दो स्थानों पर कोल्ड डे कंडीशन बनी रहेगी।गंगा के मैदानी क्षेत्रों में आगामी 24 घंटों के दौरान भी घना कोहरा छाने की आशंका है जिससे सामान्य जनजीवन प्रभावित होगा।



Work underway on over 1,000 km metro network in 27 cities: PM

Tandav controversy: FIR against director, Amazon India head of content

Fourth Test: Rain forces early stumps with India at 4-0 while chasing 328 to win

NCP demands JPC on purported chats between Goswami, Dasgupta

Don't join WhatsApp if not accepting new policy: HC

Total COVID-19 recoveries nearly 50 times active cases in country: Health Ministry

Tejashwi demands President's rule in Bihar

Farmers not against any party but Centre's policy: Rakesh Tikait

COVID-19: India records lowest fatalities in eight months

COVID vaccination drive gets underway in Delhi on day two

Legendary leg-spinner B S Chandrasekhar recovering, health condition stable

Two bogies of train derail in Lucknow

Smiles, sanitizers welcome students as schools reopen in Delhi

Amitabh Bachchan's voice removed from caller tune on COVID-19 awareness: HC told

Proposed tractor rally on Jan 26: It's law & order matter, says SC on plea for injunction against it

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित

घर बैठे कोरोना की जांच की जा सकेगी- ICMR