नए कृषि कानून एक विकल्प- प्रधानमंत्री



 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 नए कृषि कानूनों को लेकर कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों पर झूठ एवं अफवाह फैलाने का आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा कि ये कानून किसी के लिए बंधन नहीं हैं, बल्कि एक विकल्प है, ऐसे में विरोध का कोई कारण नहीं है। प्रधानमंत्री ने प्रदर्शन कर रहे किसानों से अपील की, आइए, टेबल पर बैठकर चर्चा करें और समाधान निकालें।उन्होंने यह भी कहा कि किसान आंदोलन पवित्र है, लेकिन किसानों के पवित्र आंदोलन को बर्बाद करने का काम आंदोलनकारियों ने नहीं, आंदोलनजीवियों ने किया है। हमें आंदोलकारियों एवं आंदोलनजीवियों में फर्क करने की जरूरत है। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का लोकसभा में जवाब देते हुए मोदी ने कहा, पहली बार इस सदन में ये .नया तर्क आया कि ये हमने मांगा तो दिया क्यों? आपने लेना नहीं हो तो किसी पर कोई दबाव नहीं है। प्रधानमंत्री के भाषण के बीच में कांग्रेस के सदस्य विरोध जताते हुए सदन से बर्हिगमन कर गए। मोदी ने कहा कि इस देश में दहेज के खिलाफ कानून बने, इसकी किसी ने मांग नहीं की, लेकिन प्रगतिशील देश के लिए जरूरी था, इसलिए कानून बना। मोदी ने कहा कि इस देश के छोटे किसान को कुछ पैसे मिलें, इसकी किसी भी किसान संगठन ने मांग नहीं की थी, लेकिन प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत उनको हमने धन देना शुरू किया। उन्होंने कहा कि तीन तलाक कानून, शिक्षा का अधिकार कानून, बाल विवाह रोकने के कानून की किसी ने मांग नहीं की थी, लेकिन समाज के लिए जरूरी था इसलिए कानून बना। प्रधानमंत्री ने कहा, मांगने के लिए मजबूर करने वाली सोच लोकतंत्र की सोच नहीं हो सकती है। गौरतलब है कि कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों ने चर्चा के दौरान कहा था कि जब किसानों ने इन कानूनों की मांग नहीं की, तब इसे क्यों लाया गया। विपक्षी दलों ने सरकार से तीन विवादित कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की है। इस मुद्दे पर पिछले दो महीने से अधिक समय से दिल्ली की सीमा पर पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों के काफी संख्या में किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बहरहाल, प्रधानमंत्री ने निचले सदन में कहा, कानून बनने के बाद किसी भी किसान से मैं पूछना चाहता हूं कि पहले जो हक और व्यवस्थाएं उनके पास थीं, उनमें से कुछ भी इस नए कानून ने छीन लिया है क्या? इसका जवाब कोई देता नहीं है, क्योंकि सबकुछ वैसा का वैसा ही है। उन्होंने कहा, किसानों के पवित्र आंदोलन को बर्बाद करने का काम आंदोलनकारियों ने नहीं, आंदोलनजीवियों ने किया है। इसलिए देश को आंदोलनकारियों और आंदोलनजीवियों के बारे में फर्क करना बहुत जरूरी है। प्रधानमंत्री ने सवाल किया कि दंगा करने वालों, सम्प्रदायवादी, आतंकवादियों जो जेल में हैं, उनकी फोटो लेकर उनकी मुक्ति की मांग करना, यह किसानों के आंदोलन को अपवित्र करना है। उन्होंने कहा, किसान आंदोलन को मैं पवित्र मानता हूं। भारत के लोकतंत्र में आंदोलन का महत्व है, लेकिन जब आंदोलनजीवी पवित्र आंदोलन को अपने लाभ के लिए अपवित्र करने निकल पड़ते हैं तो क्या होता है? सदन में कांग्रेस सदस्यों की टोकाटोकी के संदर्भ में मोदी ने कहा कि संसद में ये जो हो-हल्ला, ये आवाज हो रही है, ये रुकावटें डालने का प्रयास हो रहा है, एक सोची-समझी रणनीति के तहत हो रहा है। उन्होंने कहा, रणनीति ये है कि जो झूठ, अफवाहें फैलाई गई हैं, उसका पर्दाफाश हो जाएगा। इसलिए हो-हल्ला मचाने का खेल चल रहा है।मोदी ने कहा, कानून लागू होने के बाद देश में कोई मंडी बंद हुई, एमएसपी बंद हुआ। ये सच्चाई है। इतना ही नहीं ये कानून बनने के बाद एमएसपी की खरीद भी बढ़ी है। उन्होंने दोहराया, ये नए कानून किसी के लिए बंधन नहीं हैं, सभी के लिए विकल्प हैं, अगर विकल्प हैं तो विरोध का कारण ही नहीं होता। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश का सामर्थ्य बढ़ाने में सभी का सामूहिक योगदान है और जब सभी देशवासियों का पसीना लगता है, तभी देश आगे बढ़ता है। उन्होंने कहा, देश के लिए सार्वजनिक क्षेत्र जरूरी है तो निजी क्षेत्र का योगदान भी जरूरी है।उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री की इस टिप्पणी को कांग्रेस एवं कुछ विपक्षी दलों द्वारा चुनिंदा कॉर्पोरेट घरानों पर टीका-टिप्पणी करने के संदर्भ में देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा, आज मानवता के काम देश रहा है तो इसमें प्राइवेट सेक्टर का भी बहुत बड़ा योगदान है।मोदी ने कहा कि हिंदुस्तान इतना बड़ा देश है, कोई भी निर्णय शत-प्रतिशत सबको स्वीकार्य हो ऐसा संभव ही नहीं हो सकता। उन्होंने कहा, कृषि के अंदर जितना निवेश बढ़ेगा, उतने ही रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। दुनिया में हमें एक नया बाजार उपलब्ध होगा।मोदी ने कहा, हमारा किसान आत्मनिर्भर बने, उसे अपनी उपज बेचने की आजादी मिले, उस दिशा में काम करने की आवश्यकता है। हमारा किसान सिर्फ गेहूं-चावल तक सीमित रहकर, दुनिया में जो आवश्यक है, उसका उत्पादन करके बेचेकिसान संगठन अपनी मांग पर कायम हैं। उन्होंने 18 फरवरी को 'रेल रोको' प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

केरल में राम मंदिर निर्माण के लिए एक कांग्रेस विधायक को चंदा देना इतना महंगा पड़ा कि उन्हें इसके लिए ना केवल सफाई देनी पड़ी बल्कि माफी भी मांगनी पड़ी है। दिया ₹ 1000 का चंदा, फोटो वायरल हुई तो मुस्लिमों से मांगी माफी



भारत में ट्विटर अधिकारियों की हो सकती है गिरफ्तारी। केंद्र सरकार ने दिया कड़ा संदेश। कहा, किसान आंदोलन के दौरान भड़काऊ और नफरत वाले कंटेंट और हैशटैग शेयर करने वाले अकाउंट्स के खिलाफ कार्रवाई में ढिलाई नहीं की जाएगी बर्दाश्त। वहीं, सरकारी विभागों ने घरेलू माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Koo पर खोला अकाउंट।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत ने आतंकवाद को लेकर दी सख्त प्रतिक्रिया। कहा, अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया की राह में अड़चन पैदा कर रहे हैं पाकिस्तान में पल रहे आतंकी संगठन। यूएन चीफ की रिपोर्ट पर कहा, ISIS पर आधारित इस रिपोर्ट में शामिल की जानी चाहिए थीं लश्कर--तैयबा और जैश--मोहम्मद की आतंकी गतिविधियां।

कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने कोरोना वैक्सीनेशन में भारत से मांगी मदद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, पूरा सहयोग करेंगे।

उत्तराखंड की तपोवन सुरंग में अब भी फंसे हैं 34 लोग। और अंदर नहीं जा पा रहे बचावकर्मी। गहरी खुदाई करने पर कर रहे विचार। चार दिन से चल रहा है राहत और बचाव कार्य।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने किया म्यांमार के सैन्य शासन के खिलाफ प्रतिबंधों का ऐलान। बोले, सेना को छोड़ देनी चाहिए सत्ता। तख्तापलट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा की भी की कड़ी निंदा।

दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियां 2023 तक हो जाएंगी वैध, 1.35 करोड़ आबादी को मिलेगी राहत। राज्यसभा में ध्वनिमत से पारित किया गया विधेयक।

बुधवार को गिरकर बंद हुआ भारतीय शेयर बाजार। यूरोपीय बाजार में भी गिरावट के संकेत। लाल निशान के साथ खुली यूरोपीय मार्केट।

असम-मिजोरम सीमा पर विवादित क्षेत्र में दोनों राज्यों के लोगों के बीच हुई झड़पों में कई लोग घायल हो गए। मिजोरम के कोलासिब जिले से सटे असम के हैलाकांडी जिले में स्थिति की गंभीरता को देख प्रशासनिक अधिकारियों ने क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी है।

लाल क़िला हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने दो दिन में की दूसरी गिरफ्तारी। आरोपी इकबाल सिंह को किया अरेस्ट। इससे पहले पंजाबी सिंगर और ऐक्टर दीप सिद्धू को किया था गिरफ्तार।

भारत-चीन मिलिट्री के बीच कमांडर स्तर पर 9वें दौर की बातचीत के बाद बनी सहमति पर अमल शुरू। चीन का दावा, पैंगोंग झील के दक्षिण और उत्तर तट से पीछे हट रहे हैं चीनी और भारतीय सैनिक।

पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट ने मुस्लिम लड़कियों की शादी की उम्र को लेकर सुनाया फैसला। कहा, मुस्लिम लड़की को निकाह के लिए बालिग होना ज़रूरी नहीं। 18 साल से कम उम्र में भी कर सकती हैं शादी।

ऑस्कर अवॉर्ड्स की रेस से बाहर हुई मलयालम फिल्म 'जल्लीकट्टू' फिल्म को ऑस्कर की बेस्ट इंटरनैशनल फीचर कैटेगरी के लिए भारत की तरफ से भेजा गया था। वहीं, एकता कपूर, ताहिरा कश्यप और गुनीता मेंगा की शॉर्ट फिल्म 'बिट्टू' ने टॉप 10 में बनाई जगह।

ओटीटी प्लैटफॉर्म पर आपत्तिजनक कंटेंट की रोकथाम के लिए गाइडलाइंस तैयार। जल्द की जाएगी लागू। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राज्यसभा में दी जानकारी। ओटीटी प्लैटफॉर्म पर दिखाए जाने वाले कंटेंट के बारे में सरकार को लगातार मिल रही थी शिकायत।

जल्द खुलेंगे कोरोना की वजह से बंद पड़े यूनिवर्सिटीज और कॉलेज। यूजीसी ने सुरक्षा इंतजाम के साथ पढ़ाई शुरू करने का दिया निर्देश। राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन की सहमति के बाद जारी होगी शिक्षण संस्थान के खुलने की तारीख।

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय नए लेबर कोड (New Labor Code) को लागू करने की तैयारी में है जिसमें कई बदलाव होंगे ऐसा कहा जा रहा है, श्रम सचिव के मुताबिक अगर कामकाजी दिनों (Working Days) की संख्या पांच से कम यानि चार दिन की जाती है तो कंपनियों को तीन पेड छुट्टियां देनीं होंगी। श्रम सचिव अपूर्व चंद्रा के मुताबिक, कंपनियां हफ्ते में तीन दिन की पेड छुट्टी देकर चार दिन रोजाना 12 घंटे काम करवा सकती हैं, उन्होंने कहा कि हम कंपनियों या कर्मचारियों को बाध्य नहीं कर रहे हैं, बल्कि नए वर्क कल्चर (New Work Culture) को अपनाने के विकल्प दे रहे हैं। हालांकि, चार दिन तक काम करने की सहूलियत के बावजूद कर्मचारियों को एक सप्ताह में कुल 48 घंटे काम करना होगा,इस लेबर कोड के तहत कर्मचारियों को तीन दिन की छुट्टी मिलेगी, लेकिन काम के दिन 12 घंटे तक ड्यूटी करनी होगी। अपूर्वा चंद्रा ने कहा, ‘हम नियोक्ता या कर्मचारियों पर दबाव नहीं डाल रहे हैं. उनके पास दोनों विकल्पों की सहूलियत होगी, कामकाम की बदलती संस्कृति को देखते हुए यह व्यवस्था की जा रही है कामकाज के दिन को लेकर हमने कुछ सहूलियत देने की भी कोशिश की है। उन्होंने बताया कि लेबर कोड के तहत ड्राफ्ट रूल्स लगभग अंतिम चरण में हैं और इन्हें तैयार करने की प्रक्रिया में अधिकतर राज्य शामिल भी रहे, इसमें उत्तर प्रदेश, पंजाब और मध्यप्रदेश जैसे राज्य हैं। सप्ताह में 48 घंटे काम करने का नियम जारी रहेगा, लेकिन कंपनियों को तीन शिफ्ट में काम कराने की मंजूरी दी जा सकती है।उनके मुताबिक, 12 घंटे की शिफ्ट वालों को सप्ताह में 4 दिन काम करने की छूट होगी। इसी तरह 10 घंटे की शिफ्ट वालों को 5 दिन और 8 घंटे की शिफ्ट वालों को सप्ताह में 6 दिन काम करना होगा।नए लेबर कोड में कंपनियों के लिए सहूलियत होगी कि वे अपने कर्मचारियों से एक सप्ताह में चार दिन ही काम करवाएं पहले भी एक सप्ताह में काम करने की लिमिट 48 घंटे की है और इसे अब भी जारी रखा जाएगा, कर्मचारियों और नियोक्ताओं को इस बदलाव के लिए सहमत होना होगा नए नियम का पालन करने के लिए कोई दबाव नहीं होगा। यदि कंपनियां चार दिन काम का सप्ताह चुनती हैं तो कर्मचारियों को तीन दिन छुट्टी देनी होगी यदि पांच दिन काम का सप्ताह चुनती हैं तो दो दिन की छुट्टी देनी होगी। नया लेबर कोड लागू होने के बाद कंपनियों के पास आठ से बारह घंटे का वर्कडे (Work Day) चुनने की आजादी होगी। इसके अलावा श्रम मंत्रालय एक वेब पोर्टल बनाने की प्रकिया में है, जून 2021 तक असंगठित क्षेत्र के कामगार अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे ताकि उन्हें कई तरह की सुविधा मुहैया कराई जा सके।सुप्रीम कोर्ट ने सेवा से हटाए गए भारतीय विमानवाहक पोत विराट को तोड़ने के मुद्दे पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है। पोत को तोड़ने का 40 प्रतिशत से अधिक काम पूरा हो चुका है।



उत्तर प्रदेश बोर्ड की 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है .10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 24 अप्रैल से शुरू होंगी।

पांच माह की तीरा कामत मुंबई के अस्पताल में मौत से जंग लड़ रही है। उसके इलाज के लिए जिस इंजेक्शन की जरूरत है, वह विदेश्से मंगाया जा रहा है, जिस पर करीब 6 करोड़ रुपये का टैक् रहा था।

कोरोना महामारी के बीच कुंभ का आगाज हो चुका है। पहला शाही स्नान 11 मार्च को होना है उससे पहले कुंभ मेला प्रशासन ने कुछ खास ऐहतियात बरतने के निर्देश दिए है।

लखनऊ की एक अदालत ने धनशोधन के एक मामले में निरुद्ध पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को 7 दिन के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में भेज दिया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि प्रदेश के किसी भी नागरिक को कोई समस्या हो तो वह बेझिझक मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076 पर संपर्क कर सकता है।

उत्तर प्रदेश के अमरोहा से सगे रिश्तों के तार-तार होने का मामला सामने आया है जहां एक सगे भाई ने अपनी बहन की हत्या बिना किसी बात के कर दी। बताया जा रहा है कि बहन के हत्यारे भाई पर पहले गैंगरेप का मामला दर्ज है इस मामले में वादी पक्ष को फंसाने के लिए उसने अपनी सगी बहन को ही मोहरा बनाया और उसकी निर्दयता से हत्या कर दी। पुलिस की पड़ताल में ये मामला कुछ ही घंटों में खुल गया, बताया जा रहा है कि मृतका एमबीए की छात्रा थी और हत्यारे भाई ने भी एमबीए तक पढ़ाई की है, मृतका नेहा चौधरी एमबीए है और नोएडा की एक कंपनी में जॉब भी कर रही थी वहीं हत्यारा भाई अंकित भी एमबीए है जिसने अपनी बहन की बलि ले ली।सीटीवी कैमरों और आरोपी के कॉल डिटेल्स से इस केस के खुलासे में काफी मदद मिली जिससे पुलिस हत्यारे तक पहुंची। पुलिस ने हत्या के दौरान इस्तेमाल की गई कैब और आरोपी की कॉल डिटेल निकलवाई जिसके बाद उसे अरेस्ट किया गया। हत्यारे भाई अंकित चौधरी  के खिलाफ कुछ समय पहले गैंगरेप एससी-एसटी एक्ट की रिपोर्ट दर्ज हुई थी, उस मुकदमे के वादी को बहन की हत्या के मामले में फंसाने की मंशा से अंकित ने ही अपनी सगी बहन की हत्या कर दी उसका प्लान था कि इसका आरोप वादी पक्ष पर लगा देगा लेकिन ऐसा हो नहीं सका और कॉल डिटेल के आधार पर वो पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

पिछले 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान और मुजफ्फरबाद में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश और बर्फबारी दर्ज की गई। देश के बाकी सभी भागों में मौसम मुख्यतः साफ और शुष्क बना रहा। हालांकि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में सुबह के समय कोहरा देखने को मिला। दिल्ली से लेकर हरियाणा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और विदर्भ के विभिन्न भागों में न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस बढ़ोत्तरी दर्ज की गई।अगले 24 घंटों के दौरान उत्तराखंड के उत्तरी और पूर्वी भागों में कहीं-कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। देश के बाकी सभी राज्यों में मौसम इस दौरान साफ और शुष्क रहेगा।उत्तर भारत के पास बने पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद अब उत्तर-पश्चिमी हवाएँ फिर से चलनी शुरू हो जाएंगी जिससे हम उम्मीद कर रहे हैं कि पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान न्यूनतम तापमान में गिरावट आएगी और यह सामान्य के आसपास या उससे नीचे पहुँच सकता है। 24 घंटों के बाद उत्तर प्रदेश और गुजरात में भी ठंडी हवाएँ पहुँच जाएंगी और इन भागों में भी 24 घंटों के बाद पारा गिरेगा।



Nitish Kumar in Delhi, likely to meet PM tomorrow

Over 14,700 people get COVID-19 vaccine shots on Wed in Delhi; turnout 80 pc

Oppn slams govt in LS for ignoring 'aam admi' in budget

Road to fighting climate change is through climate justice: PM Modi

Protesting farmers announce 4-hour nationwide 'rail roko' on Feb 18

Centre, states owe Air India Rs 498 crore: Puri

Indian and Chinese troops disengaging at Pangong Lake, says China

No more excuses as you've been in power for 6 years: Sibal

Agitating farmers not aiming change in power at Centre but solution to their issues: Tikait

BJP leaders using Rath Yatra to divide society: Mamata

Govt, Parliament have great respect for farmers; old system will continue: PM

Ahead of Priyanka's visit, Section 144 imposed in Saharanpur

ITBP recce team visits glacier-burst site; DG says tunnel op to continue till trapped are found

SC orders status quo on dismantling of decommissioned aircraft carrier 'Viraat'

Cong will scrap farm laws if it comes to power: Priyanka Gandhi

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित