प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भतीजी भाजपा का टिकट पाने में नाकाम

 

किसान आंदोलन के समर्थन के लिए 'टूल किट' मामले में दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस की साइबर सेल करेगी। किसान आंदोलन को समर्थन देकर पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग सुर्खियों में हैं। किसान आंदोलन से जुड़े 'टूलकिट' मामले में उनकी खूब चर्चा हो रही है। पहले रिपोर्ट आई कि 'टूलकिट' मामले में दिल्ली पुलिस ने उनके किलाफ एफआईआर दर्ज की है. खालिस्तान समर्थक संगठन ने तैयार की थी ग्रेटा की टूलकिट! भारत की 'योग और चाय' वाली छवि थी निशाने पर. किसानों के मुद्दे पर संसद में हंगामा। विपक्षी दलों के 15 नेता आंदोलनकारियों से मिलने बॉर्डर पहुंचे, पुलिस ने लौटाया। वहीं, ग्रेटा थनबर्ग पर एफआईआर मामले में दिल्ली पुलिस बोली- टूल किट बनाने वाले पर किया केस, किसी का नाम नहीं है। थनबर्ग ने कहा- अब भी खड़ी हूं किसानों के साथ। प्रियंका गांधी गुरुवार को यूपी के रामपुर जिले के दौरे पर थीं। वो उस परिवार से मिलीं जिसका एक शख्स दिल्ली में आईटीओ पर ट्रैक्टर की कलाबाजी में जान धो बैठा था।लेकिन इस विषय पर गिरिराज सिंह ने तंज कसा। काश, 84 हिंसा के शिकार पीड़ितों से भी मिलीं होतीं प्रियंका गांधी.

अमेरिका, भारत और अब ईरान, जानिए कैसे पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक कर अपने सैनिक छुड़ा ले गया ईरान. पाकिस्तान में एक और सर्जिकल स्ट्राइक। इस बार ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स पाक में घुसे और अपने दो जवानों को छुड़ाया। ईरान के सरकारी बयान के मुताबिक, दोनों जवानों को तीन साल पहले पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-अल अदल ने कर लिया था अगवा।

भारत ने गुरुवार को कहा कि आतंक एवं शत्रुता से मुक्त माहौल बनाने का दायित्व पाकिस्तान पर है।गौरतलब है कि पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने टिप्पणी की थी कि यह समय सभी दिशाओं से शांति का हाथ बढ़ाने का है

दुनिया की प्रतिष्ठित पत्रिका फोर्ब्स ने लखनऊ की लेखक, वकील और सामाजिक कार्यकर्ता पौलोमी पाविनी शुक्ला को 'इंडिया 30 अंडर 30 2021' की सूची में शामिल किया है। पत्रिका ने पौलोमी को यह सम्मान देश में अनाथ बच्चों की शिक्षा में उनके योगदान के लिए दिया है।

मित्र देशों को अपने हथियारों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए, भारत ने गुरुवार को स्वदेशी हल्का लड़ाकू विमान तेजस, आर्टिलरी गन, विस्फोटक, टैंक और मिसाइल, एंटी टैंक माइंस और अन्य के निर्यात को मंजूरी दे दी। कुल मिलाकर, सरकार ने 156 रक्षा हथियारों, उपकरणों के निर्यात को मंजूरी दी। आत्मनिर्भरता की ओर बढ़े कदम, मित्र देशों को तेजस, टैंक-मिसाइल देगा भारत, निर्यात को मिली मंजूरी .

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भतीजी सोनल मोदी अहमदाबाद नगर निकाय चुनाव के लिए भाजपा का टिकट पाने में गुरुवार को नाकाम रहीं। दरअसल, भगवा पार्टी ने उम्मीदवारों के लिए नए नियमों का हवाला दिया है। भाजपा ने अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) के आगामी चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कर दी है, लेकिन इसमें सोनल मोदी का नाम नहीं है। सोनल मोदी ने मंगलवार को कहा था कि उन्होंने एएमसी के बोदकदेव वार्ड से चुनाव लड़ने के लिए भाजपा से टिकट मांगा है। सोनल मोदी, प्रधानमंत्री मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी की बेटी हैं, जो शहर में राशन दुकान चलाते हैं तथा गुजरात उचित दर दुकान संघ के अध्यक्ष भी हैं। भाजपा की ओर से गुरुवार देर शाम जारी की गई सूची में बोदकदेव या किसी अन्य वार्ड से सोनल को उम्मीदवार नहीं बनाया गया है। भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष सीआर पाटिल से जब सोनल मोदी को टिकट नहीं दिए जाने के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि नियम सबके लिए बराबर हैं। गौरतलब है कि गुजरात भाजपा ने हाल ही में घोषणा की थी कि पार्टी नेताओं के रिश्तेदारों को आगामी चुनाव में टिकट नहीं दिया जाएगा। हालांकि सोनल मोदी ने दावा किया था कि उन्होंने प्रधानमंत्री की भतीजी होने के नाते नहीं, बल्कि भाजपा कार्यकर्ता की हैसियत से टिकट मांगा था। गुजरात के राजकोट, अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, भावनगर और जामनगर समेत कुल छह नगर निगमों के चुनाव के लिए 21 फरवरी को मतदान होगा, जबकि 81 नगर पालिकाओं, 31 जिला पंचायतों और 231 तालुका पंचायतों के लिए 28 फरवरी को वोट डाले जाएंगे।

देश की 21 फ़ीसदी आबादी कभी कभी आई कोरोना की चपेट में। आईसीएमआर के ताज़ा नैशनल सीरो-सर्वे में खुलासा। अब भी बड़ी आबादी पर इंफेक्शन का ख़तरा।

अयोध्या में मस्जिद के लिए आवंटित जमीन को लेकर विवाद। दो बहनों ने 5 एकड़ जमीन पर अपना दावा करते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में दायर की याचिका।

एम्स की ओपीडी अब चलेगी पहले की तरह। मरीज काउंटर से भी ले सकेंगे अपॉइंटमेंट। कोरोना की वजह से अब तक ऑनलाइन ही मिल रही थी।

पीएम केयर्स फंड से टीकाकरण के पहले चरण में 2200 करोड़ का योगदान किया गया। वहीं वेंटिलेटर खरीदने के लिए 2000 करोड़ का योगदान किया गया।

भविष्य निधि खाते में जमा रकम को लेकर चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। मोटी तनख्वाह वाले 1.23 लाख लोगों के भविष्य निधि खाते में 2018-19 के लिए 62,500 करोड़ रुपए जमा हैं। सूत्रों के अनुसार वहीं सर्वाधिक योगदान देने वाले एक व्यक्ति के भविष्य निधि खाते में 103 करोड़ रुपए जमा हैं।वित्त वर्ष 2021-22 के बजट प्रस्ताव के अनुसार कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) खाते में किसी व्यक्ति का सालाना योगदान अगर 2.50 लाख रुपए से अधिक रहता है तो उसे अधिक राशि पर मिलने वाले ब्याज पर कर छूट नहीं मिलेगी।राजस्व विभाग के सूत्रों ने बताया कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) खाते में योगदान करने वाले 4.5 करोड़ अंशधारक हैं। इनमें से 1.23 लाख खाता धनाढ्य यानी मोटा वेतन पाने वालों (एचएनआई) के हैं। ये लोग ईपीएफ खाते में हर महीने बड़ी राशि जमा करते हैं। अधिक ब्याज पाने वालों को कर के दायरे में लाने को वाजिब ठहराते हुए एक सूत्र ने कहा कि उच्च श्रेणी की आय वाले इन लोगों के पीएफ खाते में 2018-19 के लिए 62 हजार 500 करोड़ रुपए जमा हैं और सरकार उन्हें कर छूट के साथ 8 प्रतिशत का निश्चित रिटर्न दे रही है। यह लाभ उन्हें ईमानदार निम्न और मध्यम आय, वेतनभोगी और अन्य करदाताओं की कीमत पर मिल रहा है। सूत्रों के अनुसार इनमें एक योगदानकर्ता के खाते में 103 करोड़ रुपए से भी अधिक जमा है। वहीं दो अन्य ऐसे लोगों के खातों में 86-86 करोड़ रुपए से अधिक जमा हैं। शीर्ष 20 उच्च आय वर्ग के लोगों के खातों में करीब 825 करोड़ रुपए जमा हैं जबकि शीर्ष मोटी तनख्वाह पाने वाले 100 एचएनआई के खातों में 2,000 करोड़ रुपए से अधिक राशि जमा है। उसने कहा कि बजट में किए गए प्रस्ताव का मकसद योगदानकर्ताओं के बीच असामानता को दूर करना है और उन उच्च आय वर्ग के लोगों पर लगाम लगाना है जो निश्चित उच्च ब्याज दर के प्रावधान का लाभ लेने के लिए बड़ी राशि जमा कर रहे हैं और ईमानदार करदाताओं के पैसे की कीमत पर गलत तरीके से कमाई कर रहे हैं। सूत्रों ने यह भी कहा कि ये एचएनआई योगदानकर्ता ईपीएफ खाताधारकों की कुल संख्या का 0.27 प्रतिशत है और उनका प्रति व्यक्ति औसत कोष 5.92 करोड़ रुपए है। अत: वे कर मुक्त निश्चित रिटर्न के साथ सालाना प्रति व्यक्ति 50.3 लाख रुपए की कमाई कर रहे हैं। यह कमाई वेतनभोगी वर्ग और अन्य करदाताओं की लागत पर की जा रही है। उसने कहा कि बजट में भविष्य में 2.5 लाख रुपए और उससे अधिक के योगदान पर ब्याज छूट को हटाना समानता के सिद्धांत पर आधारित है। व्यवस्था में इस खामी को दूर करने से औसत सामान्य ईपीएफ या जीपीएफ योगदानकर्ता प्रभावित नहीं होंगे।



मुंबई के वेंकटेश अय्यर ने 2004 में वड़ा पाव का काम शुरू किया और आज वो इसे 50 करोड़ रुपए के बिजनेस तक ले गए हैं। देशभर में उनके 350 आउटलेट्स हैं। हावर्ड में हो रही रिसर्च.

सरकार ने गुरुवार को बताया कि दूसरे देशों की जेलों में कुल 7,139 भारतीय कैदी बंद हैं और इनमें से कुछ विचाराधीन कैदी भी हैं। विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि 26 जनवरी की हिंसा पूर्व नियोजित थी। 26 जनवरी को कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए उत्पात कर सकते हैं इस संबंध में किसानों को जानकारी दी गई थी।

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि जिन लोगों ने पार्टी को छोड़ा है वो सिर्फ अपनी संपत्ति बचाने की कोशिश कर रहे हैं। जो पहले सिपहसालार थे अब उन्हें ममता बनर्जी बता रही हैं गद्दार, कोलकाता, कट और कमीशन की राजनीति

प्रधानमंत्री ने किसानों का जिक्र करते हुए कहा,‘हमारे देश की प्रगति का सबसे बड़ा आधार हमारा किसान भी रहा है। चौरी चौरा के संग्राम में तो किसानों की बहुत बड़ी भूमिका थी।

किसानों के मुद्दे पर विपक्ष के हंगामे एवं शोर के बीच राज्यसभा में गुरुवार को एक ऐसा क्षण भी आया जब सदन सदस्यों की ठहाकों से गूंज उठा। दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिया 'आशिर्वाद' तो ठहाकों से गूंजी राज्यसभा.

कांग्रेस को 2019-20 में 139 करोड़ रुपए से ज्यादा चंदा मिला। पार्टी के सदस्यों में सबसे ज्यादा चंदा कपिल सिब्बल ने दिया। उन्होंने पार्टी कोष में तीन करोड़ रुपए का योगदान दिया।

म्यामांर में स्वास्थ्यकर्मियों ने देश में हुए सैन्य तख्तापलट के विरोध में सविनय अवज्ञा प्रदर्शन शुरू किया है। स्वास्थ्यकर्मियों ने सिर पर लाल रंग का रिबन बांधा हुआ है और उनका कहना है कि वे नयी सैन्य सरकार के लिए काम नहीं करेंगे।

 विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारत ने कोरोनावायरस कोविड-19 टीके की 56 लाख खुराक दूसरे देशों को सहायता के रूप में दी हैं, जबकि 1 करोड़ खुराक की आपूर्ति वाणिज्यिक आधार पर की गई। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि भारतीय टीके की आपूर्ति कैरिबियाई देशों, प्रंशात महासागर के द्विपीय देशों, निकारगुआ, अफगानिस्तान और मंगोलिया में आने वाले हफ्तों में की जानी है। उन्होंने मीडिया को दी जानकारी में कहा, अब तक हमने कोविड-19 टीके की आपूर्ति भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार, मॉरीशस, सिशेल्स, श्रीलंका, संयुक्त अरब अमीरात, ब्राजील, मोरक्को, बहरीन, ओमान, कुवैत, मिस्र, अल्जीरिया और दक्षिण अफ्रीका को की है। श्रीवास्तव ने बताया, 56 लाख खुराक सहायता के तौर पर दी गई हैं, जबकि एक करोड़ खुराक की आपूर्ति वाणिज्यिक आधार पर की गई है। स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरा डोज 13 फरवरी से : केंद्र ने गुरुवार को कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड-19 टीके की दूसरी खुराक 13 फरवरी से दी जाएगी। वहीं अब तक उनमें से 45 प्रतिशत को टीका लगाया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि गुरुवार दोपहर डेढ़ बजे तक 45,93,427 लाभार्थियों को टीका लगाया जा चुका है।उन्होंने बताया कि जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने अपने स्वास्थ्य कर्मियों के 50 प्रतिशत या उससे अधिक को टीके की पहली खुराक दी है, उनमें मध्य प्रदेश, राजस्थान, त्रिपुरा, मिजोरम, लक्षद्वीप, ओडिशा, केरल, हरियाणा, बिहार, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश शामिल हैं। वहीं जिन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने अब तक टीकाकरण अभियान में 30 प्रतिशत या उससे कम स्वास्थ्य कर्मियों को टीके की पहली खुराक दी है, उनमें सिक्किम, लद्दाख, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली, असम, नागालैंड, मेघालय, मणिपुर और पुडुचेरी शामिल हैं।यह पूछे जाने पर कि ये टीके आम जनता और वरिष्ठ नागरिकों के लिए कब उपलब्ध होंगे, भूषण ने कहा, बहुत जल्द। हमने तीन फरवरी से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए टीकाकरण शुरू किया है। कुछ समय बाद हम 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाएंगे। यह निकट भविष्य में होगा।



पिछले 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, गिलगित बालतिस्तान, मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में कई स्थानों पर बारिश और बर्फबारी की गतिविधियां देखने को मिलीं। उत्तराखंड में भी कुछ स्थानों पर बारिश और हिमपात की गतिविधियां हुई हैं। मैदानी इलाकों में पंजाब, हरियाणा तथा दिल्ली में हल्की से मध्यम बारिश और गरज के साथ हल्की बौछारें देखने को मिलीं। उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भी कुछ हिस्सों में हल्की बारिश बूँदाबाँदी हुई हैं। तमिलनाडु के आंतरिक भागों में हल्की बारिश हुई जबकि अंडमान निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी भागों में एक-दो स्थानों पर तेज़ वर्षा रिकॉर्ड की गई। हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश तथा मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि हुई है। उत्तर भारत के भागों में जम्मू-कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद तथा लद्दाख में हो रही बारिश और बर्फबारी अगले 24 घंटों के दौरान कम हो जाएगी। हालांकि इस दौरान इन भागों में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा और हिमपात होने की संभावना बनी रहेगी।उत्तराखंड में अगले 24 घंटों के दौरान तेज बारिश और बर्फबारी की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं।पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आज रात तक बारिश और गरज के साथ बारिश जारी रहेगी। इन राज्यों में कल से मौसम साफ होने की संभावना है। हालांकि उत्तर प्रदेश के मध्य और पूर्वी शहरों में 5 फरवरी को गरज के साथ हल्की बारिश हो सकती है। 6 फरवरी को बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश होने की संभावना है। उत्तर भारत के मैदानी हिस्सों में बारिश की गतिविधियों में कमी के बाद अब उत्तर-पश्चिमी हवाएँ चलनी शुरू होंगी। उम्मीद है कि 5 फरवरी को पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के पश्चिमी जिलों में तापमान में गिरावट होने के आसार हैं।

 

Delhi Police Commissioner meets Amit Shah

BJP MP Tejasvi Surya takes sortie in indegenous LCA Tejas

UP police books ex-AMU student for ‘sedition'

FIR against tool kit authors, no one named yet: Delhi Police

Govt to give Rs 1 lakh cr additional income to farmers, Ghazipur waste dump to be cleaned soon: Pradhan

Highest ever allocation for WB in rail budget; non-availability of land delaying projects: Goyal

No truth in report that Cong wants Deputy CM post: Ajit Pawar

Derek O'Brien presses govt to repeal 3 farm laws, offers draft bill to do so

AAP will continue to support protesting farmers: Sanjay Singh

Chinese actions seriously disturbed peace, tranquillity along LAC: Govt

Priyanka meets family of deceased farmer in UP

One's threat today may be another's tomorrow

LS proceedings adjourned till 6 pm amid protest over farm laws

Cold night, morning drizzle no deterrence to farmers' stir at Ghazipur

21.5 pc of population showed evidence of past exposure to COVID in latest national serosurvey: Govt

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

प्रधान पद की प्रत्याशी की सुबह मौत, दोपहर में विजयी घोषित

घर बैठे कोरोना की जांच की जा सकेगी- ICMR