जेहादी सीरियल ब्लास्ट घटना को अंजाम देने की तैयारी- लखनऊ



दिल्ली के टिकरीकलां इलाके में रविवार की रात एक खुले गोदाम में भीषण आग लग गई। दिल्ली अग्निशमन सेवा विभाग (डीएफएस) के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस हादसे में अब तक किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं है। डीएफएस के निदेशक अतुल गर्ग ने कहा कि इलाके की पीवीसी मार्केट में आग लगने के बारे में रात करीब 8 बजकर 35 मिनट पर जानकारी मिली। आग एक खुले इलाके में बने हुए गोदाम में लगी जो काफी बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। अब तक किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं है। डीएफएस के निदेशक के मुताबिक आग बुझाने के लिए दमकल विभाग की 40 गाड़ियों के अलावा 200 से अधिक कर्मचारियों को तैनात किया गया है।

उत्तरप्रदेश में एटीएस पुलिस की सक्रियता की चलते राजधानी लखनऊ में 2 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है और पूछताछ के बाद उन्होंने जो खुलासा किया है वे बेहद चौंकाने वाले . इसके चलते प्रदेश के कई अन्य जिलों में भी उनके लोग सक्रिय थे। पूछताछ में एटीएस को यह भी जानकारी मिली है कि वह सभी काफी दिनों से उत्तरप्रदेश में रहकर घटना को अंजाम देने की तैयारी कर रहे थे। पूछताछ में यह भी पता चला है कि वे कश्मीर से उत्तरप्रदेश के लखनऊ पहुंचे थे। यहां पहुंचने के बाद प्लानिंग के तहत उन्हें उत्तरप्रदेश के अंदर सीरियल ब्लास्ट करने के निर्देश मिले थे। इसकी वे योजना बना रहे थे। सूत्रों ने बताया है कि पूछताछ में उन्होंने सीरियल ब्लास्ट के प्लान को लेकर कहा है कि सीरियल ब्लास्ट का प्लान पाकिस्तान के हैंडलर ने बनाया था, जबकि इसको अंजाम देने के तरीके पर अफगानिस्तान में शोध किया गया था। पूरे मामले को लेकर एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि अलकायदा के सरगना अलजवाहिरी ने भारत, पाकिस्तान, म्यांमार और अफगानिस्तान के लिए अल कायदा इन इंडियन सबकांटिनेंट की स्थापना की थी। इस संगठन के कई आतंकी हाल के वर्षों में गिरफ्तार किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि उमर लखनऊ में जेहादी प्रवृत्ति के लोगों को तैयार कर रहा था। ये लोग 15 अगस्त से पहले उत्तरप्रदेश के मुख्य शहरों में अलग-अलग जगह पर ब्लास्ट करने की योजना बना रहे थे। एडीजी ने कहा कि सूचना मिलने पर एक टीम द्वारा मिनहाज अहमद के लखनऊ स्थित घर पर दबिश दी गई तो वह घर पर मिला। उसके घर से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद हुआ। एटीएस को उसके घर से एक पिस्टल आईईडी बरामद हुई। उन्होंने बताया कि अन्य टीमों द्वारा इन आतंकवादियों के सहयोगियों की तलाश के लिए अलग-अलग स्थानों पर दबिश दी जा रही है। पूछताछ के दौरान हिरासत में हिए गए अभियुक्तों द्वारा अपने सहयोगियों के घर से भाग जाने की बात कही गई है। इसके आधार पर एटीएस की टीम इन इलाकों में सघन चेकिंग अभियान चला रही है।

जम्मू में भारतीय वायुसेना के स्टेशन पर ड्रोन के जरिये किए गए बमो में 'प्रेशर फ्यूज' का इस्तेमाल होने की बात सामने आई है। साथ ही यह भी संकेत मिले हैं कि इसमें पाकिस्तानी सेना की भूमिका हो सकती है।

भारत ने अफगानिस्तान में सुरक्षा की बिगड़ती स्थिति, कंधार के आस-पास के नए इलाकों पर तालिबान के कब्जे और चरमपंथी समूह तथा अफगान बलों के बीच भीषण संघर्ष के मद्देनजर इस दक्षिणी अफगान शहर में स्थित अपने वाणिज्य दूतावास से करीब 50 राजनयिकों और सुरक्षाकर्मियों को सैन्य विमान की मदद से वहां से बाहर निकाल लिया है। इस पूरे घटनाक्रम से जुड़ी लोगों ने रविवार को यह जानकारी दी। विदेश मंत्रालय ने कहा कि कंधार में भारतीय वाणिज्य दूतावास को बंद नहीं किया गया है और स्थानीय कर्मचारियों की मदद से इसका संचालन होता रहेगा। घटनाक्रम से जुड़े लोगों ने बताया कि कंधार में बिगड़ती स्थिति और तालिबान के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर विमान से भारतीय राजनयिकों, अधिकारियों और अन्य कर्मियों को शनिवार को वापस ले आया गया। इनमें भारतीय-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कर्मी भी शामिल हैं। ऐसी सूचना मिली है कि विमान ने पाकिस्तानी वायुक्षेत्र में प्रवेश से परहेज किया। हालांकि इस बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि कंधार शहर के पास भीषण लड़ाई के कारण भारतीय कर्मियों को कुछ समय के लिए वापस लाया गया है और भारत अफगानिस्तान की स्थिति पर करीबी नजर रख रहा है। बागची इस मुद्दे पर मीडियाकर्मियों को संबोधित कर रहे थे। बागची ने कहा कि अफगानिस्तान में बन रही स्थिति पर भारत की करीबी नजर है। हमारे कर्मियों की रक्षा और सुरक्षा सर्वोपरि है। कंधार में भारत के महावाणिज्य दूतावास को बंद नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि हालांकि कंधार शहर के करीब भीषण लड़ाई के मद्देनजर भारतीय कर्मियों को फिलहाल वापस लाया गया है। मैं यह बताना चाहता हूं कि स्थिति के सुधरने तक यह एक अस्थायी कदम है। हमारे स्थानीय कर्मियों के जरिए वाणिज्य दूतावास में कामकाज चलता रहेगा। बागची ने कहा कि काबुल में भारतीय दूतावास के जरिए वीजा एवं दूतावास मदद संबंधी सेवाएं चलती रहें यह सुनिश्चित करने के लिए व्यवस्था की जा रही हैं। प्रवक्ता ने कहा कि अफगानिस्तान का अहम सहयोगी होने के नाते भारत एक शांतिपूर्ण, संप्रभु और लोकतांत्रिक अफगानिस्तान के लिए प्रतिबद्ध रहेगा। क्षेत्र में कई अहम इलाकों पर तालिबान के तेजी से कब्जा जमाने और पश्चिम अफगानिस्तान में सुरक्षा की बढ़ती चिंताओं के मद्देनजर भारत ने कंधार में वाणिज्य दूतावास अस्थायी रूप से बंद करने का कदम उठाया है। काबुल में भारतीय दूतावास ने मंगलवार को कहा था कि कंधार और मजार--शरीफ में दूतावास और वाणिज्य दूतावासों को बंद करने की कोई योजना नहीं है। अमेरिकी सैनिकों के वापस लौटने के बाद अफगानिस्तान में बढ़ा तालिबान का खतरा। आतंकी संगठन ने देश के 85 फीसदी हिस्से पर कब्जे का दावा किया। 50 भारतीय राजनयिकों और कर्मचारियों को कंधार दूतावास से सुरक्षित निकाला गया।

नए आईटी नियम मानने के लिए राजी हुई ट्विटर। कंपनी ने भारत में नियुक्त किया रेजिडेंट ग्रीवांस ऑफिसर। सरकार ने 25 फरवरी को लागू किए थे नए नियम। इसे लेकर सरकार और ट्विटर के बीच चल रही थी तनातनी।

17 जुलाई से 21 जुलाई तक श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा केरल का सबरीमाला मंदिर। वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके या आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखाने वाले ही कर सकेंगे मंदिर में प्रवेश।

भारतीय महिलाओं ने रविवार को दूसरे टी20 इंटरनेशनल मुकाबले में जबर्दस् वापसी करके इंग्लैंड को 8 रन से मात दी और सीरीज में 1-1 की बराबरी की।

ब्रिटेन के अरबपति कारोबारी रिचर्ड ब्रैनसन अंतरिक्ष में पहुंचने वाले दुनिया के पहले अरबपति बन गए हैं तो उनके साथ-साथ उनकी टीम मेंबर्स ने भी कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। इनमें शीरिषा बांदला भी हैं, जो अंतरिक्ष की सैर करने वाली भारतीय मूल की तीसरी महिला बन गई हैं।

भारत सरकार के नव नियुक्त नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पदभार ग्रहण करने के पश्चात तुरंत ही एक्शन मोड में दिखाई दे रहे हैं। सिंधिया ने अपने गृह राज्य मध्य प्रदेश के लिए स्पाइस जेट की 8 नई उड़ानों को मंजूरी प्रदान की है, जिसका संचालन आगामी 16 जुलाई से प्रारंभ होगा।

चीन में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हजारों भारतीय छात्रों के लिए मुश्किल पैदा हो गई है। वे बीते साल छुट्टियों में स्वदेश आए थे, लेकिन अब चीनी प्रतिबंधों के कारण वह लौट नहीं पा रहे हैं।

जुलाई के शुरुआती दिनों में सूरज  की सतह से पैदा हुआ एक शक्तिशाली सौर तूफान बहुत भीषण रफ्तार से पृथ्वी की तरफ बढ़ रहा है, ऐसा दावा किया जा रहा है।

हरियाणा में ढील के साथ 19 जुलाई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन.

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार कोउत्तरप्रदेश जनसंख्या नीति 2021-2030’ जारी की और कहा कि बढ़ती जनसंख्या समाज में व्याप्त असमानता एवं अन्य समस्याओं की जड़ है तथा समाज की उन्नति के लिए जनसंख्या नियंत्रण प्राथमिक शर्त है। वहीं, समाजवादी पार्टी के एक सांसद ने उत्तरप्रदेश में प्रस्तावित जनसंख्या कानून पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कानून बनाना सरकार के हाथ में है लेकिन जब बच्चा पैदा होगा तो उसे कौन रोक सकता है? मुख्यमंत्री ने यहां पांच कालिदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर 'विश्व जनसंख्या दिवसके अवसर परउत्तरप्रदेश जनसंख्या नीति 2021-2030’ जारी करने के बाद आयोजित समारोह में बढ़ती जनसंख्या की समस्या के प्रति स्वयं तथा समाज को जागरूक करने का प्रण लेने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया के अंदर इस विषय को लेकर समय-समय पर चिंता व्यक्त की गई है कि बढ़ती जनसंख्या विकास में कहीं कहीं बाधक हो सकती है और उस पर अनेक मंचों से पिछले चार दशकों से निरंतर चर्चा चल रही है। गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश राज्य विधि आयोगउप्र राज्य की जनसंख्या के नियंत्रण, स्थिरीकरण और कल्याणविषय पर काम कर रहा है तथा इसने एक विधेयक का प्रारूप तैयार किया है। विधि आयोग ने इस विधेयक का प्रारूप अपनी वेबसाइट पर अपलोड किया है और 19 जुलाई तक जनता से इस पर राय मांगी गई है। इस विधेयक के प्रारूप के अनुसार इसमें दो से अधिक बच्चे होने पर सरकारी नौकरियों में आवेदन से लेकर स्थानीय निकायों में चुनाव लड़ने पर रोक लगाने का प्रस्ताव है और सरकारी योजनाओं का लाभ दिए जाने का भी जिक्र है। संभल से समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद डॉक्टर शफीकुर्रहमान वर्क ने सरकार की तरफ इशारा करते हुए रविवार को उत्तरप्रदेश के प्रस्तावित जनसंख्या कानून पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा कि 'कानून बनाना आपके हाथ मैं है लेकिन जब बच्चा पैदा होगा उसे कौन रोक सकता है?' सपा सांसद ने संभल में पत्रकारों से कहा कि जहां तक योगीजी, मोदीजी, मोहन भागवतजी का ताल्लुक है तो इनके तो बच्चे हैं ही नहीं, इन्होंने शादी ही नहीं की है। बताओ सारे हिन्दुस्तान को बच्चे पैदा करने नहीं दोगे तो कल को किसी दूसरे मुल्क से मुकाबला करने की जरूरत पड़ी तो लोग कहां से आएंगे। उन्होंने कहा कि इस्लाम और कुरान शरीफ में यह अल्फाज है इस दुनिया को अल्लाह ने बनाया है और जितनी रूहें अल्लाह ने पैदा की हैं, वो आनी हैं। वर्क ने कहा कि चाहे कितनी रोक लगा लो, चाहे कोई कमीशन बना दो लेकिन बच्चा पैदा करने से कोई रोक नहीं सकता है।' मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि जिन देशों ने, जिन राज्यों ने इस दिशा में अपेक्षित प्रयास किए, उनके सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं। इसमें और भी प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि उप्र की जनसंख्या नीति 2021-30 जारी करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है, समाज के सभी तबकों को ध्यान में रखकर इस नीति को प्रदेश सरकार लागू कर रही है। वास्तव में जनसंख्या नियंत्रण का जो प्रयास है, वह समाज की व्यापक जागरूकता के साथ जुड़ा हुआ है। योगी ने कहा कि हर तबके को इस जागरूकता अभियान के साथ जोड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि दो बच्चों के बीच में उचित अंतराल नहीं होगा तो उनके पोषण पर असर पड़ेगा। शिशु मृत्यु दर और मातृ मृत्यु दर को नियंत्रित करने में कठिनाई होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले चार-पांच वर्षों में जो प्रयास हुए, उसके अच्छे परिणाम आए हैं लेकिन अभी और प्रयास की जरूरत है। योगी ने कहा कि यह ध्यान रखना होगा कि जनसांख्यिकी संतुलन पर इसका कोई असर पड़े और साथ ही माँ बच्चे के स्वास्थ् को इसके साथ जोड़ना होगा। केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में इस क्षेत्र में प्रयास किया गया और अभी भी हमारे स्तर पर जो नए प्रयास होने हैं, उनमें अंतरविभागीय समन्वय से बेहतर कार्य हो सकते हैं। चिकित्सा स्वास्थ् परिवार कल्याण मंत्री जयप्रताप सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने भी समारोह को संबोधित किया। अपर मुख् सचिव (स्वास्थ्) अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि यह जनसंख्या नीति अत्यंत समावेशी है और प्राकृतिक संसाधनों के साथ जनसंख्या का संतुलन जरूरी है। उन्होंने कहा कि 40 साल में जनसंख्या दुगुनी से भी ज्यादा बढ़ी है, इसलिए आवश्यक है कि जनसंख्या नियंत्रण के लिए प्रयास किए जाएं, जिससे किसर्वजन हिताय-सर्वजन सुखायके दृष्टिकोण को साकार किया जा सके। जनसंख्या नीति के बारे में राज् सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि उत्तरप्रदेश जनसंख्या नीति का मूल लक्ष्य यही है कि सभी लोगों के लिए जीवन के प्रत्येक चरण में जीवन गुणवत्ता में सुधार हो और साथ ही साथ सतत विकास के लिए व्यापक एवं समावेशी दृष्टिकोण से चीजें आगे बढ़ें। उन्होंने बताया कि लक्ष्य की प्राप्ति के लिए विशिष्ट उद्देश्य प्रस्तावित किए गए हैं जिसके तहत जनसंख्या स्थिरीकरण का लक्ष् प्राप् किया जाना, मातृ मृत्यु और बीमारियों की समाप्ति, नवजात और पांच वर्ष से कम आयु वाले बच्चों की मृत्यु को रोकना और उनकी पोषण स्थिति में सुधार करने के अलावा इस नीति में किशोर-किशोरियों के लिए यौन और प्रजनन स्वास्थ्य एवं पोषण से संबंधित सूचनाओं और सेवाओं में सुधार पर जोर दिया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि इसके अलावा वृद्धों की देखभाल और कल्याण में सुधार भी प्राथमिकता में है। इस नीति के जरिए वर्ष 2026 तक महिलाओं में जागरूकता और 2030 तक सकल प्रजनन दर को 1.9 प्रतिशत तक लाना है। राज्य में अभी सकल प्रजनन दर 2.1 प्रतिशत है।

केरल में रविवार को जीका वायरस से संक्रमण के 3 और मामले आए, जिनमें एक बच्चा भी शामिल है। इसके साथ ही राज्य में जीका वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 18 हो गई है।

मुख्यमंत्री योगी शुरू करेंगे 'जनता दरबार'

उत्तर प्रदेश में सर्पदंश से होने वाली मौतों को राज्य आपदा घोषित करते हुए सरकार ने ऐलान किया है कि अब सांप के काटने से यदि किसी की मृत्यु होती है तो उसके परिवार को सरकारी मुआवजे के रूप में 4 लाख रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी।

कोरोना की तीसरी लहर से जंग के लिए RSS ने बनाई यह योजना, स्वयंसेवकों को दी जाएगी ट्रेनिंग.

प्रख्यात अर्थशास्त्री और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अमित मित्रा पश्चिम बंगाल के वित्तमंत्री के पद से इस्तीफा दे सकते हैं और यहां तक कि खराब स्वास्थ्य के कारण सक्रिय राजनीति से संन्यास भी ले सकते हैं।

पिछले 24 घंटों के दौरान, तटीय कर्नाटक, दक्षिण कोंकण और गोवा, केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम से भारी बारिश हुई। सिक्किम, विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों और मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। शेष पूर्वोत्तर भारत, ओडिशा तट, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, लक्षद्वीप, गुजरात, पूर्वी राजस्थान, उत्तरी पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर में हल्की से मध्यम बारिश हुई। राजस्थान के दक्षिण और पश्चिमी हिस्सों, आंतरिक कर्नाटक, गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, आंतरिक ओडिशा, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु, पूर्वी और मध्य उत्तर प्रदेश में हल्की बारिश हुई। अगले 24 घंटों के दौरान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तरी पंजाब, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय आंध्र प्रदेश, तटीय कर्नाटक, केरल, कोंकण और गोवा और मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। उत्तर पूर्व भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड के कुछ हिस्सों, दक्षिण छत्तीसगढ़, दक्षिण ओडिशा, गुजरात, पूर्वी राजस्थान, आंतरिक कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। शेष पंजाब, उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, बिहार, पश्चिम बंगाल, आंतरिक ओडिशा, रायलसीमा, तमिलनाडु और लक्षद्वीप में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है।



Yogi is numero uno as BJP sweeps block level polls

Monsoon tests patience of Delhiites, central Delhi most rain-deficient district in India

Action likely against IAS officer who thrashed journo

Matter of pride that six daughters of Gujarat taking part in Olympics: Shah

New rules to ensure responsible social media ecosystem: IT Minister

Fadnavis lauds UP's new population policy, backs such law for entire country

Nominate your choice of inspiring people for Padma awards: PM Modi to citizens

Over 1.44 crore unutilised COVID-19 vaccine doses available with states, private hospitals:Centre

Auditoriums, assembly halls in Delhi schools allowed to be used for training, meeting purposes: DDMA

COVID-19: India logs 41,506 new cases

Haryana withholding Delhi's legitimate share of water: DJB vice chairman

Heavy to very heavy rains expected in several parts of north India by Monday morning: IMD 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

उठो द्रोपदी वस्त्र संभालो अब गोविन्द न आएंगे :

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

निशाने पर महिला हो तो निखर कर आता है समाज और मीडिया का असली रूप