महंगी पढ़ाई के चलते विदेशों की ओर देख रहे स्टूडेंट्स

 

देश में टीकाकरण अभियान से कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई काफी मजबूत हुई है। इस साल कोविड से होने वाली मौतों में 92 प्रतिशत ऐसे लोग थे जिन्होंने टीके की खुराक नहीं ली थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर हैं, जहां आज (शुक्रवार, 4 मार्च) वह रोड शो करेंगे। उनका यह दौरा ऐसे समय में हो रहा है, जबकि यूपी में विधानसभा चुनाव के लिए सातवें अंतिम चरण का मतदान ही शेष रह गया है।

 फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुअल मैक्रों ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से यूक्रेन पर हमले रोकने के लिए एक बार फिर कहा है, लेकिन पुतिन अभी ऐसा नहीं करेंगे।

 रूस के साथ वार्ता कर रहे यूक्रेन के प्रतिनिधिमंडल के एक सदस्य ने कहा कि दोनों पक्ष नागरिकों को निकालने तथा मानवीय मदद देने के लिए सुरक्षित गलियारे बनाने के अस्थायी समझौते पर पहुंच गए हैं।

रूस-यूक्रेन युद्ध ने पूरी दुनिया को चिंता में डाल रखा है। इसके लिए रूस को जिम्मेदार ठहराते हुए पश्चिमी देशों ने रूस के खिलाफ कई प्रतिबंधों का ऐलान किया है तो उसके साथ बातचीत की प्रक्रिया भी जारी है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को सुरक्षित देश वापस लाने को लेकर चलाए जा रहे 'ऑपरेशन गंगा' के बारे में विपक्ष के नेताओं को जानकारी दी। विदेश मंत्रालय ने जानकारी दी है कि अभी तक 18000 भारतीयों ने यूक्रेन छोड़ दिया है। कुछ सौ नागरिक अभी भी खारकीव में हैं। 30 उड़ानों से अब तक 6400 भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों/छात्रों के लिए परामर्श जारी किया गया है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन पर 3000 से अधिक भारतीय और चीनी छात्रों को बंधक बनाने का आरोप लगाया है। रक्षा विशेषज्ञ अभिजीत मित्रा ने दावा किया है कि भारत के कहने पर रूस ने आठ घंटे तक यूक्रेन पर हमले रोक दिए ताकि भारतीय छात्र वहां से बाहर निकल सकें। परविंदर और विशाल ने बताया कि वे दोनों छह दिन तक यूक्रेन-पोलैंड बॉर्डर पर फंसे रहे. उन्होंने आरोप लगाया कि इस दौरान उन्हें काफ़ी नस्लीय भेदभाव का सामना करना पड़ा.

यूक्रेन में रूस के हमले को 8 दिन हो गए हैं। इस बीच क्वाड नेताओं की अहम बैठक हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापानी प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा इस बैठक में शामिल हुए।

भारत में कम सीटें और महंगी फीस की वजह से हर साल हजारों छात्र विदेश में MBBS की पढ़ाई के लिए जाते हैं। लेकिन जब वह पढ़ाई पूरी कर भारत लौटते हैं, तो उनके लिए यहां डॉक्टर के रूप में प्रैक्टिस करना आसान नहीं होता है। विदेश से MBBS करने वाले 20 फीसदी छात्र ही भारत में हो पाते है PASS.

यूक्रेन पर रूस के हमले से करीब 20 हजार भारतीय मेडिकल छात्र-छात्राओं की जान भी खतरे में पड़ गई है। इनकी सुरक्षित स्वदेश वापसी के लिए केंद्र सरकार की पहल जारी है। लेकिन, इस बीच एक सवाल यह कौंध रहा है कि आखिरकार इतनी बड़ी संख्या में भारत से एमबीबीएस की पढ़ाई) के लिए स्टूडेंट्स यूक्रेन का रुख क्यों करते हैं? जानकारों का कहना है कि भारत में एमबीबीएस के कोर्स का खर्च इतना महंगा है कि यहां अमूमन एक प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस कोर्स) पूरा करने पर लगभग एक करोड़ रुपये का खर्च आता है। वहीं, यूक्रेन में इससे एक चौथाई खर्च यानी लगभग 25 लाख रुपये में ही यह पूरा हो जाता है। आईपी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर और नैशनल मेडिकल कमिशन के मेंबर डॉक्टर महेश वर्मा ने बताया कि यह चलन पहले से रहा है। जब सोवियत संघ अविभाजित था, उसी समय से भारत से एमबीबीएस के लिए स्टूडेंट्स वहां जाते रहे हैं। लेकिन, जब यूएसएसआर टूट गया तो स्टूडेंट्स यूक्रेन, पोलैंड जैसे देश जाने लगे हैं। एक तो वहां पर विदेशी स्टूडेंट्स को आसानी से एडमिशन मिल जाता है। दूसरा, वहां का फी-स्ट्रक्चर भी यहां से बिल्कुल अलग है। डॉ. वर्मा ने कहा कि भारत में एमबीबीएस का हर साल का खर्च औसतन 10 से 25 लाख रुपये के बीच है। जैसा कॉलेज होता है, वैसी ही फीस भी है। महंगी पढ़ाई के चलते विदेशों की ओर देख रहे बच्चे. इस बारे में एम्स के पूर्व डायरेक्टर डॉक्टर एम. सी. मिश्रा ने कहा कि भारत में नीट के जरिए एमबीबीएस में दाखिले के लिए एंट्रेस होता है। जिन्हें इसके जरिए एडमिशन नहीं मिल पाता, वो इन देशों का रुख करते हैं। चूंकि भारत में सरकारी कॉलेज में पढ़ाई तो फ्री है, लेकिन इसके लिए रैंक बहुत बेहतर लाने की जरूरत होती है। जो बच्चे इस रैंकिंग में नहीं पाते, वो प्राइवेट कॉलेजों में जाते हैं। लेकिन, देश में प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में एक साल की पढ़ाई का खर्च 10-12 लाख रुपये से शुरू होकर 22 से 27 लाख तक जाता है। यानी अच्छे प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस करने में एक करोड़ से ज्यादा का खर्च होता है। जबकि यूक्रेन जैसे देश में 22 से 25 लाख में पूरा कोर्स ही कंप्लीट हो जाता है। वहां पर पढ़ाई करना बहुत आसान भी नहीं है। लैंग्वेज की दिक्कत के साथ-साथ कई बार ऐसा होता है कि वहां की डिग्री लेकर भारत लौटने पर छात्रों को यहां पर प्रैक्टिस के लिए स्क्रीनिंग एग्जाम देना होता है, कई बच्चे पास नहीं कर पाते हैं तो उनका भविष्य खतरे में पड़ जाता है। लेकिन, इन देशों में डिग्री लेने वालों को यूरोप में प्रैक्टिस करना आसान हो जाता है, वहां प्रैक्टिस के लिए उन्हें स्क्रीनिंग एग्जाम नहीं देनी होती है। देश में एमबीबीएस की करीब 80 हजार सीटें हैं। 40 हजार सरकारी और लगभग 40 हजार प्राइवेट में हैं। इस बार नीट के जरिए लगभग 8 लाख स्टूडेंट्स ने यह एग्जाम दिया था। जबकि पहले यह संख्या 10 लाख से ऊपर होती थी। एक तो बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स को एडमिशन नहीं मिल पाता है और दूसरी वजह यह है कि वहां पर लगभग 25 लाख में कोर्स होता है और भारत में इसके लिए एक करोड़ तक खर्च करना पड़ता है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने पश्चिमी देशों से यूक्रेन को रूसी आक्रमण का मुकाबला करने के लिए और मजबूत सैन्य सहायता मुहैया कराने आग्रह किया है.

दिल्ली के मदनगिरी थानाक्षेत्र में एक ईसाई पादरी के साथ मारपीट का मामला सामने आया। इस पादरी पर भीड़ ने आरोप लगाया कि ये धर्मांतरण करवाता है। घटना 25 फरवरी की Kalmon kalyan tet नाम का शख्स जो पेशे से एक पादरी है।

जेपोरीजिया न्यूक्लियर प्लांट पर लगातार हमला कर रहा रूस, रेडिएशन फैलने का खतरा बढ़ा: यूक्रेन

दिल्ली: बुडापेस्ट से 210 भारतीय छात्रों को लेकर आई फ्लाइट हिंडन एयरबेस पर उतरी

न्यूक्लियर प्लांट पर हमला रोके रूस, ब्लास्ट हुआ तो चेर्नोबिल से 10 गुना बड़ा होगा खतरा: यूक्रेन

यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा केंद्र से उठा धुआं, यूक्रेन के अधिकारी का दावा

50 से ज्यादा रूसी दिग्गजों को नहीं मिलेगा अमेरिका का वीजा, बाइडेन का बड़ा फैसला

रूसी राष्ट्रपति पुतिन के प्रेस सचिव दिमित्री पेसकोव पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध

अमेरिका ने कई रूसी विमान निर्माताओं के खिलाफ लगाए प्रतिबंध.

राजस्थान में वसुंधरा राजे के प्रभाव से बाहर निकलने की कोशिश में भाजपा

रिजल्ट से पहले कांग्रेस को सताने लगा टूट का डर,'तैयार रहें गहलोत-बघेल'

SC ने गुजरात में सरदार पटेल यू्निर्वसिटी के कुलपति की नियुक्ति रद्द की.

यूएन का दूरसंचार निकाय आईटीयू दक्षिण एशिया के लिए दिल्ली में अपना क्षेत्रीय कार्यालय खोलेगा देशों को वैश्विक नीति और दूरसंचार के क्षेत्र में मानक निर्माण में अधिक पहुंच और संपर्क मिलेगा। वैष्णव ने हस्ताक्षर समारोह के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘सरकार और आईटीयू ने पूरे दक्षिण

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया (एनएसई) की पूर्ण अनुषंगी इकाई एनएसई आईएफएससी ने गैर-प्रायोजित डिपॉजिटरी प्राप्तियों में लेनदेन शुरू किया है। इसके साथ अब भारतीय खुदरा निवेशक अमेरिकी शेयरों में आसानी और किफायती तरीके से कारोबार कर सकते हैं। इसके तहत खुदरा निवेशक न्यूयार्क शेयर बाजार (एनवाईएसई) और नैस्दैक में सूचीबद्ध अमेरिकी शेयरों में का(सेबी) ने संकटग्रस्त पीटीसी इंडिया फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (पीएफएस) को स्वतंत्र निदेशकों के बिना निदेशक मंडल की बैठक आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। कंपनी ने यह जानकारी दी। इससे पहले जनवरी में कंपनी के निदेशक मंडल में सभी तीन स्वतंत्र निदेशकों ने कंपनी संचालन के मुद्दों और अन्य मामलों का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था। पीएफएस ने बृहस्पतिवार को शेयर बाजार को भेजी जानकारी में कहा, ‘‘सेबी ने दो मार्च को भेजे अपने -मेल में बिना स्वतंत्र निदेशक के निदेशक मंडल की बैठक

टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने बृहस्पतिवार को कहा कि टाटा स्टील का प्रदर्शन 'ऐतिहासिक' रहा है लेकिन अभी सर्वश्रेठ आना बाकी है। चंद्रशेखरन ने संस्थापक जमशेदजी नसरवानजी टाटा को 183वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद कहा कि टाटा समूह इस दशक के दौरान देश में टाटा स्टील की मौजूदा उत्पादन क्षमता को दो करोड़ टन से बढ़ाकर चार करोड़ टन करने के लिए प्रतिबद्ध है।

इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड (आईएचसीएल) ने भारत की सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित और बढ़ावा देने में मदद करने के लिए संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) के साथ भागीदारी की है। आईएचसीएल ने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने यह साझेदारी कोविड-19 महामारी के बाद की दुनिया के लिए अपनी पहल के हिस्से के रूप में की है। आईएचसीएल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और वैश्विक प्रमुख (मानव संसाधन) गौरव पोखरियाल ने एक बयान में कहा, ‘‘भारत की सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने की दिशा में काम करने के लिए यूनेस्को का सहयोग करके हमें खुशी.

व्यापारियों के संगठन कैट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर जीएसटी में जटिलताएं, -कॉमर्स कंपनियों की कथित तौर पर गलत गतिविधियां और व्यापारियों तक वित्त की पहुंच जैसे मुद्दों को उठाया। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने एक बयान में कहा कि छोटे व्यवसायों को बढ़ावा देने और उन्हें कारोबार करने में सुविधा देने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को संबंधित अधिकारियों ने हतोत्साहित किया है।

कांग्रेस के राहुल के बाद अब सीएम ममता ने भी किया बंगाल में चुनाव प्रचार नहीं करने का एलान.

रोबार कर सकेंगे। एनएसई द्वारा बृहस्पतिवार को जारी बयान के अनुसार उसने गैर-प्रायोजित डिपॉजिटरी प्राप्ति

यों में व्यापार एचडीएफसी बैंक के साथ मिलकर आईएफएससीए द्वारा निर्धारित नियामकसैंडबॉक्सढांचे के तहत शुरू किया है।

उत्तर प्रदेश में छठे चरण का मतदान संपन्न हो गया है। इस चरण के तहत 57 सीटों के लिए वोट डाले गए, जिसमें गोरखपुर सबसे हॉट सीट है। यहां से सीएम योगी आदित्यनाथ उम्मीदवार हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने वाराणसी में एक जनसभा को संबोधित किया, जिस दौरान उनके साथ अखिलेश यादव और जयंत चौधरी भी मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा।

                              

फर्रुखाबाद में शराब पीने से व्यापारी समेत तीन की मौत, पुलिस ने ठेका सील किया, ठेकेदार समेत तीन हिरासत में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को यूक्रेन से लौटे छात्रों से वाराणसी में मुलाकात की। बेहद कठिन हालातों में रहने के बाद सरकार की कोशिशों से वतन वापस लौटे छात्रों ने पीएम से अपने अनुभव साझा किए।...

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के मकानों को बनाने का रास्ता साफ हो गया है। इस योजना में 40 प्रतिशत धनराशि 692 करोड़ रुपये की व्यवस्था हो गई है। विशेष सचिव नगर विकास इंद्रमणि त्रिपाठी ने इस संबंध में...

मंत्री स्वाति सिंह के पति दयाशंकर के काफिले पर बलिया में हमला, मुख्तार अंसारी गिरोह पर आरोप.

पिछले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी हिस्सों और पूर्वोत्तर राजस्थान के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ीं। उत्तर पश्चिम, पश्चिम और पूर्वी राजस्थान में हल्की बारिश हुई। दक्षिण पश्चिम उत्तर प्रदेश और हरियाणा में छिटपुट हल्की बारिश हुई। जम्मू कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फ़बारी हुई। अगले 48 घंटों के दौरान, जम्मू कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में कुछ स्थानों पर और उत्तराखंड के एक या दो हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फ़बारी संभव है। अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी हिस्सों और तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। इसके बाद बारिश की गतिविधियां दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, रायलसीमा, दक्षिण भारत कर्नाटक, आंतरिक तमिलनाडु और केरल के कुछ हिस्सों को कवर कर सकती हैं। 5 मार्च तक आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तट, तमिलनाडु के तटीय इलाकों, दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी और दक्षिणी केरल के तटों के आसपास तेज हवाएं चलेंगी तथा समुद्र में लहरें भी ऊंची उठ सकती हैं।



No report of hostage situation related to Indian students in Kharkiv: MEA

Make in India is need of the hour: Prime Minister Modi

India logs 6,561 Covid infections, 142 deaths in a day; active cases decline to 77,152

Ensure you are fully vaccinated against COVID-19, govt tells Ukraine returnees

2020 Delhi riots: Court reserves order on Umar Khalid's bail plea

Conclude by May 15 Ansals appeals before trial court in Uphaar evidence tampering case:HC

PM Modi interacts with students who returned from Ukraine

Russian ships, rocket boats approaching Odessa: Ukraine Def Ministry

Nearly 650 Delhi residents stranded in Ukraine, help being extended to families

BJP stages protest ahead of Maha budget session; seeks minister Nawab Malik's removal

Ukraine crisis: IAF's first evacuation flight with 200 Indians lands in Delhi

UP polls 6th phase: Over 53 per cent polling till 5 pm

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

अक्टूबर से नियमों में बड़े बदलाव

महिला को लिंग बदलकर पुरुष बनने की अनुमति