नारी सशक्तिकरण-अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस

 

 https://www.pagpagmedia.page/2019/04/bhaarateey-samaaj-mein-mahila-9kfxet.html

आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है, महिला सशक्तिकरण का प्रदर्शन करने के लिए देश में कई कार्यक्रम हो रहे हैं।भारतीय संस्कृति में नारी के सम्मान को बहुत महत्व दिया गया है। संस्कृत में एक श्लोक है- 'यस्य पूज्यंते नार्यस्तु तत्र रमन्ते देवता:। अर्थात्, जहां नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं। किंतु वर्तमान में जो हालात दिखाई देते हैं, उसमें नारी का हर जगह अपमान होता चला जा रहा है। उसे 'भोग की वस्तु' समझकर आदमी 'अपने तरीके' से 'इस्तेमाल' कर रहा है। यह बेहद चिंताजनक बात है। लेकिन हमारी संस्कृति को बनाए रखते हुए नारी का सम्मान कैसे किय जाए, इस पर विचार करना आवश्यक है।संस्कृत में कहा गया है कि 'नारी शक्ति शक्तिशाली समाजस्य निर्माणं करोति', जिसका मतलब है - नारी सशक्तिकरण ही किसी समाज को शक्तिशाली बना सकती है. यह बहुत हद तक सही भी है. जिस समाज में नारी को सम्मान मिला है, उसके हक की बात की गई है, वही समाज विकसित हो पाया है. आज की नारी हर एक क्षेत्र में अपने हुनर का परचम लहरा रही है. और उनके इसी आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के सम्मान हेतु ही 8 मार्च को पूरे विश्वभर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है. इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य है समाज में महिलाओं के प्रति सम्मान और उनके अधिकारों को बढ़ावा देना है. हर वर्ष यह नए थीम के साथ मनाया जाता है. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं और पुरुषों में समानता बनाने के लिए समाज में जागरूकता लाना है. महिलाओं को समर्पित यह दिन पूरे विश्व में महिलाओं की उपलब्धियों का सम्मान करने का होता है साथ ही साथ उनके अधिकारों पर ध्यान देने का होता है. बेशक, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का वैश्विक उत्सव इस बात का सूचक है कि महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपने मेहनत के दम पर लोहा मनवाया है. पर आज भी कई ऐसे देश है जहां महिलाओं को समानता का अधिकार प्राप्त नहीं है, बल्कि भारत में भी कई ऐसी कुरीतियों है जो महिलाओं को शिक्षा और स्वास्थ्य की दृष्टि से पिछड़ी छोड़ रही है. महिलाओं के प्रति हिंसा के मामले भी आए दिन सामने आते रहते हैं. इन्हीं सब को दूर करने के लिए हर साल पूरी दुनिया में यह दिन विशेष रूप से मनाया जाता है. हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस विशेष थीम के साथ मनाया जा रहा है. इस साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का थीम है वुमेन इन लीडरशिप: अचिविंग एन इक्वल फ्यूचर इन कोविड-19 वर्ल्डकी थीम पर मनाया जा रहा है. जाहिर है कि इस साल यह थीम COVID-19 महामारी के दौरान स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों, इनोवेटर आदि के रूप में दुनियाभर में लड़कियों और महिलाओं के योगदान को याद करते हुए प्रोत्साहन के तौर पर रखी गई है.

सर्वप्रथम अमेरिका में सोशलिस्ट पार्टी के आह्वान पर वूमेन्स डे मनाने का प्रस्ताव रखा गया. पहली बार 28 फरवरी 1909 में इस दिवस को मनाया गया. जिसके बाद सन् 1910 में सोशलिस्ट इंटरनेशनल के एक सम्मेलन में इसे अन्तर्राष्ट्रीय दर्जा देने की बात कही गयी. हालांकि, उस समय इस दिवस का मकसद कुछ और था. दरअसल, उस समय महिलाओं को वोट देने का अधिकार नहीं था. इसी परंपरा को समाप्त करने के लिए इस तिथि की शुरूआत हुई. सन् 1917 में सोवियत संघ ने इस दिवस पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया. फिर अन्य देशों ने भी धीरे-धीरे इस परंपरा को अपनाया.मैं अबला नादान नहीं हूं, आधुनिक नारी हूं. 8 मार्च को महिला दिवस मनाने के पीछे भी विशेष कारण है. दरअसल, रूसी महिलाओं ने अपने वोट के अधिकार को लेकर जिस समय हड़ताल किया, उनका हड़ताल इतना प्रभावी था रूस के जार को सत्ता छोड़ने पर मजबूर कर दिया. जिसके बाद वहां की अन्तरिम सरकार ने महिलाओं को वोट का अधिकार दिया. इस समय रूस में जुलियन कैलेंडर चल रहा था जिसके अनुसार वह समय 1917 की फरवरी का आखिरी रविवार यानी 23 फरवरी था. जबकि, अन्य देशों में ग्रेगेरियन कैलेंडर का चलन था जिसके अनुसार उस दिन 8 मार्च की तिथि पड़ रही थी. तब से ही इसे 8 मार्च को मनाने की परंपरा शुरू हुई.

 संसद के बजट सत्र के दूसरे हिस्से की शुरुआत आज से हो रही है।

 चीन के विदेश मंत्रालय ने एक बार फिर दोस्ती का राग अलापा है। चीन का कहना है कि दोनों देशों को एक साथ मिलकर आगे बढ़ना चाहिए।

 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान की आलोचना की है।

 स्विटजरलैंड में लोगों ने सार्वजनिक जगहों पर बुर्का पहनने पर रोक लगाने के लिए वोट किया है।

एक अनूठे पहल के तहत भारतीय सेना ने दक्षिण कश्मीर के एक गांव में आसपास के इलाकों के छात्रों के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं और उच्च अध्ययन की तैयारी के लिए एक जर्जर बस स्टैंड को 'स्ट्रीट लाइब्रेरी'में तब्दील कर दिया।

अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती रविवार को कोलकाता के ब्रिगेड परेड मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी रैली से पहले भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। अब उनको लेकर तृणमूल कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।

राजस्थान के उदयपुर ग्रामीण से विधायक फूल सिंह मीणा 62 साल की उम्र में बीए की परीक्षा दे रहे हैं। उनकी 5 बेटियां हैं और सभी उच्च शिक्षित हैं। उन्होंने ही पिता को पढ़ाई के लिए प्रेरित किया।

शिवसेना प्रवक्ता और सांसद संजय राउत पर एक महिला ने गंभीर आरोप लगाए हैं। अपने पति से अलग रह रही महिला ने आरोप लगाया है कि राउत और पति के इशारे पर कुछ लोग उसका पीछा कर परेशान कर रहे हैं। हालांकि संजय राउत के वकील ने कोर्ट में महिला के दावों को खारिज किया है। इस मामले को लेकर शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई भी हुई जिसके बाद अदालत ने मामले से जुड़े आरोप पत्र की प्रति याचिकाकर्ता को देने का निर्देश दिया।

भारत की पूर्वोत्तर सीमा से सटे पड़ोसी देश म्यांमार में 1 फरवरी को सेना ने तख्तापलट कर लोकतांत्रिक ढंग से चुनी गई सरकार को हटा दिया था और सत्ता हथिया ली थी। उसके बाद से देश में सैन् शासन के खिलाफ और लोकतंत्र की मांग को लेकर देशभर में व्यापक प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शनकारी अपनी नेता आंग सान सू ची सहित लोकतांत्रिक ढंग से निर्वाचित अन् नेताओं की रिहाई की मांग कर रहे हैं, जिन्हें देश में आपातकाल की घोषणा के साथ ही हिरासत में ले लिया गया था।

आजम खान के समर्थन में सपा की सड़क पर उतरने की तैयारी,अखिलेश रामपुर से शुरू करेंगे ये अभियान उत्तर प्रदेश |

यूपी पंचायत चुनाव 2021: 25 मार्च को हो सकती है तारीखों की घोषणा.

महिला िवस पर यूपी में 3-3 बूथों पर सिर्फ महिलाओं को दी जाएगी वैक्सीन लखनऊ |

बीते 24 घंटों के दौरान उप हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड और मणिपुर में कई स्थानों पर गरज के साथ बौछारें दर्ज की गईं। जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ऊपरी इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर बर्फबारी हुई। लद्दाख में भी कहीं-कहीं पर वर्षा और हिमपात हुआ है। पंजाब के उत्तरी भागों के साथ-साथ दक्षिणी केरल में हल्की बारिश हुई। उत्तर-पश्चिमी, मध्य और पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर बना रहा।आगामी 24 घंटों के दौरान पश्चिमी हिमालयी राज्यों में कई स्थानों पर बारिश और बर्फबारी की संभावना है। अगले 24 से 48 घंटों के दौरान हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बर्फबारी का अनुमान है। पंजाब, उत्तरी हरियाणा और उत्तर पश्चिम उत्तर प्रदेश में भी कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर में भी हल्की वर्षा या बूँदाबाँदी का अनुमान है। अगले 2 दिनों तक पूर्वोत्तर भारत में हल्की से मध्यम बारिश की गतिविधियाँ संभव हैं। केरल और दक्षिणी तमिलनाडु और अंडमान निकोबार द्वीपसमूह के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। देश के उत्तर पश्चिम, मध्य और पूर्वी हिस्सों में दिन और रात के तापमान सामान्य से ऊपर रहने की संभावना है।



How much liability would pension for divorced daughters of freedom fighters incur: SC to Centre

PM Modi dedicates 7,500th Janaushadhi Kendra to nation

SOPs outlined for vaccination of unregistered healthcare workers, frontline staff

Delhi among top 3 states with most contaminated sites

Varavara Rao discharged from hospital in Mumbai

COVID-19: India records 18,711 new cases, 100 fresh fatalities

PM Modi peddling lies to mislead voters: Mamata

1975 Emergency an outdated issue, should be buried: Raut

Shah hits back at Vijayan, poses questions over gold/dollar smuggling cases

Mamata asks Jharkhand CM to campaign for her in WB polls; JMM to decide on it

Actor Mithun Chakraborty joins BJP ahead of PM's rally in Kolkata

Mapping the Sacred Dwellings of Shakti

Farmers agitation will continue till three agri laws are withdrawn: Rakesh Tikait

Amit Shah exudes confidence of NDA 'coalition government' in TN post Apr 6 polls

MP CM Shivraj Singh Chouhan to inaugurate 'Hunar Haat' in Bhopal on Mar 13

https://www.pagpagmedia.page/2019/04/bhaarateey-samaaj-mein-mahila-9kfxet.html

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप