ऋषि सुनक, 10 डाउनिंग स्ट्रीट

 

ओडिशा: 22 जुलाई से शुरू होगा विधानसभा सत्र, 25 जुलाई को पेश होगा बजट

T20: भारत और जिम्बाब्वे के बीच पहला मैच आज शाम 4:30 बजे

अमेरिका: विस्कॉन्सिन राज्य की रैली में बोले जो बाइडेन- राष्ट्रपति पद की दौड़ में बना रहूंगा

चेन्नई: BSP प्रदेश अध्यक्ष की हत्या के बाद पुलिस ने 8 संदिग्धों को पकड़ा

वाराणसी: ज्ञानवापी से जुड़े मामले में कोर्ट आज करेगा सुनवाई

बिहार में आकाशीय बिजली से 11 लोगों की मौत:पटना में सुबह-सुबह तेज बारिश, 32 जिलों में अलर्ट

पंजाब: शिवसेना लीडर पर जानलेवा हमले के बाद हिंदू नेताओं में रोष, आज बंद का ऐलान

हाथरस भगदड़ के मुख्य आरोपी देव प्रकाश मधुकर को आज हाथरस कोर्ट में किया जाएगा पेश

हाथरस भगदड़ के मुख्य आरोपी देव प्रकाश मधुकर को हाथरस कोर्ट में पेश किया जाएगा

हाथरस कांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी देव प्रकाश मधुकर हुआ गिरफ्तार

लुधियाना मामले में पंजाब पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, हमलावरों को फतेहगढ़ साहिब से किया गिरफ्तार

दिल्ली बीजेपी ने आगामी 2025 विधानसभा चुनाव के लिए पोस्टर लॉन्च किया

NEET एग्जाम केस: पटना और गोधरा के केंद्रों पर हुई गड़बड़ी- NTA ने माना

लुधियाना में हिंदू शिवसेना नेता पर हमले को लेकर हिंदू संगठनों ने कल बंद का आह्वान किया

CM एकनाथ शिंदे ने विश्व कप जीतने पर भारतीय टी20 टीम को 11 करोड़ रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की

उत्तराखंड में 6 और 7 जुलाई को भारी बारिश का रेड अलर्ट

राहुल गांधी ने आज नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर लोको पायलटों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं सुनीं

बिहार में गिरते पुल पर सरकार का बड़ा एक्शन, 11 इंजीनियर्स सस्पेंड

ब्रिटेन: ऋषि सुनक पीएम पद से इस्तीफा

NEET PG एग्जाम की नई तारीख का ऐलान, 11 अगस्त को होगी परीक्षा

ED ने DJB भ्रष्टाचार मामले में दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई और हैदराबाद में की छापेमारी

नोएडा के LOGIX मॉल में लगी आग, मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड

हाथरस भगदड़ में हुई मौतों पर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई जनहित याचिका

केजरीवाल की जमानत याचिका पर अब 17 जुलाई को होगी सुनवाई, CBI को SC का नोटिस

हाथरस हादसा: SIT ने शुरुआती जांच रिपोर्ट सौंपी, DM-SSP समेत 100 लोगों के बयान दर्ज हुए

कांग्रेस में शामिल होने वाले BRS सांसद के. केशव राव ने राज्यसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा.

राजस्थान में मानसून की सक्रियता के चलते शुक्रवार को भी कई हिस्सों में बारिश का दौर जारी रहा. बीकानेर में बारिश से जुड़े हादसे में एक बच्ची सहित तीन लोगों की मौत हो गई जबकि टोंक में नाला पार करते समय पानी के बहाव में फंसे तीन युवकों को सुरक्षित निकाल लिया गया है.

हाथरस कांड मामले को लेकर वकील एपी सिंह ने दावा किया है कि सेवादार देव प्रकाश मधुकर ने सरेंडर कर दिया है. सत्संग में भगदड़ की घटना के बाद से ही पुलिस देव प्रकाश मधुकर की तलाश में जुटी थी. पुलिस की ओर से एक लाख का ईनाम भी घोषित किया गया था.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के तमिलनाडु अध्यक्ष आर्मस्ट्रांग की चेन्नई के पेरम्बूर स्थित उनके आवास के पास हत्या कर दी गई. घटना को 6 लोगों ने मिलकर अंजाम दिया है. पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है. वहीं, बीएसपी और आर्मस्ट्रांग के समर्थक आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हैं.

राजस्थान के बीकानेर में निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार ढ़हने से तीन लोगों की मौत हो गई है. घटना बीछवाल थाना क्षेत्र के शोभासर रोड़ की है. मृतकों में एक महिला, एक पुरुष और एक बच्ची शामिल है. तीनों ही मध्य प्रदेश के बताए जा रहे हैं जो कि फैक्ट्री में ही काम करते थे.

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि हम जितने दिन भी मुख्यमंत्री थे हमने लोगों के लिए कार्य करने की कोशिश की, कम समय में हमने सभी वर्ग, समुदाय, जाति के हित में कार्य करने की कोशिश की. हमारा गठबंधन मजबूत है, चुनाव के लिए हम लोग पूरी तरह तैयार हैं.

असम के काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में शुक्रवार तक कुल 77 जंगली जानवरों की डूबने या इलाज के दौरान मौत हो गई जबकि 94 अन्य जानवरों को बचा लिया गया. अधिकारी ने बताया कि गुरुवार तक 31 जानवरों की मौत हुई थी. उन्होंने बताया कि बाढ़ से जान गंवाने वाले जानवरों में तीन गैंडे, 62 हॉग डियर और एक ऊदबिलाव शामिल है.

बंबई हाई कोर्ट ने महानगर पुलिस की आर्थिक आपराध शाखा की ओर से 2015 में दर्ज धोखाधड़ी के एक मामले में कथित ठग सुकेश चंद्रशेखर को जमानत दे दी. हाई कोर्ट से जमान मिलने के बाद भी तिहाड़ जेल में बंद चंद्रशेखर की रिहाई नहीं हो सकेगी क्योंकि वह कई मामलों में आरोपी है.

कर्नाटक हाई कोर्ट ने शुक्रवार को विशेष जांच दल (एसआईटी) को निर्देश दिया कि वह जनता दल सेक्युलर (जद-एस) के पूर्व सांसद प्रज्वल रेवन्ना की ओर से दाखिल जमानत अर्जी पर अपनी आपत्ति दर्ज कराए. रेवन्ना पर कई महिलाओं के यौन उत्पीड़न करने का आरोप है और पूरे प्रकरण की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है.

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के ऑटोमोबाइल सर्विस सेंटर में आग लग गई है. घटना की जानकारी मिलने के बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच रही है. आग कैसे लगी है इसकी जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है.

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात के पूर्व गृह मंत्री हरेन पंड्या की हत्या के मामले में एक दोषी की याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया है, जिसमें राज्य सरकार को उसकी सजा माफी की याचिका पर निर्णय लेने का निर्देश देने की मांग की गई थी. जस्टिस जेबी पारदीवाला और जस्टिस उज्जवल भुइयां की बेंच ने इस तथ्य पर गौर किया कि उनकी याचिका 3 सितंबर, 2024 को गुजरात हाईकोर्ट के समक्ष सुनवाई के लिए रही है और उन्हें पहले ही पैरोल पर रिहा किया जा चुका है.

बिहार में पुल गिरने के मामले में सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है. इस मामले में कुल 15 अभियंताओं (इंजीनियर) को निलंबित किया गया है. वहीं, दो इंजीनियर से स्पष्टीकरण मांगा गया है. जिन अभियंताओं को सस्पेंड किया गया है उसमें ग्रामीण कार्य विभाग के 4 और जल संसाधन विभाग के 11 इंजीनियर्स शामिल हैं. 2 कार्यपालक अभियंता, 4 सहायक अभियंता, 2 कनीय अभियंता समेत 15 इंजीनियरों को सस्पेंड किया गया है. वहीं मातेश्वरी कंस्ट्रक्शन कंपनी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया है.

केंद्र के बाद, NTA ने भी NEET-UG परीक्षा रद्द करने की मांग के विरोध में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया है. एनटीए का कहना है कि कथित पेपर लीक केवल पटना और गोधरा केंद्रों में हुए थे और व्यक्तिगत उदाहरणों के आधार पर पूरी परीक्षा रद्द नहीं की जानी चाहिए.

हाथरस में भगदड़ मामले की जांच कर रही उत्तर प्रदेश सरकार की एसआईटी ने अब तक 90 बयान दर्ज किए हैं. एसआईटी के प्रमुख अनुपम कुलश्रेष्ठ ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (आगरा जोन) कुलश्रेष्ठ तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) का नेतृत्व कर रहे हैं, जो दो जुलाई को यहां सत्संग के बाद मची भगदड़ में 121 लोगों की मौत से संबंधित मामले पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर रहा है.

उत्तर प्रदेश में सिद्धार्थनगर में भारी बरसात के संभावना को देखते हुए कक्षा 1 से 8 तक के सभी स्कूल 6 जुलाई तक रहेंगे बंद रहेंगे. इस संबध में जिलाधिकारी डॉ राजा गणपति आर ने आदेश भी जारी कर दिया है.

बीजेपी ने राज्यों के प्रभारी और सहप्रभारियों की सूची जारी की है. बिहार में विनोद तावड़े को प्रभारी और दीपक प्रकाश को सहप्रभारी बनाया गया है. इसी तरह से मध्य प्रदेश में महेंद्र सिंह को प्रभारी और सतीश उपाध्याय को सहप्रभारी बनाया गया है.

आगरा के एयरफोर्स कैंपस में एक अग्निवीर की मौत हो गई थी. अग्निवीर का नाम श्रीकांत चौधरी है. घटना को लेकर अब कोर्ट ऑफ इक्वायरी का आदेश दिया गया है. बलिया के रहने वाले श्रीकांत दो साल पहले अग्निवीर में भर्ती हुए थे. 6 महीने पहले आगरा स्थित एयरफोर्स स्टेशन में पोस्टिंग हुई थी. शव को पैतृक गांव पहुंचा दिया गया है.

पीएम मोदी की आगामी रूस यात्रा के बारे में विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री 8-9 जुलाई को 22वें वार्षिक शिखर सम्मेलन के लिए रूसी संघ के राष्ट्रपति के निमंत्रण पर मास्को की आधिकारिक यात्रा करेंगे. अभी तक, प्रधानमंत्री का 8 जुलाई की दोपहर को मास्को पहुंचने का कार्यक्रम है. राष्ट्रपति पुतिन आगमन के दिन प्रधानमंत्री के लिए एक निजी रात्रिभोज का आयोजन करेंगे.

पीएम मोदी ने यूके के प्रधानमंत्री कीर स्टार्मर की भव्य जीत पर उनको बधाई दी. लेबर पार्टी के नेता कीर स्टार्मर ने 412 सीटों के साथ बंपर जीत हासिल की. पीएम मोदी ने साथ ही उम्मीद जताई कि आगे भी भारत के साथ यूके के बेहतर रिश्ते रहेंगे

ऋषि सुनक: 'प्राउड हिंदू', भारत कनेक्शन, ब्रिटेन की सत्ता पाने और गँवाने की कहानी. ऋषि सुनक का एक भारतीय कनेक्शन ये भी है कि वो इंफोसिस कंपनी के संस्थापक नारायण मूर्ति और सुधा मूर्ति की बेटी अक्षता के पति भी हैं. ऋषि ने अक्षता मूर्ति से 2009 में बेंगलुरु में शादी की थी.ऋषि सुनक ख़ुद को प्राउड हिंदू बताते रहे हैं. साल 2022 ऋषि सुनक के लिए बेहद ख़ास था. इसी साल ऋषि सुनक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने थे. वे पहले ब्रिटिश एशियाई और पहले हिंदू हैं जो ब्रिटेन में लोकतांत्रिक सत्ता के शिखर तक पहुंचे.भारतीय मूल के ऋषि सुनक की पृष्ठभूमि और अतीत बेहद दिलचस्प है.ये जानना दिलचस्प है कि ऋषि सुनक किस तरह वर्ग, नस्ल, औपनिवेशिकता और ख़ुद ब्रिटिश साम्राज्य के ढांचे से गुज़रते हुए 10 डाउनिंग स्ट्रीट पहुंचे.उषा सुनक और यशवीर सुनक के घर साउथैम्पटन में ऋषि सुनक का जन्म वर्ष 1980 में हुआ. उनके माता-पिता, पूर्वी अफ़्रीका के ब्रिटिश उपनिवेशों से ब्रिटेन पहुंचे थे. ऋषि की मां का जन्म तंगनयिका में हुआ था जो बाद में आधुनिक तंज़ानिया का हिस्सा बन गया था.उनके पिता यशवीर का जन्म ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा रहे प्रोटेक्टरेट ऑफ़ कीनिया में हुआ था.सुनक के दादाजी का जन्म ब्रिटिश शासन वाले पंजाब में हुआ था. वहां से 1930 के दशक में वो पूर्वी अफ़्रीका चले गए और वहीं बस गए.लेकिन जैसे-जैसे अफ़्रीकी देश ब्रिटिश शासन से आज़ाद होने लगे, भारतीय समुदाय के लोग ब्रिटेन पहुंचने लगे. ऋषि सुनक की एक बायोग्राफ़ी में बताया गया है कि साल 1960 में उनकी नानी सरक्षा ने ब्रिटेन आने के लिए अपनी शादी के गहने बेच दिए थे. इसके बाद उनके नाना-नानी दोनों ब्रिटेन गए थे. सुनक के दादाजी तंगनयिका में टैक्स अधिकारी थे और ब्रिटेन आने के बाद उन्हें राजस्व विभाग में नौकरी मिल गई थी. सुनक के माता-पिता मेडिकल के पेशे में थे. पिता नेशनल हेल्थ सर्विस में फ़ैमिली डॉक्टर थे और मां फ़ार्मेसी चलाने लगी थीं. जैसे-जैसे ब्रिटेन में भारतीय समुदाय तरक़्क़ी करने लगा, वैसे-वैसे दूसरे एशियाई समुदायों से यह अलग दिखने लगा. भारतीय समुदाय ब्रिटिश समाज से ज़्यादा घुला-मिला था.ब्रिटेन में 'डायरेक्ट फ़्लाइट माइग्रेंट' भी आए. लेकिन वे सुनक के पूर्वजों की तरह उपनिवेश के रास्ते नहीं आए. ये लोग 1947 में भारत विभाजन के साथ सीधे यहां आए थे.इनमें से ज़्यादातर ग्रामीण समुदाय के थे और इनमें हिंदुओं की तुलना में मुस्लिमों की संख्या ज़्यादा थी. उनके पास अच्छी नौकरी के लायक और कौशल नहीं था. ना ही वह अंग्रेज़ी जानते थे.ब्रिटिश अख़बार ' गार्डियन' के मुताबिक़, ब्रिटेन में हिंदू आप्रवासी होना अच्छी बात है क्योंकि दो तिहाई हिंदू यहां प्रबंधकीय पदों या ऊंचे प्रोफे़शनल पदों पर हैं.सुनक की नियुक्ति कोविड महामारी की शुरुआत के साथ हुई. उन्होंने नौकरी से निकाले गए लोगों की सहायता के लिए- ईट आउट टू हेल्प आउट योजना की शुरुआत की. लेकिन कोविड के बढ़ते मामलों की वजह से उन्हें आलोचना का सामना करना पड़ा था.फिर प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का नाम पार्टीगेट स्कैंडल में सामने आया और इससे उनकी छवि को धक्का लगा.जुलाई 2022 में जब कंज़र्वेटिव पार्टी में इस्तीफों की झड़ी लग गई थी, तो उस समय प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के बाद सुनक ने भी अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.बोरिस जॉनसन की जगह लिज़ ट्रस ब्रिटेन की प्रधानमंत्री बनीं, लेकिन 45 दिन में ही उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया था. फिर कंज़र्वेटिव पार्टी ने सुनक को पीएम बनाया और चुनाव के लिए उन्हें ही अपना उम्मीदवार घोषित किया.महंगाई कम करने, अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने और छोटी नौकाओं के ज़रिए प्रवासियों को ब्रिटेन आने से रोकना उनके कुछ मुख्य चुनावी वादे थे.सुनक ने कंज़र्वेटिव पार्टी की कमान ऐसे समय संभाली थी, जब पार्टी बिखराव के दौर से गुज़र रही थी, जिसे संभालने में उन्हें कुछ हद सफलता मिली.पिछले साल अगस्त में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के तौर पर ऋषि सुनक का एक बयान काफ़ी सुर्ख़ियों में रहा था.कथावाचक मोरारी बापू ब्रिटेन की कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में आयोजित कार्यक्रम में कथा सुना रहे थे.इस कार्यक्रम में ऋषि सुनक भी शरीक हुए थे. ऋषि सुनक ने मोरारी बापू की आरती की और मंच से अपनी बातें भी साझा कीं थीं.सुनक ने अपनी बात जय सिया राम नारे से शुरू करते हुए कहा था, ''भारत के स्वतंत्रता दिवस पर मोरारी बापू की कथा में आकर अच्छा लग रहा है.''ऋषि सुनक ने आगे कहा था, ''मैं यहां प्रधानमंत्री की तरह नहीं, हिंदू की तरह आया हूं. मेरे लिए आस्था बेहद निजी है. ज़िंदगी के हर पहलू में ये मुझे दिशा दिखाता है. प्रधानमंत्री होना सम्मान की बात है, लेकिन ये इतना आसान काम नहीं है. कड़े फ़ैसले लेने होते हैं. मुश्किल हालात का सामना करना होता है. ऐसे में हमारी आस्था हमें साहस और ताकत देती है ताकि देश के लिए अच्छे फ़ैसले लिए जा सकें.''तब ऋषि सुनक ने कहा था, ''मेरे लिए बेहद ख़ास और कमाल का पल रहता है जब चांसलर रहते हुए 11 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर दिवाली पर दीया जलाया था. जैसे बापू के पीछे हनुमान हैं. मुझे गर्व है कि प्रधानमंत्री कार्यालय की मेरी मेज़ पर भी गणेश जी हैं. हिंदू धर्म को लेकर ऋषि सुनक पहले भी बोलते रहे हैं. वो ब्रिटेन के पहले हिंदू प्रधानमंत्री हैं.ऋषि सुनक के हिंदू धर्म से होने पर भारत में अकसर सोशल मीडिया पर चर्चा देखी जाती रही है.साल 2020 में जब ऋषि ने वित्त मंत्री पद की शपथ ली थी, तब उन्होंने गीता पर हाथ रखकर शपथ ली थी. ऐसे वीडियोज़ भी हैं, जिनमें ऋषि सुनक गाय की पूजा करते देखे जा सकते हैं. 2020 में दिवाली पर अपने घर के बाहर दीया जलाते हुए भी ऋषि सुनक को एक वीडियो में देखा जा सकता है.

वैदिक सोसाइटी टेम्पल साउथैंप्टन में हिन्दू समुदाय का एक विशाल मंदिर है जिसके संस्थापकों में ऋषि सुनक के परिवार के लोग भी शामिल हैं.ऋषि का बचपन इसी मंदिर के इर्द-गिर्द गुज़रा जहाँ उन्होंने हिन्दू धर्म की शिक्षा हासिल की.75 वर्षीय नरेश सोनचाटला, ऋषि सुनक को बचपन से जानते हैं. वो कहते हैं, "ऋषि सुनक जब छोटा बच्चा था तब से मंदिर आया करता था, उनके माता-पिता और दादा-दादी के साथ".तब कंन्जर्वेटिव पार्टी की काफ़ी तारीफ़ हुई थी कि उसने किसी ग़ैर-गोरे और धार्मिक रूप से अल्पसंख्यक को देश के शीर्ष पद के लिए मौक़ा दिया.तब गार्डियन ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था, ''ऋषि सुनक धर्मपरायण हिन्दू हैं. हालाँकि वह विरले ही सार्वजनिक रूप से अपने मज़हब को लेकर बात करते हैं. ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री के रूप में ऋषि के नाम की घोषणा दिवाली के दिन हुई. प्रकाश का यह त्योहार दुनिया भर के करोड़ों हिन्दू, सिख और जैन मनाते हैं.सुनक ने 2015 में बिज़नेस स्टैंडर्ड को दिए इंटरव्यू में कहा था, ''ब्रिटिश भारतीय जनगणना में एक कैटिगरी पर निशान लगाते हैं. मैं तो पूरी तरह से ब्रिटिश हूँ. यह मेरा घर और देश है. लेकिन मेरी धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत भारतीय है. मेरी पत्नी भारतीय है. मैं हिन्दू हूँ और इसमें कोई छुपाने वाली बात नहीं है.''नतीजों के बाद ऋषि सुनक ने और समर्थकों से माफ़ी मांगी थी और कहा कि इस नतीजे से सीख लेने की ज़रूरत है.उन्होंने कहा, “आज रात की इस मुश्किल घड़ी में मैं रिचमंड और नॉर्थहेलर्टन संसदीय क्षेत्र के लोगों के प्रति शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने हमें नियमित रूप से समर्थन दिया. मैं दस साल पहले जब यहां आकर बसा था, तभी से आप लोगों ने मुझे और मेरे परिवार को बेशुमार प्यार दिया और हमें यहीं का होने का अहसास कराया. मैं आगे भी आपके सांसद के रूप में सेवा करने को लेकर उत्साहित हूं.वो बोले, ''ये मेरे लिए सौभाग्य की बात है. मैं अपने एजेंट और टीम को भी शुक्रिया कहता हूं, और मैं अपने विरोधियों को ऊर्जा से भरा और सकारात्मक चुनावी अभियान चलाने पर मुबारकबाद भी देता हूं.मैंने किएर स्टार्मर को फोन कर उन्हें इस जीत की मुबारकबाद भी दी. आज, शांतिपूर्ण तरीक़े से सत्ता का हस्तांतरण होगा. सभी पक्षों में सद्भाव दिखा. इन सभी चीज़ों की वजह से हम सभी को अपने देश की स्थिरता और भविष्य को लेकर आश्वस्त होना चाहिए. ब्रिटिश जनता ने आज रात अपना स्पष्ट फ़ैसला सुना दिया है. काफ़ी कुछ सीखने और देखने के लिए है और मैं इस हार की पूरी ज़िम्मेदारी लेता हूं. जो अच्छे और मेहनती कंज़र्वेटिव उम्मीदवार तमाम कोशिशों और स्थानीय स्तर पर काम करने और अपने समुदायों को लेकर प्रतिबद्धता के बावजूद हार गए हैं, उनसे मैं माफ़ी मांगता हूं.

इंग्लैंड की राजनीति में भारत की धमक, 26 भारतवंशी बने सांसद; देखें पूरी लिस्ट

लेबर पार्टी की 14 साल बाद सत्ता में वापसी, भारत-ब्रिटेन FTA का क्या होगा भविष्य

अरुणाचल प्रदेश में मिली सींग वाले मेंढक की नई प्रजाति

अरुणाचल प्रदेश में मिली सींग वाले मेंढक की नई प्रजाति

UK PM: उत्तरी लंदन के किंग्सबरी में श्री स्वामीनारायण मंदिर की यात्रा के दौरान, उन्होंने ब्रिटिश हिंदुओं के लिए संदेश में कहा था कि 'ब्रिटेन में हिंदुओं के प्रति नफरत के लिए बिल्कुल कोई जगह नहीं है'

कमला हैरिस पर अनाप-शनाप बोला, बाइडेन को भी नहीं छोड़ा; डोनाल्ड ट्रंप का प्राइवेट वीडियो लीक

https://www.pagpagmedia.page/2024/07/10.html

28 वीं, यू0पी0 सीनियर स्टेट कैरम  चैम्पियनशिप कानपुर  में 6 से 9 जुलाई तक *

वाराणसी की  पुरुष  एवम महिला टीम का अभ्यास मैच 25 जुलाई  से *वराणसी, 19 जुलाई  । उत्तर प्रदेश सीनियर राज्य कैरम चैंपियनशिप का आयोजन आगामी 6 से 9 जुलाई तक * कानपुर शहर के बारात साला शीशा मऊ चौराहा*  के पास किया गया है । जिसमें वाराणसी सहित मेजबान कानपुर और उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन  से सम्बध्द  इकाईयों की लगभग 42 जिलों की टीम हिस्सा लेंने की सम्भावना है  *उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन  के नेतृत्व में आयोजित होने वाली इस *  28वीं सीनियर राज्य कैरम चैंपियनशिप 2024=25 *   की मेजवानी का  दायित्व *कानपुर कैरम एसोसिएशन  *निभायेगा  ।

   उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन केअध्यक्ष  श्री बैजनाथ सिंह  के अनुसार * चैंपियनशिप  की आयोजन समिति के सचिव उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन  के कार्यसमिति सदस्य और कानपुर कैरम एसोसिएशन  के कोषाध्यक्ष श्री इमरान खान होंगे ,  जबकि चैंपियनशिप के डायरेक्टर  उत्तर प्रदेश  कैरम एसोसिएशन के सचिव श्री जहीर अहमद होंगे और चैंपियनशिप कमेटी  के चेयरमैन उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन के अध्यक्ष बैजनाथ सिंह होंगे।*

 * चैंपियनशिप की टेक्निकल कमेटी के अध्यक्ष इंटरनेशनल अंपायर श्री  एन0के0जयसवाल होंगे ,जब कि चैंपियनशिप के  चीफ रेफरी का दायित्व उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और सीनियर नेशनल अंपायर सरदार रणवीर सिंह निभाएंगे और उनका सहयोग सहायक प्रधान निर्णायक के रूप में उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष और इंटरनेशनल अंपायर श्री रमेश वर्मा और दूसरे सहायक प्रधान निर्णायक का दायित्व उत्तर प्रदेश कैरम एसोसिएशन के संयुक्त सचिव और नेशनल अंपायर तथा जाने वाले खिलाड़ी श्री अशोक सिंह निभाएंगे *।  इस चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए वाराणसी कैरम एसोसिएशन की भी पांच सदस्य पुरुष टीम और 12 सदस्य महिला टीम भी कानपुर जायेगी। वाराणसी टीम का अभ्यास मैच 25 जुलाई से 4 जुलाई तक इंग्लिशियालाइन में प्रत्येक दिन शाम 6:00 बजे से रात 9:00 बजे तक  खेला जायेगा  जिसके माध्यम से खिलाड़ियो को स्पर्धात्मक  अभ्यास का भरपूर मौका मिलेगा । सभी शिर्षस्थ  संबंधित खिलाड़ी सूचना के आधार पर इस  *अभ्यास सत्र के संयोजक श्री अश्विनी चक्रवाल और रमेश वर्मा जी से संपर्क कर सकते हैं ।*

पिछले 24 घंटों के दौरान, गोवा और तटीय कर्नाटक में मध्यम से भारी बारिश हुई।पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पूर्वोत्तर भारत, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ के कुछ हिस्सों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई।कोंकण और गोवा, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, केरल और मध्य महाराष्ट्र में मध्यम से मध्यम बारिश हुई।लक्षद्वीप, आंतरिक कर्नाटक, मराठवाड़ा, तमिलनाडु, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में हल्की बारिश हुई।अगले 24 घंटों के दौरान, उत्तरी पंजाब, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, बिहार, उप-हिमालय पश्चिम बंगाल, पश्चिमी असम और सिक्किम में मध्यम से भारी बारिश संभव है।पूर्वोत्तर भारत, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, पूर्वी गुजरात, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, तटीय कर्नाटक, कोंकण और गोवा और तटीय आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।हरियाणा, विदर्भ, ओडिशा, छत्तीसगढ़, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, केरल और दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।दिल्ली, लद्दाख, रायलसीमा, मराठवाड़ा, तेलंगाना, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु में हल्की बारिश संभव है।



NEET PG 2024 will be held in 2 shifts for better coordination, logistics: NBEMS Chief

IIT Mandi introduces MS & PhD programmes in Music and Musopathy

It is important for students to remember that the exam will be under close surveillance and any indulgence in any unfair practice shall be strictly dealt with by NBEMS as per provisions of applicable laws and guidelines.Second high-profile exit from Jio Institute: Dean Raveendra Chittoor quits within 4 months of ex-Caltech Provost’s resignation

MAH CET Counselling 2024: CAP schedule released for all courses

CTET July 2024 Admit Card (Out): Website to download.CTET 2024 Admit Card: The Central Teacher Eligibility Test 2024 will be held on July 7

IIT Madras’s research scholar Shruti Tandon gets prestigious Amelia Earhart Fellowship

WBJEE 2024: Counselling notification out at wbjeeb.nic.in. WBJEE 2024: For document verification, candidates need to physically report to the allotted institution with the necessary documents like a class 10 mark sheet and, 12 mark sheet, birth certificate and other category certificates.

BHU Placement 2024: While 36 per cent of the students were offered the executive and management trainee roles, about 21 per cent of the students secured associate, senior consultant roles followed by 13 per cent with assistant and deputy manager roles.

The construction and real estate sector in India presents promising career opportunities for freshers. With substantial investments and the integration of advanced technologies, the industry is poised for significant growth.

 IIT Madras collaborates with industry partners to offer employability focused courses on Swayam Plus

Swayam Plus, an initiative by the Ministry of Education and IIT Madras, was launched by

CTET 2024 Admit Card Updates: Candidates are required to carefully check all of their details in the issued admit card, if any error is found contact the concerned authority for correction.



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पेंशनरों की विशाल सभा

विश्व रजक महासंघ का आयोजन

जातीय गणना के आंकड़े जारी