रीयूजेबल लॉन्च वीकल टेस्ट सफल- ISRO

 

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3824 नए मामले सामने आए हैं। 6 महीने बाद एक दिन में इतने केस आए हैं। शनिवार को 2994 नए केस आए थे। इस हिसाब से एक दिन में केसों में 28 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है। पिछले चार दिनों में यह तीसरी बार है, जब एक दिन में 3 हजार से ज्यादा केस आए.

भारत की स्पेस एजेंसी ISRO ने रविवार को रीयूजेबल लॉन्च वीकल का सफल टेस्ट किया। लैंडिंग उन्हीं स्थिति में कराई गई जिनमें कोई रॉकेट स्पेस से लौटता है। भारत अब लॉन्च वीकल की लैंडिंग कराने में एक कदम आगे बढ़ गया। अगर आगे भी टेस्ट सफल रहे तो ऐसा वीकल सैटलाइट लॉन्च कर वापस धरती पर लौट सकेगा। पहली बार, एक ‘विंग बॉडी को हेलिकॉप्टर से 4.5 किमी. की ऊंचाई पर ले जाया गया और रनवे पर लैंडिंग के लिए छोड़ा।

ऑटिज़्म को लेकर दुनिया भर के आंकड़ों का मिलना मुश्किल है क्योंकि इस डिसऑर्डर की पहचान और इसके इलाज के लिए कोई एक समान तरीका नहीं है.विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, दुनिया में प्रत्येक 160 बच्चों में एक, ऑटिज़्म से प्रभावित होता है, लेकिन व्यस्कों में ऑटिज़्म को बताने वाला कोई विश्वसनीय आंकड़ा मौजूद नहीं है.अमेरिका में इसके आंकड़ों को सेंटर्स फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (सीडीसी) व्यवस्थित रूप से एकत्रित करता है, इसके अनुमान के मुताबिक अमेरिका की 2.21% व्यस्क आबादी ऑटिज़्म से प्रभावित है.विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक ऑटिज़्म यानी ऑटिज़्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर (एएसडी) विकास संबंधी ऐसी बीमारी है जिसका असर संवाद और व्यवहार पर पड़ता है और यह किसी भी उम्र में ज़ाहिर हो सकता है.ऑटिज़्म एक तरह से स्पेक्ट्रम है यानी, इससे प्रभावित प्रत्येक व्यक्ति अलग-अलग तरह की तीव्रता के ऑटिस्टिक लक्षणों को महसूस करते हैं.आमतौर पर इसकी पहचान बचपन में हो जाती है क्योंकि ऑटिज़्म के लक्षण पहले दो साल के दौरान उभर आते हैं लेकिन कई लोगों में इसके लक्षण व्यस्क होने के बाद आते हैं और कई तो इसका कोई इलाज भी नहीं करा पाते हैं.वैसे ऑटिज़्म की पहचान देरी से महलाओं में ज़्यादा देखी गई है. इसकी एक वजह तो यह है कि महिलाएं अपने आस-पास की घटनाओं की बेहतर ढंग से नकल करती हैं और उससे कुछ अलग व्यवहार को आसानी से छिपा लेती हैं.यहां यह ध्यान देने की ज़रूरत है कि ऑटिज़्म कोई बीमारी नहीं है. ब्रिटिश नेशनल हेल्थ सर्विस की वेबसाइट के मुताबिक, ऑटिज़्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर से प्रभावित लोगों का दिमाग़ अलग तरह से काम करता है.ऑटिज़्म का कोई इलाज भी नहीं है, अगर आप ऑटिस्टिक हैं तो आपको पूरे जीवन ऑटिस्टिक ही रहना होगा लेकिन प्रभावित लोगों को सही सहायता और ज़रूरत के मुताबिक मदद ज़रूर दी जा सकती है.अफ्रीकी महादेश में व्यस्कों के लिए इस डिसऑर्डर को स्वीकार करना भी चुनौतीपूर्ण होता है, क्योंकि अभी भी समाज में इसको लेकर लांछन जैसी स्थिति है.जब किसी में कोई ख़ास व्यवहार दिखाई देता है तो उसे मानसिक रूप से बीमार कहने लगते हैं. इसे काफ़ी नकारात्मकता के साथ देखा जाता है. इसलिए आपको ऐसे ढेरों लोग मिलेंगे जो इस तरह से चिन्हित होने से बचना चाहते हैं. वे ऑटिज़्म का सामना करते हुए संघर्ष करते रहते हैं और उसके दूसरे उपाय तलाशते हैं. लेकिन सवाल यह है कि इसके क्या नुकसान हैं? ऑटिज़्म की पहचान और उसके इलाज के बिना व्यस्क होना किसी भी शख़्स की मुश्किलों को बढ़ा देता है.अगर स्कूली स्तर पर बच्चे को कोई मदद नहीं मिली तो बहुत संभव है कि वे पढ़ाई बीच में ही छोड़ दे. जब तक वे व्यस्क होंगे तब तक सामाजिक स्तर पर उन्हें कई लांछनों का सामना करना होगा, जिसमें उन्हें ज़िद्दी या गूंगा इत्यादि कहा जाने लगा होगा, कोई नहीं सोचता है कि यह सब ऑटिज़्म की वजह से भी संभव है."अफ्रीका में लोग ऑटिज़्म की पहचान को बुरी ख़बर के तौर पर देखते हैं. सिल्विया ने बताया, हालांकि ऐसा होना दुनिया का ख़त्म होना नहीं है. आप इसके बाद भी दुनिया के सबसे बेहतर शख़्स के साथ काम कर सकते हैं." आपकी ज़रूरत क्या है? संवेदी मुद्दों को लेकर मदद चाहिए? स्पीच थेरेपी की मदद चाहिए? आख़िर में दूसरे लोगों के साथ समावेशी ज़िंदगी जीने के लिए आपको सही इलाज की ज़रूरत होगी. जब तक आप इसकी ज़रूरत को नहीं समझेंगे या इसका अनुभव नहीं करेंगे तब तक आप सही थेरेपी और इलाज को लेकर प्रभावित शख़्स की मदद नहीं कर सकते."यह भी संभव है कि ऑटिज़्म से प्रभावित लोगों में इतनी जागरूकता नहीं होती है कि वे महसूस कर सकें कि यह कुछ अलग चीज़ है. कई लोग इसे जानते बूझते हुए भी स्वीकार नहीं करते हैं, इसलिए इलाज नहीं कराते हैं." कई चीज़ों से संघर्ष करना होता है जिसमें शोर, गंध, भीड़ भाड़ वाली जगह इत्यादि शामिल हैं. अगर आप ऑटिस्टिक हैं तो आपका जीवन काफ़ी मुश्किल हो सकता है क्योंकि रोज़मर्रा की सामान्य चीज़ें आपको मुश्किल में डाल सकती हैं." समस्याएं तो इतनी सामान्य होती हैं कि लोग उसे समस्या मानने से इनकार कर देते हैं. उदाहरण के लिए आप किसी को पसंद करते हैं लेकिन उससे मिलने में सहज नहीं हैं, ये बात आप कैसे समझाएंगे? या फिर पहले से तय योजना में छोटी तब्दीली भी आपका पूरा दिन कैसे ख़राब कर देता है, या इसके चलते आप पूरी रात सो नहीं पाए? या फिर आप ट्रेन के टिकट बैरियर पर अपना टिकट नहीं लगा पाए, आपको टिकट कहां रखना था, ये आप नहीं समझ पाए, कौन से बैरियर पर लगाना था, इसका पता नहीं चला."कुछ मामलों में कोविड लॉकडाउन की पाबंदियों ने ऑटिज़्म से गैर प्रभावित लोगों को उसी तरह के तनाव में रहने पर मजबूर किया जिसके साथ ऑटिज़्म प्रभावित लोग रहते हैं.

ऑटिज़्म की पहचान भर होने से सभी समस्याओं का हल नहीं मिलता. हालांकि यह कुछ मामलों में मददगार होता है, लेकिन तभी जब आपको कुछ मदद मिले या फिर आपको अच्छे ढंग से समझा जाए. इससे आप जैसे हैं, उस रूप में खुद को स्वीकार करने में मदद मिलेगी. आप अजीब महसूस नहीं करेंगे. नज़दीक से देखेंगे तो लगेगा कि सब कुछ ना कुछ से प्रभावित है."

मॉस्को NATO देशों से सटे बेलारूस बॉर्डर पर परमाणु हथियार तैनात करेगा: रूसी राजदूत

फिनलैंड में PM सना मरीन की पार्टी की हार, किसी भी दल को नहीं मिला बहुमत

तिब्बत के शिजांग में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.2 रही तीव्रता

बंगाल: हुगली हिंसा मामले में पुलिस ने 12 लोगों को गिरफ्तार किया

पंजाब: नवजोत सिंह सिद्धू आज मूसेवाला के परिवार से मुलाकात करेंगे.

कोहली-डुप्लेसी का 22 गेंदों वाला हमला, जिसने मुंबई को तोड़ा, सिक्सर के साथ जीत से नाता जोड़ा

UP Board Result 5 अप्रैल को होगा जारी, कितना सच है ये दावा? UPMSP ने दिया जवाब

अयोध्या के ऋषि सिंह बने इंडियन आइडल 13 के विनर, ट्रॉफी के साथ मिले 25 लाख

जयशंकर ने रविवार को कहा कि भारत ऐसा देश नहीं है जो अपने राष्ट्रीय ध्वज को अपमानजनक तरीके से नीचे उतारा जाना बर्दाश्त कर ले; क्योंकि यह देशबहुत दृढ़होने के साथ-साथबहुत जिम्मेदारभी है। जयशंकर ने लंदन में पिछले महीने हुई उस घटना का जिक्र किया, जिसमें प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने भारतीय उच्चायोग के ऊपर फहराए गए तिरंगे को गिराकर अलगाववादी खालिस्तानी झंडे लहराए और खालिस्तान समर्थक नारे लगाये। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद खालिस्तानियों और अंग्रेजों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए उच्चायोग की इमारत पर उससे बड़ा तिरंगा लगाया गया। जयशंकर ने कहा, ‘‘आपने पिछले कुछ दिनों में लंदन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और सैन फ्रांसिस्को में कुछ घटनाएं देखी हैं। यह अब वह भारत नहीं है जो किसी के द्वारा अपने राष्ट्रीय ध्वज को नीचे उतारा जाना बर्दाश्त कर लेगा।’’

नेता उद्धव ठाकरे ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को हिंदुत्व विचारक दिवंगत वी.डी. सावरकर केअखंड भारतके सपने को पूरा करने की चुनौती दी।छत्रपति संभाजी नगर (पुराना नाम औरंगाबाद) में साम्प्रदायिक हिंसा के कुछ दिन बाद महा विकास आघाड़ी (एमवीए) की पहली रैली को संबोधित करते हुए ठाकरे नेसावरकर गौरव यात्राको लेकर भाजपा और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर निशाना साधते हुए कहा कि पवित्र भगवा (ध्वज) उनके हाथों में अच्छा नहीं लगता। ठाकरे ने सवाल किया, ‘‘सावरकर ने देश की स्वतंत्रता के लिए कठोर कारावास और कठिनाइयां झेलीं, कि मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए। क्या आप सावरकर केअखंड भारतके सपने को पूरा करेंगे?’’ एमवीए में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे), राकांपा और कांग्रेस शामिल हैं।

पश्चिम बंगाल में हुगली जिले के रिषड़ा में रविवार शाम रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान दो समूहों में संघर्ष होने के बाद निषेधाज्ञा लागू कर दी गई और इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि रिषड़ा थाना क्षेत्र में रामनवमी के मौके पर दो शोभायात्रा निकाली गईं और दूसरी शोभायात्रा पर जीटी रोड स्थित वेलिंगटन जूट मिल मोड़ के पास शाम करीब सवा छह बजे हमला किया गया। पुलिस ने बताया कि हिंसा में कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए। शोभायात्रा में शामिल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने पीटीआई-भाषा को बताया कि रिषड़ा थाना क्षेत्र में जीटी रोड पर यह घटना हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि महेश में लोग शोभायात्रा के साथ जगन्नाथ मंदिर जा रहे थे, उसी दौरान उन पर पथराव हुआ।

गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि BJP बिहार में अगले विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को सत्ता से बेदखल कर देगी। उन्होंने नीतीश कुमार की सरकार पर राज्य को अराजकता में धकेलने का आरोप लगाया। शाह ने बिहार शरीफ और सासाराम में हिंसा की जांच करने में बिहार सरकार को विफल बताते हुए कहा, ‘2024 में मोदी जी को पूर्ण बहुमत दीजिए और 2025 में बिहार में BJP सरकार बनाइए, इन दंगा करने वालों को उलटा लटकाकर सीधा करने का काम BJP करेगी।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को सासाराम और बिहार शरीफ में हुई हिंसा को लेकर हाई-लेवल बैठक की। उन्होंने पुलिस फोर्स को अलर्ट पर रहने को कहा और मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपये मुआवजा देने को कहा। वहीं, बिहार के डीजीपी आर. एस. भट्टी ने बताया कि हिंसा मामले में अभी तक 109 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। हम हिंसा करने वालों की पहचान कर रहे हैं, किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा।

पश्चिम बंगाल के हुगली में रविवार शाम BJP की शोभा यात्रा के दौरान फिर हिंसा भड़क गई। बीजेपी नेता दिलीप घोष ने कहा कि महिलाओं और बच्चों पर पथराव हुआ लेकिन सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। वहीं, TMC ने कहा कि बीजेपी नियमित रूप से अशांति फैला रही है। वहीं, झारखंड के साहिबगंज जिले में मूर्ति विसर्जन के दौरान पथराव की घटना में एक पुलिस अधिकारी समेत 6 लोग घायल हो गए, फोर्स तैनात है।

सूरत की एक अदालत की तरफ से दो साल की सजा सुनाए जाने के खिलाफ कांग्रेस नेता राहुल गांधी सोमवार को अपील दाखिल करेंगे। उनके वकील किरीट पानवाला ने कहा, ‘राहुल गांधी दोपहर बाद करीब तीन बजे अपील दाखिल करने के लिए सूरत में सेशन कोर्ट पहुंचेंगे।कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता भी सूरत में मौजूद रहेंगे। 2019 केमोदी सरनेमवाले बयान को लेकर अदालत ने राहुल को दो साल की सजा सुनाई थी।

राहुल के कोर्ट जाने की खबरों के बीच BJP ने कहा कि कांग्रेस ने आखिरकार न्यायपालिका में अपना विश्वास दिखाया है। उसे OBC समुदाय से भी माफी मांग लेनी चाहिए। BJP प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, ‘सोचने वाली बात है कि कांग्रेस ने अपने टॉप नेता के लिए कोर्ट का रुख करने में इतने दिन का वक्त क्यों लिया जबकि दूसरे मामलों में कुछ ही घंटों के भीतर ऐसा किया था।

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने रविवार को कहा कि अगर वह पार्टी लीडरशिप में होते तो 2024 के लोकसभा चुनाव में BJP को हराने के लिए छोटी पार्टियों को आगे करते। उन्होंने विपक्षी एकता की हालिया लहर का भी स्वागत भी किया। राहुल गांधी के मामले पर जर्मनी के बयान और दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर थरूर ने कहा कि मैं उन्हें ऐसा करने की सलाह देता। हम अपनी समस्याओं को सुलझाने में पूरी तरह सक्षम हैं।

कर्नाटक के साठनुर में मवेशियों को गैरकानूनी तरीके से ले जाने के आरोप में एक शख्स की कथित रूप से पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। उसके दो साथियों पर भी हमला किया गया। हत्या का आरोप गो-रक्षकों पर लगा है। मृतक की पहचान इदरीस पाशा के रूप में हुई है। घटना शुक्रवार की है, जब वह तीनों मवेशियों को ले जा रहे थे।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन सोमवार को दिल्ली में एक सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे, जिसमें कई विपक्षी दलों को बुलाया गया है। इस दौरान सामाजिक न्याय पर चर्चा होगी। DMK सूत्रों ने कहा कि सम्मेलन में लगभग 20 दलों के नेताओं के शामिल होने की उम्मीद है। सम्मेलन में राष्ट्रीय स्तर पर जातिगत जनगणना को आगे बढ़ाने और मांग करने की संभावना है जो विपक्ष और सत्ता पक्ष के बीच विवाद का कारण है।

मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में कूनो नैशनल पार्क के पास एक गांव से सटे खेत में रविवार सुबह एक चीता घुस गया। श्योपुर के वन मंडल अधिकारी प्रकाश कुमार वर्मा ने बताया, ‘नामीबिया से लाए गए चीतों में से ओबान नाम का एक चीता कूनो नैशनल पार्क से करीब 15 से 20 किलोमीटर दूर झाड़ बड़ौदा गांव की तरफ चला गया है, लेकिन वह गांव में नहीं घुसा है। हमारा निगरानी दल चीते के साथ है, जो उसे वापस जंगल की तरफ भेजने की कोशिश कर रहा है।

उत्तराखंड में मसूरी-देहरादून रोड पर बस के खाई में गिरने से एक महिला और उसकी बेटी की मौत हो गई। जबकि 38 घायल हो गए हैं। बस में कुल 40 यात्री थे, इनमें 5 बच्चे हैं। ITBP के जवानों ने घायलों को बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि स्पीड में ड्राइविंग दुर्घटना का कारण बनी और मोड़ पर ड्राइवर बस को काबू नहीं कर सका।

दिल्ली के द्वारका में वकील वीरेंद्र कुमार नरवाल की गोली मारकर हत्या किए जाने के विरोध में सोमवार को दिल्ली की सभी जिला अदालतों के वकील हड़ताल पर रहेंगे। ऑल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट की कॉर्डिनेशन कमिटी के चेयरमैन विनोद शर्मा का कहना है कि यह सिर्फ एक वकील पर हमला नहीं है, बल्कि पूरी कम्युनिटी पर हमला है। वहीं केस में पुलिस ने कहा कि आरोपियों की पहचान हो चुकी है। पुलिस की तीन टीमें हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली में कई जगहों पर दबिश दे रही हैं। पुलिस को शक है कि हत्या में उनके दूर के रिश्तेदारों का हाथ हो सकता है।

महाराष्ट्र की एक अदालत ने केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को उद्धव ठाकरे पर दिए बयान के केस में बरी कर दिया। कोर्ट ने कहा कि राणे बयान के परिणाम को जानते थे। लेकिन उन्होंने जो टिप्पणी की है वह कानून के तहत शत्रुता को बढ़ावा देने के वाली नहीं है, क्योंकि उन्होंने किसी समुदाय को निशाना नहीं बनाया।

असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने रविवार को दिल्ली के अपने समकक्ष अरविंद केजरीवाल की गुवाहाटी में एक रैली के दौरान उनकी टिप्पणियों को लेकर आलोचना की। उन्होंने आम आदमी पार्टी (आप) प्रमुख कोडरपोकबताते हुए कहा कि उनकीवीरताविधानसभा के भीतर तक ही सीमित है। शर्मा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘उन्होंने दिल्ली विधानसभा में मेरे खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे, लेकिन मैं उन पर कार्रवाई नहीं कर सकता क्योंकि उन्हें नियमों के तहत संरक्षण प्राप्त है। मैंने उन्हें सदन के बाहर वही आरोप दोहराने की चुनौती दी थी और फिर मैं उन्हें अदालत में देखूंगा।उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन यहां कुछ भी कहने की उनकी (केजरीवाल) हिम्मत नहीं हुई। उन्होंने बहुतअनाप-शनापबोला, लेकिन मेरे खिलाफ आरोपों पर कुछ नहीं कहा।असम के मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को चेतावनी दी थी कि यदि केजरीवाल ने विधानसभा के बाहर उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाये तो वहआप प्रमुख के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे। शर्मा ने कहा, ‘‘केजरीवाल की वीरता विधानसभा के भीतर ही सीमित है क्योंकि उन्हें वहां विशेषाधिकार प्राप्त हैं।’’

झारखंड के हजारीबाग जिले में रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान तेज आवाज में संगीत बजाए जाने से रोकने को लेकर कथित तौर पर लोगों ने पुलिस पर ही हमला बोल दिया, जिससे तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस ने मामले में प्राथमिकी दर्ज कर हमलावरों की तलाश तेज कर दी है। हजारीबाग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनोज रतन चौथे ने बताया कि जिला प्रशासन ने रामनवमी समारोह के दौरान तेज संगीत बजाने पर प्रतिबंध लगा दिया था। उन्होंने बताया कि रोक के बावजूद शनिवार को एक शोभायात्रा तेज आवाज में संगीत बजाते हुए वीर कुंवर सिंह चौक पहुंची तो पुलिस ने उसे रोक दिया और संगीत बंद करने को कहा। अधिकारी ने बताया कि इस पर शोभायात्रा में शामिल लोगों ने पुलिस पर पत्थरों एवं लाठी डंडों से हमला कर दिया, जिसमें तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पिछले 24 घंटों के दौरान, असम और तटीय ओडिशा में हल्की से मध्यम बारिश हुईपूर्वोत्तर भारत, तटीय तमिलनाडु, हरियाणा के कुछ हिस्सों, पंजाब, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में हल्की से मध्यम बारिश हुई।पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में हल्की बर्फबारी हुई।राजस्थान, केरल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, तटीय आंध्र प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश में हल्की बारिश हुई।अगले 24 घंटों के दौरान, सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड में हल्की से मध्यम बारिश और कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है।सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों में छिटपुट बर्फबारी संभव है।शेष पूर्वोत्तर भारत, केरल और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।तटीय आंध्र प्रदेश, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, रायलसीमा, तटीय ओडिशा, पश्चिमी हिमालय और पंजाब के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश संभव है।पश्चिमी हिमालय पर 3 और 4 अप्रैल को बारिश की गतिविधियां बढ़ सकती हैं।3 अप्रैल को पंजाब और हरियाणा के उत्तर-पश्चिमी राजस्थान भागों में छिटपुट हल्की से मध्यम बारिश के साथ छिटपुट ओलावृष्टि हो सकती है।3 अप्रैल को पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।अगले 2 से 3 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत में तापमान में धीरे-धीरे वृद्धि होगी।



Fans, supporters throng Patiala jail to welcome soon-to-be released Navjot Sidhu

Communal violence on table for BJP with 2024 polls approaching, alleges Sibal

India exported military hardware worth Rs 15,920 crore in 2022-23: Rajnath

PM Modi arrives in Bhopal to attend Combined Commanders' Conference and flag off Vande Bharat train

India adds 2,994 Covid cases

Situation in Howrah's Kazipara area peaceful, prohibitory order still in force

Smriti Irani accuses West Bengal CM of protecting those who pelted Hindu procession with stones

Kanjhawala hit-and-drag case: Delhi Police files chargesheet

Shah cancels tour of riot-hit Sasaram: Bihar BJP chief

Man detained from Pune for giving death threat to Sanjay Raut

Amritpal's close aide Papalpreet seen in CCTV footage of 'dera' in Hoshiarpur

Swede held for molesting crew member onboard Bangkok-Mumbai flight

Delhi Airport: Full emergency declared after cargo plane suffers bird hit

PM Modi flags off Bhopal-Delhi Vande Bharat Express train

Large parts of India to see above-normal temperatures, more heatwave days from Apr to Jun: IMD

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पैतृक संपत्ति में बहन को भाई के बराबर अधिकार

महिला साथी की हत्या शव के 35 टुकड़े

डिंपल यादव v/s रघुराज शाक्य- मैनपुरी लोकसभा