एक तरफा प्रेम प्रसंग का अंजाम 3 दलित किशोरियों में से दो की मौत

 

 

भारत और चीन तय समझौते के तहत फिंगर एरिया में पहले वाली स्थिति में पहुंच चुके हैं। इन सबके बीच 10वें दौर की बातचीत पर हर किसी की नजर टिकी है। आज भारत और चीन के बीच मोल्डो में 10वें स्तर की बातचीत होगी।

उत्तर प्रदेश में उन्नाव जिले के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में बुधवार देर शाम खेत में अचेत मिली 3 दलित किशोरियों में से दो की मौत और एक के गंभीर रूप से बीमार पड़ने की घटना का पुलिस ने खुलासा करते हुए 2 युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार घटना एक तरफा प्रेम प्रसंग का अंजाम थी।पुलिस महानिरीक्षक लक्ष्मी सिंह ने असोहा थाने में पत्रकारों को बताया कि घटना में दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जिनके पास से खाली जहरीली पानी की बोतल और जहर का रैपर बरामद किया गया है। असोहा थाने में दर्ज मुअसं-29/21 धारा 302/201 आईपीसी के संबध में उन्होंने बताया कि तीन लड़कियों को जहर दिया गया था, जिसमें दो लडकियों की मृत्यु हो गई थी, जबकि एक लडकी का इलाज कानपुर के निजी अस्पताल में किया जा रहा है। इस घटना में अभियुक्त विनय कुमार उर्फ लम्बू और राजू (काल्पनिक) को गिरफ्तार किया गया है। राजू नाबालिग है।उन्होंने बताया कि 17 फरवरी को थाना असोहा पर बबुरहा मजरा पाठकपुर निवासी सूरज रावत ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसकी बहनें बरसीन काटने के लिए खेत में गई थीं जो देर शाम तक वापस नहीं लौटीं, खोजबीन करने पर सरसों के खेत में पड़ी हुई मिली थीं। इसी प्राथमिकी के आधार पर ही 302/201 आईपीसी बनाम अज्ञात के विरुद्ध पंजीकृत किया गया था। मुखबिर की सूचना पर हुई गिरफ्तारी : उन्होंने बताया कि इस घटना के अनावरण में रेंज टीम लखनऊ तथा स्वाट/सर्विलांस टीम उन्नाव को खुलासे के लिए लगाया गया था। पुलिस टीम को शुक्रवार को गांव के एक मुखबिर से मिली सूचना मिली कि पाठकपुर के निवासी विनय कुमार उर्फ लम्बू और राजू (काल्पनिक) घटना के समय घटना स्थल पर मौजूद था, जिन्हें गिरफ्तार कर पूछताछ करने से घटना का खुलासा हो सकता है। सूचना पर प्रभारी निरीक्षक असोहा पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ जोन लखनऊ की सर्विलांस टीम के साथ मुखबिर द्वारा बताए गए पाठकपुर तिराहे से दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर थाने लाया गया था। एकतरफा प्रेम : थाने पर विनय ने बताया कि उसका खेत बबुरहा गांव में है, जहां एक किशोरी अक्सर अपनी चचेरी बहनों के साथ खेत आया करती थी, जिससे उसे एकतरफा प्रेम था। युवक उससे बात करने का प्रयास करता था तथा अपने प्रेम का प्रस्ताव रखता था मगर वह मना कर देती थी। अभियुक् ने बताया उसने कई बार किशोरी के सामने प्रेम का प्रस्ताव रख रहा था मगर वह हर बार मना कर देती थी। जिसके कारण आक्रोशित था और किशोरी को मारने का मन बना लिया था। पहले नमकीन खिलाई फिर कीटनाशक वाला पानी पिलाया : विनय ने बताया कि घटना वाले दिन वह घर से पानी की बोतल में गेहूं में रखे जाने वाला कीटनाशक मिलाकर लाया था। साथ ही दोस्त से नमकीन मंगाकर अपने खेत पर आया। जहां पहले से तीनों लड़कियां बरसीन काट रही थीं। विनय ने उन्हें बुलाकर नमकीन खिलाया, फिर जब लड़कियों ने पानी मांगा तो तो उसने किशोरी को बोतल दे दी। किशोरी ने पानी पिया और बाद मे उसकी चचेरी बहनो ने भी पानी पी लिया। जब वे लोग बेहोश होकर गिर गईं तब दोनों मौके से भाग निकले थे। आईजी ने बताया कि परिजनो की तहरीर के आधार पर ही मुकदमा पंजीकृत किया था। आरोपियों के विरुद्ध 302 और 201 में मुकदमा दर्ज हुआ था। एक सवाल के जवाब में बताया विवेचना चलती रहेगी। उन्होंने बताया कि सीडीआर एनालिसिस में अभियुक् की लोकेशन घटनास्थल पर मिली थी। अभियुक् विनय ने खुद ही बताया कि उसने लड़की से मोबाइल नम्बर मांगा था, लेकिन उसने नहीं दिया था और झिटक दिया था। अभियुक् विनय धानुक जाति का है और दूसरा रैदास है।उन्होंने बताया कि तीनों लड़कियों की फोटो दिखाने पर अभियुक् विनय ने बताया कि जिस लड़की का इलाज चल रहा है, उससे उसे एक तरफा प्यार था। जोर-जबरजस्ती जैसी बात उसने पूछताछ में नहीं बताई। इससे लगता है कि नाराजगी का कारण यही था। उसने बताया कि लड़कियां और अभियुक् रोज ही साथ बैठकर गपशप करते थे। दोनों के बीच दोस्ताना संबध थे। इसी विश्वास में उस दिन लड़कियों ने उसके द्वारा दी गई नमकीन खाई और पानी पिया था। घटना में किसी अन् के शामिल होने की संभावना नहीं है। फॉरेंसिक टीम को अभियुक् के द्वारा प्रयोग की जाने वाली सिगरेट का पैकेट घटनास्थल के पास से बरामद किया गया था। जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार ने बताया कि इस घटना में मृत किशोरियों के परिजनों को मुख्यमंत्री सहायता कोस से सहायता राशि के रूप में 5-5 लाख रुपए दिए जा रहे हैं तथा घायल किशोरी के संपूर्ण इलाज का खर्च वहन करने के साथ ही उसके परिजनों को भी 2 लाख रुपए की सहायता राशि दी गई है।

दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने दिल्ली के हरिनगर इलाके से एक 8 साल के लड़के को बचाया है। लड़के को उसकी सौतेली मां बेरहमी से पीटती थी। पुलिस ने इसमें अभी मामला दर्ज नहीं किया है।

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की बैठक 21 फरवरी से होने जा रही है। पाकिस्तान फिलहाल FATF की ग्रे लिस् में है। उसे 2018 में आतंकी फंडिंग का हवाला देते हुए FATF की ग्रे लिस् में शामिल किया गया था।

 भारत को घरेलू एवं वैश्विक मंच पर कमजोर करने के इरादे से पाकिस्तान एवं तुर्की मिलकर काम कर रहे हैं। भारत में राजनीतिक अस्थिरता एवं देश-विरोधी तत्वों को एक साथ लाने के लिए ये दोनों देश नई दिल्ली के खिलाफ चल रहे 'सूचना युद्ध' का हिस्सा हैं।

दुबई के शासक शेख मुहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की बेटी प्रिंसेस लतीफा ने उन पर खुद को बंधक बनाने का आरोप लगाया है। इससे पहले शेख की पत्नी हया भी अपने शौहर पर कई गंभीर आरोप लगा चुकी हैं। दुबई के शासक को बेटी ही नहीं पत्नी भी छोड़कर जा चुकी हैं.

बीजेपी की युवा नेता पामेला गोस्वामी को बंगाल पुलिस ने 100 ग्राम कोकीन के साथ गिरफ्तार किया है। उनकी गिरफ्तारी पर अब सियासत गरमा गई है।

प्रेस क्लब, इन्दौर द्वारा आयोजित तीन दिवसीय भारतीय पत्रकारिता महोत्सव में अतिथियों ने कहा कि मीडिया के लक्ष्मण रेखा खुद मीडिया ही तैयार, दूसरा कोई और नहीं। साथ ही तीसरा प्रेस आयोग बनाने की बात भी उठी। पूर्व में बने दो आयोग हाथी के दांत जैसे : पहले दिन मीडिया की लक्ष्मण रेखा विषय पर रोचक टॉक-शो हुआ, जिसमें चर्चाकारों ने बेबाकी के साथ अपनी बात रखी। पूर्व कुलपति एवं मीडिया शिक्षक डॉ. मानसिंह परमार ने कहा कि भारतीय संविधान हमें बोलने की आजादी (अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता) तो देता है साथ में अंकुश लगाने की बात भी कहता है, ताकि हम न्यायालय की अवमानना नहीं करें, किसी की मानहानि नहीं करें और ऐसा कुछ नहीं बोलें या लिखें जिससे देश की एकता और अखंडत को चोट पहुंचे। डॉ. परमार ने कहा कि देश में तीसरे प्रेस आयोग और मीडिया काउंसिल ऑफ इंडिया बनाने की आवश्यकता है।उन्होंने कहा कि हालांकि 1954 और 1978 में दो प्रेस आयोग बन चुके हैं, लेकिन इनकी स्थिति हाथी के दांत जैसी है। ये दोनों आयोग अधिकारविहीन हैं। अत: हमें तुरंत तीसरे प्रेस आयोग को बनाना होगा। क्योंकि जिस तरह से फेक न्यूज का बाजार गर्म है उस पर अंकुश लगाने के लिए तीसरे प्रेस आयोग की जरूरत है। सरकार के प्रवक्ता बन गए न्यूज चैनल : वरिष्ठ टी.वी. पत्रकार डॉ. राजेश बादल ने कहा कि आज की पत्रकारिता ने अपनी प्रतिष्ठा और साख पर कई सवाल खड़े कर दिए। अखबार मालिकों और चैनलों के साथ पत्रकारों ने भी सिद्धांतों के साथ समझौता कर लिया है। न्यूज चैनल बंट गए हैं और वे सरकार के प्रवक्ता बन गए हैं। ऐसी स्थिति पहले कभी भी देखने को नहीं मिली। आज अधिकांश चैनल सरकार की आलोचना नहीं करते। ऐसे में सही बातें जनता के सामने नहीं पाती। आज तो चैनलों में ही मार-काट मची हुई है और वे एक-दूसरे के खिलाफ हो रहे हैं और सरकारें भी यही चाहती हैं कि ये आपस में लड़ते रहें, ताकि वे अपनी मनमानी करते रहे। गोदी मीडिया से बड़ी कोई गाली नहीं : वरिष्ठ पत्रकार विनीता पांडे ने कहा कि वर्तमान में पत्रकारिता का जितना ध्रुवीकरण हुआ है, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। धर्म और राजनीति पर भी आज का मीडिया बंट चुका है। आज जब हमारी बिरादरी को कोई गोदी मीडिया कहता है तो इससे बड़ी और कोई गाली नहीं हो सकती है। एक पत्रकार वर्षों तक मेहनत करके एक मुकाम हासिल करता है और जब उसके चैनल या नियोक्ता को कोई गोदी मीडिया कहकर धिक्कारता है तो ये हम सबके लिए शर्मनाक है।वरिष्ठ पत्रकार धीमंत पुरोहित (अदमदाबाद) ने कहा कि आजादी के पहले 1919 में गांधीजी ने जब अपना समाचार पत्र नवजीवन निकाला था तो उसमें उन्होंने स्वयं लिखा था कि पत्रकारों को अपनी लक्ष्मण रेखा स्वयं तय करना चाहिए। हाल के वर्षों में जितनी गिरावट मीडिया में आई है उतनी पहले कभी नहीं आई। पत्रकारिता का घराना इन्दौर : कार्यक्रम में सूत्रधार की भूमिका निभा रहे वरिष्ठ पत्रकार संजीव आचार्य ने कहा कि इन्दौर पत्रकारिता का घराना और कर्मभूमि रहा। यहां से जो पत्रकार निकले उन्होंने देश में नाम कमाया। अत: यहां जो बात होगी उसकी गूंज पूरे देश में सुनाई देगी। इस मौके पर विभिन्न समाचार पत्र और न्यूज चैनल के सम्पादकों, रिपोटरों (मीडियाकर्मी) को पुष्पगुच्छ और प्रतिक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

टूलकिट केस में पटियाला हाउस कोर्ट ने पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि को तीन दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए 25 फरवरी तक केंद्रीय बलों की 125 कंपनियों को तैनात करने का फैसला किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

कोरोनावायरस (Coronavirus) का स्वरूपएन440केदेश के दक्षिणी राज्यों में तेजी से फैल रहा है और स्थिति पर करीबी नजर रखने की जरूरत है। सीएसआईआर-कोशिकीय एवं आणविक जीव विज्ञान केंद्र (सीसीएमबी) के वैज्ञानिकों के एक अध्ययन में यह कहा है।

जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा चलाए गए अभियान से अब आतंकवादी बौखला गए हैं और पुलिसकर्मियों तथा आम नागरिकों को भी निशाना बना रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि जलवायु परिवर्तन के खिलाफ मजबूती से मुकाबला सुनिश्चित करने के लिए भारत सौर ऊर्जा को बहुत महत्व दे रहा है। भारत की सौर ऊर्जा क्षमता में पिछले छह सालों में 13 गुना वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि किसानों को सौर ऊर्जा क्षेत्र से जोड़ने के लिए भी सरकार लगातार प्रयास कर रही है। केरल में बिजली और शहरी क्षेत्र की कई प्रमुख परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने के बाद अपने संबोधन में कहा कि भारत की सौर ऊर्जा क्षमता में पिछले छह सालों में 13 गुना वृद्धि हुई है। ज्ञात हो कि केरल में इस साल अप्रैल-मई में विधानसभा के चुनाव होने हैं। उन्होंने कहा, सौर ऊर्जा को भारत बहुत महत्व दे रहा है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में हमारी उपलब्धि जलवायु परिवर्तन के खिलाफ मजबूत लड़ाई सुनिश्चित करती है। इससे हमारे उद्यमियों को भी बल मिलता है। अन्नदाताओं को ऊर्जादाता बनाने के लिए किसानों को सौर ऊर्जा से जोड़ने की दिशा में काम चल रहा है।उन्होंने यह भी रेखांकित किया कि अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के माध्यम से भारत विश्व को एक मंच पर ले आया। शहरों को विकास का इंजन और नवोन्मेष का पावर हाउस बताते हुए मोदी ने कहा कि शहरों में कई स्तर पर बदलाव दिख रहा है। उन्होंने कहा कि शहरी अधोसंरचना को सुधारने वाला अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन (अमृत) से शहरों में सीवरेज सुविधाएं और जल संबंधी अवसंरचना को बढ़ावा देने में मदद मिली है। इससे पहले, प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया उनमें 320 केवी पुगलुर (तमिलनाडु)- त्रिशूर (केरल) बिजली संचरण परियोजना, 50 मेगावाट कासरगोड सौर ऊर्जा परियोजना और अरुविकारा में बने 75 एमएलडी (दस लाख लीटर प्रतिदिन) का जल प्रशोधन संयंत्र शामिल है। इसके साथ ही उन्होंने तिरुवनंतपुरम में एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र तथा तिरुवनंतपुरम में ही स्मार्ट सड़क परियोजना की आधारशिला भी रखी। इस अवसर पर केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के साथ-साथ केन्द्रीय विद्युत राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आरके सिंह और आवास शहरी मामलों के केंद्रीय राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी भी उपस्थित थे।पुगलुर (त्रिशूर पावर ट्रांसमिशन परियोजना एवं गलुर) त्रिशूर बिजली संचरण परियोजना एक वोल्टेज सोर्स कन्वर्टर (वीएससी) आधारित हाई वोल्टेड डायरेक्ट करेंट (एचवीडीसी) परियोजना है और इसमें भारत का पहला एचवीडीसी लिंक है जिसमें अत्याधुनिक वीएससी तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।लगभग 5070 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित यह परियोजना पश्चिमी क्षेत्र से 2000 मेगावाट बिजली भेजने की सुविधा प्रदान करेगी और केरल के लोगों के लिए लोड में वृद्धि को पूरा करने में मदद करेगी। कासरगोड सौर ऊर्जा परियोजना को राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन के तहत विकसित किया गया है। कासरगोड जिले के पिवलीक, मींजा और चिप्पर गांवों में 250 एकड़ से ज्यादा जमीन पर फैली इस परियोजना का निर्माण केंद्र सरकार की करीब 280 करोड़ रुपए की मदद से किया गया है।

राजस्थान के दौसा से एक बिन ब्याही मां जो अपहरण के तीन साल बाद मिली है उसकी दर्दनाक दास्तां ऐसी है कि कोई भी भावुक हो जाए। जब यह नाबालिग थी तो बिहार से किडनैप कर ली गई और उसके बाद उसे यूपी से होते हुए राजस्थान तक कई जगह पर बेचा गया। अब मिली तो दो बच्चों की बिन ब्याही मां के रूप में.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि ऐसे बहुत सारे शिक्षित एवं निपुण लोग हैं जो 'दुनिया भर में आतंक और हिंसा फैला रहे हैं।

शबनम अली फांसी केस में नया मोड़ गया है। अमरोहा जेल में बंद शबनम ने अपनी फांसी की सजा माफ करने के लिए उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को अपनी दया याचिका भेजी है।

अटलांटा शहर में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का 'ट्रंप प्लाजा होटल और कैसिनो' को नियंत्रित विस्फोट के जरिए बुधवार को गिरा दिया गया। मात्र 20 सेकेंट में यह आलीशान इमारत धूल एवं मलबे में तब्दील हो गई।

दिल्ली के शिक्षा निदेशक उदित राय बृहस्पतिवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आने के बाद विवाद में घिर गए जिसमें वह एक सरकारी स्कूल में छात्रों से परीक्षा के दौरान 'किसी भी तरह उत्तर पुस्तिकाएं भरने' और उन्हें खाली ना छोड़ने के लिए कह रहे हैं।

 

भारत और चीन की सेनाओं के वरिष्ठ कमांडर शनिवार को नए दौर की एक उच्चस्तरीय वार्ता करेंगे। इसमें दोनों पक्षों की तरफ से पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी तट से सैनिकों और सैन्य साजोसामान को पीछे हटाने का काम पूरा होने के बाद इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने पर चर्चा की जाएगी। सूत्रों ने कहा कि कोर कमांडर स्तरीय वार्ता पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के चीन की ओर मोल्दो सीमा बिंदु पर शुरू होगी। 9 महीने के गतिरोध के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच सहमति बनी कि दोनों पक्ष चरणबद्ध, समन्वित और सत्यापन योग्य तरीके से पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी तटों से सैनिकों को पीछे हटाएंगे। सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया 10 फरवरी को शुरू हुई। सूत्रों ने कहा कि पैंगोंग झील क्षेत्रों में सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया दोनों पक्षों के बीच बनी सहमति के अनुसार संपन्न हुई।रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 11 फरवरी को संसद में एक बयान में कहा था कि चीन अपनी सेना की टुकड़ियों को हटाकर पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे में फिंगर 8 इलाकों के पूरब की दिशा में जे जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत अपनी सैन्य टुकड़ियों को फिंगर 3 के पास अपने स्थायी ठिकाने धनसिंह थापा पोस्ट पर रखेगा। इसी तरह की कार्रवाई दक्षिणी किनारे वाले क्षेत्र में भी दोनों पक्ष करेंगे।रक्षामंत्री ने कहा था कि इस पर सहमति बनी है कि पैंगोंग झील क्षेत्र में सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया पूरी होने के 48 घंटे के भीतर दोनों पक्षों के वरिष्ठ कमांडरों की अगली बैठक अन्य सभी मुद्दों को हल के लिए बुलाई जाएगी। रक्षा मंत्रालय ने बाद में कहा था कि डेपसांग, हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा सहित अन्य लंबित मुद्दों पर दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच आगामी वार्ता में चर्चा की जाएगी।

पिछले 24 घंटों के दौरान छत्तीसगढ़, ओडिशा, मराठवाड़ा, विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र, तेलंगना, कर्नाटक और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की गतिविधियां देखने को मिलीं। उत्तराखंड, तमिलनाडु, केरल, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश में हल्की वर्षा एक-दो स्थानों पर दर्ज की गई। पंजाब, हरियाणा, उत्तर-पश्चिमी राजस्थान और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक-दो स्थानों पर घना कोहरा छाया रहा। पश्चिमी हिमालयी राज्यों के अलावा, पश्चिमी राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ तथा पूर्वोत्तर भारत भारत के राज्यों में अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर बना रहा।

अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वोत्तर भारत, सिक्किम, पश्चिम बंगाल, बिहार के पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी हिस्सों, झारखंड, ओड़ीशा, छत्तीसगढ़, पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में भी कुछ स्थानों पर गर्जना के साथ बारिश देखने को मिल सकती है। मध्य महाराष्ट्र, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में भी एक-दो जगहों पर हल्की वर्षा का अनुमान है। उत्तर भारत में पहाड़ों पर गतिविधियां अगले 24 घंटों में शुरू हो सकती है। सबसे पहले बारिश और बर्फबारी जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फरबाद और लद्दाख में देखने को मिलेगी। 24 घंटों के बाद मौसम हलचल और बढ़ सकती है।



Delhi govt to come out with long-term action plan to tackle dust pollution: Gopal Rai

PM launches key power, urban projects in Kerala

Ready for Kerala chief ministership if BJP wins, will focus on infra development: Sreedharan

Efforts made so Netaji is forgotten: Shah

Terrorists open fire at police in Srinagar, one constable dead

Military commanders of India, China to hold talks on Saturday

Sena MP writes to Health Minister seeking price cap on vaccines

China starts psy-war, releases Galwan clashes video ahead of military delegates meet

Unnao: Police lodge murder case, no apparent injury marks on girls

Air quality stays 'very poor' in Ghaziabad, Noida for fifth day

China officially admits 5 military officers, soldiers killed in Galwan Valley clash with Indian Army

Jharkhand HC turns down Lalu Prasad's bail plea

'Toolkit' case: Disha Ravi sent to jail for 3 days

Maha Dy CM warns of action against people found without masks

Agri laws against farmers, middle class: Pilot

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप