कृषि कानून में काला क्या है? किसान यूनियन और प्रतिपक्ष ने अब तक एक भी प्रावधान नहीं बताया- कृषि मंत्री

 

 कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों की ओर से आज चक्का जाम का आह्वान किया है। हालांकि दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को इससे छूट दी गई है, पर अन् इलाकों में चक्का जाम होगा। लेकिन दिल्ली पुलिस ने अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं .किसानो के चक्का जाम शुरू होने के कुछ घंटे पहले संदिग्ध लाख सिंह का एक फेसबुक वीडियो सामने आया है,इस वीडियो में लाख सिंह अपने समर्थकों को संबोधित कर रहा है। ट्रैक्टर परेड में हिंसा भड़काने का आरोपी लक्खा . किसान संगठनों ने अपनी मांगों की 'अनदेखी' किए जाने, कई इलाकों में इंटरनेट बंद करने सहित अपनी अन्य मांगों को लेकर 6 फरवरी (शनिवार) को देशव्यापी चक्का जाम का ऐलान किया था।

कृषि कानूनों पर चर्चा के दौरान खून की खेती पर जबरदस्त वाद विवाद हुआ। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने जहां कांग्रेस को घेरा वहीं दिग्विजय सिंह ने बीजेपी को गोधरा की याद दिला दी। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को राज्यसभा में बोलते हुए कृषि कानूनों पर अपनी बात रखी। तोमर ने गांव, गरीब और किसान पर बोलते हुए विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, दुनिया जानती है कि पानी से खेती होती है। खून से खेती सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है, भारतीय जनता पार्टी खून से खेती नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि मैं किसानों से दो महीने तक यही पूछता रहा कि कृषि कानून में काला क्या है? लेकिन अब तक एक भी प्रावधान नहीं बताया गया। पूछा- कानून में क्या है काला : राज्यसभा में बोलते हुए कृषि मंत्री ने कहा, मैं प्रतिपक्ष का धन्यवाद करना चाहूंगा कि उन्होंने किसान आंदोलन पर चिंता की और आंदोलन के लिए सरकार को जो कोसना आवश्यक था, उसमें भी कंजूसी नहीं की और कानूनों को जोर देकर काले कानून कहा। मैं किसान यूनियन से दो महीने तक पूछता रहा कि कानून में काला क्या है? यह आप बताएं। मैं ठीक करने की कोशिश करूंगा। लेकिन अब तक एक भी प्रावधान नहीं बताया गया। गांव, गरीब और किसान के लिए सरकार प्रतिबद्ध : कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मोदी सरकार के कोरोना से निपटने के लिए किए गए कार्यों को गिनाया। तोमर ने कहा कि गांव, गरीब और किसानों के लिए मोदी सरकार प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि जब तक गांवों में पैसा नहीं पहुंचाएंगे, तब तक विकास नहीं होगा।मनरेगा का असली काम ये है : केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि कुछ लोग मनरेगा को गड्ढों वाली योजना कहते थे। जब तक आपकी सरकार थी, उसमें गड्ढे खोदने का ही काम होता था, लेकिन मुझे ये कहते हुए प्रसन्नता और गर्व है कि इस योजना की शुरुआत आपने की और इसे परिमार्जित हमने किया। अब मनरेगा का काम सिर्फ गड्ढे खोदना नहीं। सरकार संशोधन को तैयार, इसका मतलब यह नहीं कानून गलत : कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बोले कि हमने किसान संगठनों के साथ 12 बार बात की। उनके खिलाफ कुछ नहीं कहा और बार-बार यही कहा है कि आप क्या बदलाव चाहते हैं, वो हमें बता दीजिए। उन्होंने कहा कि अगर हमारी सरकार कानून में बदलाव कर रही है, तो इसका मतलब ये नहीं है कि कृषि कानून गलत है।  एक राज्य में किसान गलतफहमी का शिकार : कृषि मंत्री ने कहा कि सिर्फ एक राज्य के किसानों को बरगलाया जा रहा है, किसानों को डराया जा रहा है। खेती पानी से होती है, लेकिन सिर्फ कांग्रेस ही है जो खून से खेती कर सकती है। सम्मान निधि के बजट : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के बजट में हुई कटौती को लेकर नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि अभी तक 10 करोड़ के आसपास किसानों ने पंजीकरण कराया है। यही कारण है कि मौजूदा परिस्थितियों के हिसाब से ही बजट की व्यवस्था की गई है। जैसे ही रजिस्ट्रेशन बढ़ेगा, तुरंत उसका बजट भी बढ़ा दिया जाएगा। कृषि मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार का एक्ट राज्य सरकार के टैक्स को खत्म करता है, लेकिन राज्य सरकार का कानून टैक्स देने की बात करता है। उन्होंने कहा कि जो टैक्स लेना चाह रहा है, आंदोलन उनके खिलाफ होना चाहिए, लेकिन यहां उल्टी गंगा बह रही है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि पंजाब सरकार के एक्ट के मुताबिक, अगर किसान कोई गलती करता है, तो किसान को सजा होगी। लेकिन केंद्र सरकार के एक्ट में ऐसी कोई बात नहीं है।



बेंगलुरु में चल रही रक्षा प्रदर्शनी के दौरान लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टर्स और ड्रोन् को लेकर कई जानकारियां सामने आई हैं। इन्हीं में से एक HAL द्वारा हेलीकॉप्टर ड्रोन का विकास भी शामिल है।

देश में अब तक 50 लाख लोगों का हुआ वैक्सिनेशन। वहीं, 50 साल से अधिक उम्र वालों को मार्च से लगेगा टीका। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने लोकसभा में दी जानकारी। उधर, फाइजर ने भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी के लिए दिया आवेदन वापस लिया।

सिविल सेवा परीक्षा में कैंडिडेट्स को कुछ शर्तों के साथ आख़िरी मौका देने को राजी हुई सरकार। सुप्रीम कोर्ट में जताई सहमति। सोमवार को होगी अगली सुनवाई। उधर, यूपी में छह से लेकर आठवीं तक के स्कूल 10 फरवरी से खुलेंगे। प्राइमरी स्कूलों में 1 मार्च से शुरू होगी पढ़ाई।

महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष बने नाना पटोले। एक दिन पहले विधानसभा के स्पीकर पद से दिया था इस्तीफा। उधर, पश्चिम बंगाल में सीएम ममता बनर्जी ने सुभाषचंद्र बोस की याद में कोलकाता पुलिस में नेताजी बटालियन बनाने का ऐलान किया।

चेन्नै टेस्ट में इंग्लैंड की स्थिति मजबूत। पहले दिन का खेल खत्म होने तक तीन विकेट खोकर बनाए 263 रन। कप्तान जो रूट ने जड़ी सेंचुरी। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने झटके दो विकेट।

ट्रेन और फ्लाइट के साथ अब बसों के लिए भी टिकट बुक करने की सुविधा देगी IRCTC 26 राज्यों के 50 हजार बस ऑपरेटरों को जोड़ने की तैयारी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जल्द करेंगे इस सेवा की शुरुआत।

दिल्ली में प्रॉपर्टी खरीदना अब किफायती होगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार ने यहां रिहायशी, कमर्शियल और इंडस्ट्रियल प्रॉपर्टी के सर्किल रेट कम करने की घोषणा की है, जिससे दिल्ली में प्रॉपर्टी की कुल कीमतों में कमी आने की उम्मीद की जा रही है।

मध् प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के चचेरे भाई और भाभी की उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में निर्मम हत्या कर दी गई है। इस दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

वांछित हीरा कारोबारी नीरव मोदी शुक्रवार को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में सुनवाई के दौरान लंदन की जेल से वीडियो लिंक के मार्फत पेश हुआ। अदालत ने उसकी रिमांड 25 फरवरी तक के लिए बढ़ा दी, जब उसके प्रत्यर्पण के मामले में फैसला सुनाया जाएगा।

जम्मू-कश्मीर सरकार ने करीब डेढ़ साल बाद 4जी सेवा बहाल कर दिया है। बता दें कि इंटरनेट सर्विस को बहाल करने की मांग लंबे समय से की जा रही थी।

पश्चिम बंगाल में 6 फरवरी से बीजेपी परिवर्तन रथ यात्रा की आगाज करने जा रही है लेकिन अभी तक पुलिस की तरफ से हरी झंडी नहीं मिली है जिसके बाद सियासत गरमा गई है।

जम्मू कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में वांछित जैश--मोहम्मद के आतंकी को दिल्ली में गिरफ्तार किया गया है। वह पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश--मोहम्मद के लिए धन जुटाने का काम करता था

कोरोना संक्रमण का असर राज्य में कम होते देख उत्तर प्रदेश में स्कूल खोलने का ऐलान किया गया है। योगी आदित्यनाथ की सरकार ने प्रदेश में 10 फरवरी से कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल खोलने के निर्देश जारी किए हैं। वहीं 1 मार्च से कक्षा एक से पांच तक के स्कूल खोले जाएंगे। बेसिक शिक्षा विभाग ने छह से आठ तक के स्कूलों को 10 फरवरी से खोलने का प्रस्ताव भेजा, जिसे शुक्रवार को योगी कैबिनेट से मंजूरी मिल गई। लॉकडाउन के बाद पिछले साल अप्रैल महीने से स्कूल परिसर बच्चों के लिए बंद थे। हालांकि, अब बदलते हालात को देखते हुए फिर से स्कूलों को बच्चों के लिए खोले जाने का निर्देश दिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कक्षा 6 से आठ तक के उच् प्राथमिक, माध्यमिक और डिग्री कॉलेजों को 10 फरवरी से पूर्व की तरह संचालित किए जाने के निर्देश दे दिए हैं. बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से संचालित प्रदेश के 1.5 लाख से अधिक प्राथमिक उच् प्राथमिक विद्यालयों में 1 करोड़ 83 लाख से अधिक बच्चें पढ़ते हैं। दावा किया जा रहा है कि 11 महीने बाद एक मार्च को जब प्राथमिक विद्यालय के छात्र अपने स्कूल पहुंचेंगे तो उन्हें बहुत कुछ बदला हुआ नजर आएगा। मुख्यमंत्री के निर्देश पर कोरोना संक्रमण के दौरान प्रदेश के हजारों स्कूलों का कायाकल् किया गया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से संचालित 80 प्रतिशत से अधिक प्राथमिक उच् प्राथमिक विद्यालयों का कायाकल् करने का दावा किया जा रहा है। बताया गया है कि इसमें स्कूल में रंगाई पुताई के साथ वॉल पेटिंग, छात्रों के लिए मल्टिपल हैंडवॉश शौचालय बनाए गए हैं। वहीं, छात्रों से जुड़ी शिक्षण सामग्री स्कूलों में पहुंच चुकी है। इसके अलावा छात्रों को बेहतर शिक्षा देने के लिए स्कूलों में एक से दो कक्षाओं को स्मार्ट क्लास के रूप में डिवेलप किया जा रहा है। स्कूल में स्मार्ट क्लासेज संचालित होंगी।

 

पिछले 24 घंटों के दौरान हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कई स्थानों पर बारिश और बर्फबारी हुई। जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और लद्दाख में गतिविधियां कम हो गईं। हालांकि इन भागों में कहीं-कहीं हल्की वर्षा की गतिविधियां देखने को मिलीं। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी और मध्य भागों के साथ-साथ उत्तरी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में गरज के साथ हल्की बौछारें दर्ज की गईं। उत्तराखंड, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान और मध्य प्रदेश और गुजरात के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 3 से 4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में न्यूनतम 4 से 8 डिग्री के बीच रहा। हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और बिहार में कुछ स्थानों पर सुबह के समय मध्यम से घना कोहरा छाया रहा।

अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर प्रदेश के मध्य एवं पूर्वी जिलों, बिहार के कुछ भागों, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, अरुणाचल प्रदेश और उत्तरी नागालैंड में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बौछारें दर्ज की जा सकती हैं। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली समेत उत्तर पश्चिम भारत और मध्य भारत के भागों में कुछ स्थानों पर शीतलहर की स्थितियाँ फिर से देखने को मिल सकती हैं। उत्तर पश्चिमी दिशा से चल रही शुष्क और ठंडी हवाओं के कारण दिल्ली प्रदूषण में कमी आने के आसार हैं।



4G mobile internet services being restored in entire Jammu and Kashmir: Govt spokesperson

Maha Home Minister Anil Deshmukh tests COVID-19 positive

Rs 2.56-cr fine imposed on NCR units violating pollution norms

3rd phase of Vax drive to cover those above 50, beginning March: Harsh Vardhan

'Meticulous' plan in works to ensure nobody in Delhi faces water shortage in summers: Chadha

Govt's offer to amend farm laws doesn't mean shortcomings in legislations: Tomar

Farmers' Chakka jam: Delhi Police tightens security at border points near protest sites

Centre agrees in SC to give one extra chance to civil services aspirants with certain conditions

Centre agrees to give extra chance to UPSC aspirants who exhausted their last attempt

Self-reliance in defence equipment manufacturing crucial for maintaining India's strategic autonomy: Rajnath Singh

Actor Sonu Sood withdraws plea from SC against HC order on 'illegal' construction  '

Tomar has given detailed info on every aspect of farm laws in Rajya Sabha: PM Modi

Sibley, Root take England to 140 at 2 at tea in 1st Test against India

Nirav Modi's remand extended in UK until extradition judgment on Feb 25

Brazilian, Indian startup satellite in ISRO's first mission in 2021 on Feb 28

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप